• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • On November 2, Memory One closed in presence of Baghere, 3 bags were seen in the camera trap; Nonetheless, opening orders to the people

जयपुर / 2 नवंबर को बघेरे की मौजूदगी पर स्मृति वन बंद किया, कैमरा ट्रैप में 3 बघेरे दिख रहे; इसके बावजूद लोगों के लिए खोलने के आदेश

बन विभाग के कैमरे में कैद हुआ बाघ। बन विभाग के कैमरे में कैद हुआ बाघ।
X
बन विभाग के कैमरे में कैद हुआ बाघ।बन विभाग के कैमरे में कैद हुआ बाघ।

  • बंद करने का फैसला 2 नवंबर से था, जबकि एक बघेरे का मूवमेंट यहां देखा गया
  • इसे नजरंदाज कर वन विभाग ने शुक्रवार से स्मृति वन को खोलने का आदेश कर दिया

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 03:00 AM IST

जयपुर. जिस स्मृति वन को बाघ के मूवमेंट के चलते बंद किया गया था, उसे बाघ की उपस्थिति में ही खोला जा रहा है। बंद करने का फैसला 2 नवंबर से था, जबकि एक बाघ का मूवमेंट यहां देखा गया। इसके बाद वन विभाग ने जो कैमरा ट्रैप लगाया, उसमें एक नहीं बल्कि 3 बाघों की उपस्थिति पाई गई है जिनका रह-रहकर मूवमेंट देखा गया। इनमें से मादा बाघ ‘पूजा’ तो नियमित कैमरा ट्रैप में आ रही है। इसे नजरंदाज कर वन विभाग ने शुक्रवार से स्मृति वन को खोलने का आदेश कर दिया। सवाल लाजमी है कि जब पहले भी मसला सुरक्षा का था, तो अब इसे क्यों भूला जा रहा है। वहीं अगर बघेरे की उपस्थिति में खोला ही जाना था तो इसे बंद ही क्यों किया गया। 

आदेश तो देखिए, खुद मान रहे हैं कि बाघ दिख रहा है
स्मृति वन 100 दिन बाद खुलेगा। विभाग ने खोलने का जो आदेश किया है उसमें खुद माना है नवंबर 2019 से लगातार स्मृति वन में बाघ दिख रहा है। इस आशय के बोर्ड भी स्मृति वन में लगाए गए हैं। साथ ही भ्रमणार्थियों के लिए स्वयं की सुरक्षा के लिए आवश्यक दिशा निर्देश ङी प्रदर्शित किए हैं। सुरक्षा की अंडरटेकिंग, 55 रुपए का पास: अंडरटेकिंग के बाद भ्रमणार्थी 

इंसानी दखल से फिर शहर में निकलने का अंदेशा
मार्च 2017 में स्मृति वन को बाघ की उपस्थिति जान बंद करने का फैसला लिया गया कि वास्तव में यह उन्हीं का घर है, इंसानों ने इस पर कब्जा कर लिया। चूंकि झालाना में बाघ की तादात बढ़ी तो दबाव में ये शहर में आ रहे हैं जबकि स्मृति वन उनके घर का हिस्सा है, अब एक बार फिर यहां इंसानी दखल से यहां रह रहे बाघों पर दबाव बढ़ेगा। 
 

अनहोनी हुई तो जिम्मेदारी कौन लेगा?
डीएफओ कविता सिंह के मुताबिक कुछ लोगों ने विभाग को रिप्रेजेंटेशन दिया था, इसका बाद हमको स्मृति वन खोलने के निर्देश मिले हैं। पूरे पार्क को खोलने के बजाए निश्चित एरिया को ही खोला जा रहा है।

सुरक्षा की अंडरटेकिंग, 55 रुपए का पास 

अंडरटेकिंग के बाद भ्रमणार्थी को पहचान पत्र मिलेगा। इसके लिए 55 रुपए शुल्क तय किया गया है। भ्रमण समय सुबह 7 से साढ़े 9 बजे तक का रखा है। 15 दिन तक खोलना का निर्णय है, इसके बाद इसे बढ़ाया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना