अभियान / घटिया चने की दाल, सूजी-चौला दाल से तैयार कर रहे थे मिलावटी बेसन, साढ़े सात क्विंटल सीज



चिकित्सा विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने कार्रवाई की। चिकित्सा विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने कार्रवाई की।
X
चिकित्सा विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने कार्रवाई की।चिकित्सा विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने कार्रवाई की।

  • सीएमएचओ जयपुर प्रथम के एफएसओ की टीम ने गलता गेट स्थित नवीन उद्योग पर छापे मारकर नमूने लिए 
  • मुरलीपुरा स्थित राज एमके मावा, पनीर भंडार से पनीर और मावे के दो नमूने भी लिए, सजल व पायस घी के नमूने भी उठाए

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2019, 02:34 AM IST

जयपुर. चिकित्सा विभाग की अोर से खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने के लिए सीएमएचओ जयपुर प्रथम के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम ने ‘शुद्व के लिए युद्ध अभियान’ के तहत शनिवार को गलता गेट स्थित नवीन उद्योग पर छापेमार कार्यवाही करके साढ़े सात क्विंटल मिलावटी बेसन सीज किया है। मौके पर टीम को घटिया चने की दाल, सूजी अौर चौला की दाल से मिलावटी बेसन तैयार करते हुए मिला। फर्म के यहां से चौला दाल खरीद के बिल, सूजी के खाली कट्टे भी पाए गए। 


सीएमएचओ जयपुर प्रथम डॉ.नरोत्तम शर्मा ने बताया कि नमूने लेकर लैब में जांच के लिए भेजा है। इधर, मरुधर तेल कार्पोरेशन कूकर खेड़ा मंडी से सजल ब्रांड अौर पायस बांड घी के एक-एक नमूना लिया है। मुरलीपुरा स्थित राज एमके मावा, पनीर-भंडार से पनीर व मावे के दो नमूने लिए हैं। एसएमएस अस्पताल के डॉक्टरों के अनुसार मिलावटी बेसन से सेहत बिगड़ सकती है। इससे पेट-दर्द, उल्टी-दस्त की शिकायत हो सकती है। 

 

कचरे में भी सूजी मिली
खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम जब सुबह फैक्ट्री पहुंची तो सफाई चल रही थी। कचरे अौर आसपास क्षेत्र में सूजी मिली है। इससे अंदेशा है कि संभवतया मिलावटी बेसन का काम रात में किया जाता है। जांच में 25-25 किलो के 30 कट्टे मिलावटी बेसन के तैयार पैक मिले हैं। फर्म के मालिक रामबाबू श्रीमाल के अनुसार रोजाना 25 से 30 क्विटंल बेसन की सप्लाई की जाती है। 
 

लागत 30 से 35 रुपए किलो पड़ती है, बेचते है 50 से 55 रुपए में : 
बेसन की लागत 30 से 35 रुपए में पड़ती है लेकिन बाजार में 50 से 55 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बेचा जाता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना