मानसून / बूंदी, झालावाड़ और काेटा में 5 इंच तक बारिश, जयपुर में मकान गिरने से महिला की मौत



जयपुर के हीदा की मोरी में गिरा मकान। जयपुर के हीदा की मोरी में गिरा मकान।
माहीबांध। माहीबांध।
X
जयपुर के हीदा की मोरी में गिरा मकान।जयपुर के हीदा की मोरी में गिरा मकान।
माहीबांध।माहीबांध।

  • बूंदी के दबलाना में युवक बहा, बांसवाड़ा के माही बांध के सभी 16 गेट खाेलने पड़े
  • जयपुर में हुए हादसे में दो महिला व एक बच्चा भी घायल, आसपास के मकानों को भी नुकसान

Dainik Bhaskar

Aug 16, 2019, 05:39 PM IST

जयपुर. प्रदेश में तेज बारिश का दौर बुधवार से फिर शुरू हो गया। बूंदी, झालावाड़, प्रतापगढ़ और काेटा जिलाें में कई जगह 3 से 5 इंच तक पानी बरसा। जयपुर में 24 घंटे में 18.3 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। बांसवाड़ा में उदयपुर संभाग का सबसे बड़ा माही बजाज सागर बांध ओवरफ्लाे हाे गया। इसके सभी 16 गेट खाेलने पड़े। कोटा में रेलवे ट्रैक पर पानी आने से दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग लगभग दो घंटे बाधित रहा। बूंदी के दबलाना में लोकेश कुमावत (25) की बहने से मौत हो गई।

 

 

छह भाईयों का संयुक्त परिवार रहता है मकान में

शहर में लगातार बारिश ने पुराने खंडहर हो चुके मकानों में रह रहे लोगों को सावधान किया है। हीदा की मोरी में दो मंजिला पुराने मकान में 6 भाईयों का संयुक्त परिवार रहता है। भाई काम पर गए थे। सुबह 10 बजे घर में औरतें-बच्चे थे। दोनों मंजिला पर की दोनों ही मंजिलों पर रोजाना की तरह घर के कामकाज हो रहे थे। अचानक ऊपर की मंजिल की छत गिर गई। बोझ से नीचे की मंजिल भी दब गई। दोनों ही मंजिलों पर चार महिलाएं, दो बच्चे और पांच मवेशी मलबे में फंस गए, बाकी बाहर निकल गए। एक महिला की मौत हो गई।

 

पड़ोस के 4 मकानों को भी नुकसान

मकान गिरने से धमाका हुआ तो देखते ही देखते यहां करीब 2000 लोग जमा हो गए। कई लोग मकान में दबे या फंसे लोगों को निकालने लगे। रामगंज पुलिस और डिविल डिफेंस की रेस्क्यू टीम पहुंच गई। सिविल डिफेंस के डिप्टी कंट्रोलर जगदीश प्रसाद ने बताया कि मकान काफी पुराना है। बारिश के कारण इसकी छत और दीवारों में पानी भर गया। सीलन की वजह से कमजोर दूसरी मंजिल की छत गिर गई। आस-पास के चार अन्य मकानों को भी नुकसान हुआ है।

 

दो महिला व एक बच्चे को पुलिस व स्थानीय लोगों ने पत्थर हटाकर निकालकर हॉस्पिटल पहुंचा दिया था। बाकी नीचे के कमरे में फंसी दो महिलाओं को दीवार काटकर निकाला। इसके अलावा एक घोड़ी, गाय, बकरी व दो पालतू श्वान फंसे हुए थे। करीब एक घंटे बाद मलबा हटाकर सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। ढहने वाले मकान में लालचन्द, श्यामलाल, रामलाल, रतन, कैलाश व श्रवण का परिवार रहता है। गंगादेवी लालचंद की पत्नी थीं। सिविल डिफेंस के कंट्रोलर ने बताया कि मकान पुराना था। इन दिनों लगातार हो रही बारिश से भार बढ़ गया और दूसरी मंजिल की छत गिर गई।

 

आगामी 48 घंटे

मौसम विभाग ने 27 जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई है। इनमें जयपुर, अलवर, भरतपुर, दौसा, करौली, धौलपुर, सवाईमाधोपुर, टोंक, सीकर, झुंझुनूं आदि जिले शामिल हैं।

 

कहां, कितनी बारिश

प्रतापगढ़ 120
तालेड़ा 115
बूंदी 107
केपाटन 106
अरनोद 70
छोटीसादड़ी 68
काेटा 65.4

 

प्रदेश में अब तक 21% ज्यादा बारिश (मिमी में)

  बारिश होनी थी हुई अधिक
राजस्थान 343.65 415.18 20.8%
जयपुर 353.90 454.75 28.5%
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना