• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Regulation of colonies on agricultural land in Jaipur was highest, 3 4 times the cities with a population of 50 thousand

राजस्थान / जयपुर में कृषि भूमि पर बसी कॉलोनियों की नियमन दरें हुईं सबसे ज्यादा, 50 हजार की आबादी वाले शहरों से 3-4 गुना

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • प्रदेश के शहरों में 1999 के बाद बसी कॉलोनियों में भूखंडों के पट्‌टे लेना होगा महंगा 
  • 31 मार्च, 2021 तक रहेंगी प्रभावी, इसके बाद हर साल अप्रैल में बढ़ेंगी

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2020, 03:21 AM IST

जयपुर. प्रदेश के शहरों में 1999 के बाद बसी कॉलोनियों में भूखंडों के पट्टे लेने महंगे होंगे, लेकिन जयपुर सिटी की नियमन दरें प्रदेश में सबसे अधिक रखी गई हंै। बाकी शहरों की करीब डेढ़ गुणी और 50 हजार तक आबादी वाले शहरों की तो तीन से चार गुना तक महंगी दरें जयपुर के लिए तय की गई हैं।

1 अप्रैल से 7.5 फीसदी बढ़ेगी दर
ये दरें 31 मार्च, 2021 तक के लिए प्रभावी रहेंगी। इसके बाद हर साल 1 अप्रैल से 7.5 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी जाएगी। कॉर्नर के आवासीय व कॉमर्शियल भूखंडों की दरों में प्रति वर्ष 10 फीसदी की बढ़ोतरी की जाएगी। न्यूनतम दरें 200 वर्गमीटर तक के भूखंडों के लिए प्रभावी रहेंगी। सरकारी कार्यालय आदि के लिए ली जाने वाली कृषि भूमि से गैर कृषि योग्य भूमि पर कोई प्रीमियम नहीं लगेगा। 

जयपुर में ये दरें प्रभावी
 200 वर्गमीटर तक नगर निगम सीमा के भीतर 260 रुपए, जेडीए क्षेत्र 140 रुपए, बाहरी क्षेत्र 110 रुपए, 200 वर्गमीटर से बड़े भूखंडों के लिए क्रमश: 350 रुपए, 210 रुपए और 160 रुपए रखी गई है।  कॉमर्शियल 200 वर्गमीटर तक के लिए निगम सीमा में 1020 रुपए, जेडीए सीमा में 680 और बाहरी क्षेत्र में 680 रुपए प्रति वर्गमीटर रखी गई है। इसी तरह 200 वर्गमीटर से बड़े भूखंडों के लिए क्रमश: 1360, 680 और 680 रुपए प्रति वर्गमीटर रखी गई है। 

जोधपुर, अजमेर, कोटा अलवर, उदयपुर बीकानेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, भिवाड़ी के लिए दरें
200 वर्गमीटर तक के लिए नगर निगम- परिषद सीमा के भीतर 180 रुपए, सीमा से बाहर 140 रुपए प्रति वर्गमीटर, 200 वर्गमीटर से बड़े भूखंडों पर निगम-परिषद सीमा के भीतर 260 रुपए और सीमा से बाहर 210 रुपए प्रति वर्गमीटर, 200 वर्गमीटर तक के कॉमर्शियल भूखंड के लिए क्रमश: 680 और 610 रुपए प्रति वर्गमीटर दरें रहेंगी। 200 वर्गमीटर से बड़े पर निगम-परिषद सीमा में 1020 रुपए और बाहर 680 रुपए प्रति वर्गमीटर रहेंगी। 

जेएलएन रोड, पीआरएन और लालकोठी शामिल नहीं 
नई नियमन दरें 17 जून 1999 के बाद के होने के बावजूद जयपुर की लालकोठी स्कीम, जेएलएन मार्ग के दोनों और की 200 फीट चौड़ी पट्टी के भीतर बसावट, और पृथ्वीराज नगर पर लागू नहीं होगी। इनके लिए नियमन के पहले ही दरें तय है या कानूनी अड़चन के कारण इस दायरे से बाहर रखा गया है। 

50 हजार से बड़े शहरों के लिए दरें

200 वर्गमीटर तक 110 रुपए, 200 वर्गमीटर से बड़े पर 160 रुपए, 200 वर्गमीटर तक के कॉमर्शियल भूखंड पर 420 रुपए और इससे बड़े पर 610 रुपए प्रति वर्गमीटर दरें रहेंगी। 50 हजार तक आबादी के शहरों में 200 वर्गमीटर तक के भूखंडों पर 80 रुपए, इससे बड़े आवासीय पर 110 रुपए, 200 वर्गमीटर तक के कॉमर्शियल पर 280 रुपए और इससे बड़े भूखंड पर 420 रुपए प्रति वर्गमीटर नियमन दर लगेंगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना