भास्कर पड़ताल / पपला को छोड़ने के लिए पहले 5 लाख मांगे, फिर 15 लाख, एसएचओ ने भी एसपी से जानकारी छिपाई



बहराेड़ थाने से फरार होने से पहले पपला और उससे बरामद 31.90 लाख रुपए के साथ थाना अधिकारी सुगन सिंह। बहराेड़ थाने से फरार होने से पहले पपला और उससे बरामद 31.90 लाख रुपए के साथ थाना अधिकारी सुगन सिंह।
X
बहराेड़ थाने से फरार होने से पहले पपला और उससे बरामद 31.90 लाख रुपए के साथ थाना अधिकारी सुगन सिंह।बहराेड़ थाने से फरार होने से पहले पपला और उससे बरामद 31.90 लाख रुपए के साथ थाना अधिकारी सुगन सिंह।

  • बहरोड़ थाने से गैंगस्टर को छुड़ा ले जाने के मामले में पुलिस पर दाग
  • 32 लाख रु. देखते ही सौदा शुरू, न उच्चाधिकारियों को बताया- न नाकाबंदी कराई

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2019, 01:43 AM IST

जयपुर (ओमप्रकाश शर्मा). अलवर जिले के बहराेड़ थाने के लाॅकअप से गैंगस्टर विक्रम गुर्जर उर्फ पपला काे छुड़ा ले जाने के मामले में पुलिसकर्मियाें की भूमिका शुरू से ही संदेह के दायरे में है। इस मामले में बर्खास्त किए गए दाे हैड कांस्टेबलों और सस्पेंड एसएचओ सुगन सिंह के खिलाफ चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं।

 

बदमाशाें की फायरिंग और पपला की फरारी से करीब एक घंटे पहले ही हैड कांस्टेबल रामअवतार एवं विजयपाल ने 5 लाख रुपए में पपला की रिहाई का सौदा जखराना निवासी हिस्ट्रीशीटर सरपंच विनोद स्वामी से तय किया था। यह राशि पपला से बरामद किए गए 32 लाख रु. में से ली जानी थी। बाद में कुछ अन्य पुलिसकर्मियों ने डिमांड बढ़ा दी अाैर 15 लाख रु. मांगे। इसके बाद साैदा बिगड़ गया।


दूसरी तरफ जांच में यह भी सामने आया है कि पपला के भागने से पहले बहरोड़ एसएचओ सुगन सिंह की मुलाकात एसपी से हुई थी। लेकिन एसएचओ ने पपला की गिरफ्तारी और उससे बरामद 32 लाख रुपए के बारे में उन्हें नहीं बताया।पुलिसकर्मियों से सौदा बिगड़ने के बाद पपला के साथियों ने थाने पर हमला कर उसे भगाने की साजिश को अंजाम दिया।

 

विनोद ने थाने एवं उसके आसपास पहले रैकी की। फिर पपला के साथियों को सूचना देकर बुला लिया। उन्हाेंने एके-47 सहित अन्य हथियाराें से थाने पर धावा बोला अाैर शुक्रवार सुबह 8:20 बजे पपला काे छुड़ाकर ले भागे। पुलिस इस मामले में विनाेद स्वामी और उसके साथी राकेश काे पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। मंगलवार काे तीन बदमाश और गिरफ्तार किए गए।

 

हालांकि, 4 दिन बाद पपला अभी तक पकड़ से दूर है। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार तड़के करीब 3:30 बजे जयपुर-दिल्ली नेशनल हाईवे पर गश्त के दाैरान बहराेड़ पुलिस काे देखकर पपला और उसके साथी अपनी स्काॅर्पियाें में भागे ताे पुलिस ने पीछा किया। बदमाशाें गाड़ी छाेड़कर पैदल भागे ताे पुलिस ने पपला काे पकड़ लिया। वे उसे 5:20 बजे थाने में लाए। इसके बाद बदमाशाें ने हमला कर सुबह 8:20 बजे पपला काे छुड़ा लिया।

 

पुलिस की मांग बढ़ी तो थाने पर हमला कर पपला को भगाना सस्ता लगा बदमाशों को: पपला पकड़ा गया ताे पुलिसकर्मियाें की रुचि उसके साथियों को पकड़ने की बजाय उससे बरामद 31.90 लाख रु. में बढ़ गई। हैड कांस्टेबल रामवतार एवं विजयपाल ने उसे 5 लाख रु. में छाेड़ने का साैदा कर लिया। लेकिन दूसरे पुलिसकर्मियाें का लालच बढ़ गया। वे 15 लाख मांगने लगे। साैदा करने में जुटे हिस्ट्रीशीटर विनाेद ने थाने के हालात देखे ताे मन पलट गया। उसने थाने पर हमला करने की याेजना बनाकर पपला की गैंग काे बुला लिया।

 

दोनों हैड कांस्टेबल बर्खास्त, लेकिन गिरफ्तार क्यों नहीं?: पपला काे भगाने में हैडकांस्टेबल विजय व रामअवतार काे बर्खास्त किया जा चुका है। लेकिन बड़ा सवाल ये है कि इन्हें गिरफ्तार क्याें नहीं किया? गैंगस्टर अानंदपाल की फरारी के दाैरान कमांडो शक्ति सिंह की भूमिका सामने अाने के बाद उसे बर्खास्त कर गिरफ्तार किया गया था। मामले में जयपुर रेंज के आईजी एस सेंगाथिर ने कहा- पपला काे थाने से छुड़ाने के लिए विनोद स्वामी आया था। दोनों हैड कांस्टेबलों का आचरण खराब था। अभी मामला दर्ज करने जैसी बात नहीं है। आगे देखते हैं।

 

3:20 बजे पपला को पकड़ा, थाना प्रभारी 5:30 बजे एसपी मिले, उन्हें कुछ बताया क्यों नहीं? : पपला की गिरफ्तारी के दाैरान एसपी अमनदीप कपूर नीमराना में मौजूद थे। नीमराना से लौटते समय करीब सुबह 5.30 बजे थाना प्रभारी सुगन सिंह की एसपी कपूर से मुलाकात भी हुई। लेकिन एसएचअाे ने उन्हें न ताे पपला काे पकड़े जाने के बारे में बताया, न ही पैसाें के बारे में जानकारी दी।

 

पैसों के आगे नाकाबंदी तक कराना भूले: पुलिस ने पपला काे जयपुर-दिल्ली हाईवे से पकड़ लिया अाैर कार बरामद कर ली, लेकिन उसके दाे साथी पैदल ही भाग गए। बड़ा सवाल यह है कि बहराेड़ पुलिस ने उनकी धरपकड़ के लिए कंट्रोल रूम से नाकाबंदी क्याें नहीं करवाई। जयपुर रेंज के आईजी एस सेंगाथिर ने कहा- एसएचओ को नाकाबंदी करानी चाहिए थी अाैर एसपी काे भी बताना था। लेकिन, ऐसा नहीं किया गया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना