सियासत के सिपहसालार / राजनीति के बदलते स्वरूप पर भास्कर की विशेष सीरीज में मुख्यमंत्री अशाेक गहलोत का लेख

अशोक गहलोत मुख्यमंत्री, राजस्थान। अशोक गहलोत मुख्यमंत्री, राजस्थान।
X
अशोक गहलोत मुख्यमंत्री, राजस्थान।अशोक गहलोत मुख्यमंत्री, राजस्थान।

  • मुख्यमंत्री ने कहा- कोरोना को भी हराएंगे, मुकाबला करके जीतना राजस्थान की पहचान
  • कहा- राजस्थान आतिथ्य, वीरता और विरासत की धरती, हमारे दिल और दरवाजे सबके लिए खुले

दैनिक भास्कर

Mar 08, 2020, 05:15 AM IST

राजस्थान आतिथ्य, वीरता और विरासत की धरती है। आतिथ्य के मामले में हमारे दिल और दरवाजे सबके लिए खुले हैं, वीरता हमारी परंपरा है, विरासत हमारी शान। आतिथ्य की परंपरा के रहते पूरी दुनिया से मेहमान हमारी धरती को देखने आते हैं। 

पिछले दिनों इटली से आए हमारे कुछ मेहमान राज्य में कोरोना वायरस की खौफनाक दस्तक भी साथ ले आए। दुनिया के कई देशों में भय फैला चुका यह जानलेवा वायरस भले ही हमारे यहां कदम रख चुका है लेकिन हमें डरने या घबराने की कतई जरूरत नहीं है। मुकाबला करके जीतना राजस्थान की पहचान है। हमारा जुझारूपन ही हमें पूरी दुनिया से अलग बनाता है। इसीलिए तो कोरोना वायरस के संदिग्ध दो रोगियों का पता चलते ही हमारा पूरा सिस्टम हरकत में आ गया और स्थिति पर नियंत्रण पा लिया गया। मैं खुद इसकी मॉनिटरिंग कर रहा हूं। आपके मुख्यमंत्री के नाते मैं आपको यकीन दिलाना चाहता हूं कि कोरोना को राजस्थान में जड़ से खत्म करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। मेरी एक अपील भी है। प्रदेश के हर नागरिक से। कृपया अफवाहों से बचें। कोरोना वायरस से ज्यादा घातक इसके बारे में चल रही अनाप-शनाप अफवाहें हैं जो हमें अपना काम सही तरीके से करने से रोक रही हैं। स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सजग है। जी-जान से अपने काम में जुटा हुआ है। समय-समय पर एडवाइजरी, सही जानकारियां, बचाव व इलाज के तरीके आप तक पहुंचाए जा रहे हैं। 
 

कोरोना बीमारी को लेकर आज दुनिया भर में खौफ का माहौल बना हुआ है। हर कोई इस बीमारी के दस्तक देने से पहले ही सहमा हुआ हैं, लेकिन लोगों को डराने नहीं, जागरूक करने की जरूरत है। फिलहाल इस बीमारी से बचने के लिए बचाव ही सबसे बेहतर उपाय है। इटली से राजस्थान घूमने आए दो पर्यटकों में यह बीमारी पाई गई, लेकिन राज्य सरकार ने मरीजों को तुरंत स्क्रीनिंग करके बीमारी फैलने से बचा लिया। यहीं हमारी जागरूकता है। ऐसी ही जागरूकता आम लोगों के भीतर भी होनी चाहिए। राजस्थान की ऐसी धरती है, जहां लड़ने की क्षमता है। दुश्मन को हराने की शक्ति है। इस बार भी कोरोना को राजस्थान के लोग अपनी जागरूकता से हराएंगे। यह मेरा अटूट विश्वास है।


मुख्यमंत्री बनने के बाद से यह मेरा प्रयास रहा है कि प्रदेश के लोग स्वस्थ रहें। इस बार के बजट में निरोगी राजस्थान अभियान शुरू करने का ऐलान किया गया है। इस अभियान से प्रदेश के हर नागरिक को जुड़ने की अपील करता हूं। इसीलिए निरोगी राजस्थान के तहत चिकित्सा अधिकारियों के 2 हजार नए पदों पर भर्ती की जाएगी। यही नहीं राज्य की आर्थिक सेहत ठीक करने के लिए रिप्स, एमएसएमई एक्ट, सोलर एंव विंड हाइब्रिड पॉलिसी और नई औद्योगिक नीति लाए हैं। इतनी बड़ी व व्यापक पॉलिसी लाने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य है। आर्थिक तरक्की के साथ-साथ हमारा सामाजिक ताना-बाना भी मजबूत होना चाहिए। युवाओं के लिए इन्क्यूबेशन सेंटर की स्थापना कर रहे हैं, जिससे युवाओं को लाभ मिलेगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना