जयपुर / महिला की हत्या का केस दर्ज नहीं करने पर थानाप्रभारी सस्पेंड, मंत्री के जनसुनवाई में पहुंचने से गरमाया था मामला

ब्रह्मपुरी थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़, जिन्हें निलंबित कर दिया गया ब्रह्मपुरी थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़, जिन्हें निलंबित कर दिया गया
X
ब्रह्मपुरी थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़, जिन्हें निलंबित कर दिया गयाब्रह्मपुरी थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़, जिन्हें निलंबित कर दिया गया

  • जयपुर के पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बुधवार को दिए निलंबन के आदेश
  • मंगलवार को उद्योग मंत्री परसादी लाल ने यूडीएच मंत्री शांतिलाल धारीवाल से की थी गुहार

दैनिक भास्कर

Feb 05, 2020, 06:54 PM IST

जयपुर. शहर में एक महिला की मौत के बाद उसकी हत्या का मुकदमा दर्ज नहीं करने के मामले में पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने ब्रह्मपुरी थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़ को निलंबित कर दिया। दरअसल, मंगलवार को प्रदेश सरकार में उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा खुद मंत्री शांतिलाल धारीवाल की जनसुनवाई के दौरान इस मामले को लेकर पहुंच गए थे। इसके बाद यह मामला सुर्खियों में आया था।

जनसुनवाई में पहुंचे  उद्योग मंत्री मीणा ने धारीवाल को बताया कि उनके कहने के बावजूद ब्रह्मपुरी थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़ उनके क्षेत्र में रहने वाले गरीब आदमी की बेटी की हत्या का मुकदमा दर्ज नहीं कर रहे है। ऐसे में मंत्री धारीवाल ने पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव को फोन कर मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए थे।

यह था मामला
सवाईमाधोपुर के बामनवास कस्बे में रहने वाले सांवलराम की बेटी जयसिंहपुरा खोर में रहती थी। पिछले दिनों उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इसके बाद मृतका का अंतिम संस्कार करने के बाद उसके पिता सांवलराम ब्रह्मपुरी थाने पहुंचे और वहां बेटी की हत्या का मुकदमा दर्ज करने को कहा। लेकिन, थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़ ने मामला बामनवास थाने का होना बताकर वहां जाकर केस दर्ज करवाने की बात कही। इसके बाद मृतका के परिजन बामनवास थाने भी पहुंचे। लेकिन वहां पुलिस ने उन्हें वापस ब्रह्मपुरी थाने भेज दिया गया।

उद्योग मंत्री के पास गुहार लेकर पहुंचा मृतका का पिता

ऐसे में कई चक्कर लगाने के बाद मृतका महिला के पिता सांवलराम परसादीलाल मीणा के पास केस दर्ज करने की गुहार लेकर पहुंचे। मंत्री मीणा का कहना है कि उन्होंने डीसीपी नार्थ डॉ. राजीव पचार और यहां तक थानाप्रभारी भरत सिंह राठौड़ से फोन कर मुकदमा दर्ज करने को कहा। लेकिन उनकी अनसुनी कर दी। ऐसे में परसादी लाल मीणा मंगलवार काे शांतिलाल धारीवाल की जनसुनवाई में पहुंच गए। तब मामला पुलिस कमिश्नर तक पहुंचा और केस दर्ज कर तफ्तीश एसीपी आमेर बृजेंद्र सिंह भाटी को सौंपी गई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना