पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jaipur News Sentenced To Life Imprisonment For Killing Wife Of Former Assistant Collector

पत्नी के हत्यारे पूर्व सहायक कलेक्टर को उम्रकैद की सजा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर | प|ी की क्रिकेट बैट से पीटकर हत्या करने के 7 साल पुराने मामले में तत्कालीन सहायक कलेक्टर रामदेव सिंह को कोर्ट ने उम्रकैद व एक लाख रु. जुर्माने की सजा सुनाई है। महानगर की एडीजे-9 कोर्ट की जज वंदना राठौड़ ने यह फैसला सुनाया। आरोपी जयपुर निवासी है। कोर्ट ने कहा कि आरोपी सीनियर आरएएस अफसर था। उसने बिना किसी उत्तेजना के प|ी वसुंधरा की हत्या की, जबकि भारतीय समाज में पति को प|ी का रक्षक माना जाता है। शेष | पेज 8



समाज के उच्च तबके के उच्च पद पर स्थापित व्यक्ति ने इस तरीके से संकीर्ण मानसिकता का परिचय देते हुए इस अपराध को अंजाम दिया।

मृतका के भाई सुभाष महला ने श्याम नगर पुलिस थाने में 28 अगस्त 2011 को रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि रेलनगर निवासी उनका जीजा रामदेव सिंह एसीएम है और उसकी बहन को शुरू से ही तंग करता रहा है। उसके अन्य महिलाओं से भी संबंध हैं। वह उनकी बहन को जान से मारने की धमकी भी देता था। घटना के एक दिन पहले वह उन्हें समझा कर भी आया था। लेकिन अगले ही दिन पता चला कि घर में वसुंधरा का खून से लथपथ शरीर पड़ा हुआ है। पुलिस की जांच में पता चला कि रामदेव सिंह ने क्रिकेट के बल्ले से वसुंधरा की हत्या की है। कोर्ट में अभियोजन ने 12 साल के घरेलू नौकर करण सहित 23 गवाहों के बयान दर्ज कराए। सबूतों व गवाहों के बयानों के आधार पर कोर्ट ने पूर्व सहायक कलेक्टर रामदेव सिंह को आजीवन कारावास व जुर्माने की सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...