--Advertisement--

राजस्थान का रण / तीसरे मोर्चे का दावा- हमारे प्रत्याशी अच्छी फाइट में, बिगाड़ेंगे कांग्रेस-भाजपा का समीकरण



Third Front Claim - Our Candidates In Good Fight
X
Third Front Claim - Our Candidates In Good Fight

  • आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल बोले- हमारे समर्थन से सरकार बनाने की नौबत आई तो हम दोबारा चुनाव कराएंगे
  • बसपा नेता धर्मवीर का कहना, पार्टी के पौने दो सौ में से कई प्रत्याशी जीतकर विधानसभा पहुंचेंगे

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 07:34 AM IST

जयपुर. राजस्थान और तेलंगाना में वोटिंग थमने के साथ ही पांच चुनावी राज्यों के एग्जिट पोल्स आ गए। राजस्थान के 6 सर्वे में से 4 में कांग्रेस की सरकार बनने के आसार हैं। इधर, इन एग्जिट पोल्स से इतर तीसरा मोर्चा भी खुद को कम नहीं आंक रहा है। आरएलपी, भारत वाहिनी, बसपा और लोकतांत्रिक मोर्चा भाजपा-कांग्रेस का समीकरण खराब करने का दावा कर रहे हैं।

 

 

बीजेपी-कांग्रेस को समर्थन नहीं देंगे हम : आरएलपी

आरएलपी संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा है- आरएलपी के 20 से ज्यादा प्रत्याशी अच्छी फाइट में हैं। शेष प्रत्याशी भी चौकाने वाले परिणाम दे सकते है। इन्हीं में से कई लोग जीतकर विधानसभा पहुंच रहे है। हमारे समर्थन से सरकार बनाने की नौबत आई तो हम दोबारा चुनाव कराएंगे। ऐसे हालात नहीं बने तो हम विपक्ष में मजबूत भूमिका में दिखेंगे। जब तक तीसरे मोर्चे की सरकार नहीं बनती लड़ाई जारी रहेगी। 

 

बीजेपी-कांग्रेस का घाटा तय है : भारत वाहिनी

भारत वाहिनी प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी ने कहा है-  भारत वाहिनी के मैदान में आने से बीजेपी - कांग्रेस के चुनावी समीकरण प्रभावित हुए है। इन दोनों पार्टियों के वोट बैंक को बड़ा नुकसान हुआ है। अब परिणाम वाले दिन पता लग जाएगा इन प्रमुख पार्टियों को कितना नुकसान हुआ और कौन विधानसभा के अंदर और कौन बाहर मिलेगा। 

 

हम सबको चौंकाएंगे, देखते जाइए : बसपा

बसपा के वरिष्ठ नेता धर्मवीर अशोक ने कहा है- बसपा ने पौने दो सौ प्रत्याशियों को मैदान में उतारा था। इनमें से कई प्रत्याशी जीतकर विधानसभा पहुंच रहे हैं। वर्ष 2008 में छह सदस्यों ने पार्टी छोड़ी थी, तब जाकर कांग्रेस की सरकार बनी थी। उस समय पार्टी का वोट प्रतिशत सात प्रतिशत तक पहुंच गया था जो कि तीसरे नंबर की पार्टी रही थी। निश्चित तौर पर इस बार भी चौंकाने वाले परिणाम बसपा के पक्ष में दिखेंगे।

 

गठबंधन भारी पड़ने वाला है : लोकतांत्रिक मोर्चा

सीपीआई नेता नरेंद्र आचार्य ने कहा है- लोकतांत्रिक मोर्चे के बैनर तले सीपीआई, सीपीएम, सपा सहित कई पार्टियां गठबंधन के साथ विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारे है। इन पार्टियों के कुछ प्रत्याशी कई जगह अच्छी फाइट में हैं। । इसके अलावा बीजेपी- कांग्रेस का समीकरण खराब हो रहा हैं। मतगणना के दिन कुछ सीटों पर चौंकाने वाले परिणाम दिखना तय है। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..