• Home
  • Rajasthan News
  • Jaisalmer News
  • खेत में रात को बेटे की जगह सो रहे पिता की हत्या सुबह हत्यारे का पिता ही आरोपी को ले गया थाने
--Advertisement--

खेत में रात को बेटे की जगह सो रहे पिता की हत्या सुबह हत्यारे का पिता ही आरोपी को ले गया थाने

भास्कर संवाददाता | मोहनगढ़ / जैसलमेर मोहनगढ़ नहरी क्षेत्र में शुक्रवार देर रात हत्या की वारदात ने सनसनी फैला दी।...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:05 AM IST
भास्कर संवाददाता | मोहनगढ़ / जैसलमेर

मोहनगढ़ नहरी क्षेत्र में शुक्रवार देर रात हत्या की वारदात ने सनसनी फैला दी। एक युवक ने आपसी रंजिश के चलते कस्बे के निकट मुरब्बे में बने टांके पर सो रहे अधेड़ पर कुल्हाड़ी से वार करके हत्या कर दी। पुलिस को घटना की जानकारी मिलते ही सुबह 4 बजे पुलिस मौके पर पहुंची और शव को मोर्चरी में रखवाया।

मोहनगढ़ निवासी अचलाराम पुत्र पूनाराम भील की 4 एमजेएम चक में मुरब्बे पर काश्त करने वाले पप्पुनाथ पुत्र रुमाल नाथ से रंजिश चल रही थी। शुक्रवार को दिन में ही इनके बीच झगड़ हुआ था। इसको लेकर अचलाराम शुक्रवार की रात करीब दो बजे खेत में पहुंचा और वहां बने टांके पर कम्बल ओढ़कर सो रहे रुमाल नाथ(45) पुत्र रूपनाथ पर कुल्हाड़ी से वार करके हत्या कर दी। अचलाराम को लगा कि वहां पप्पुनाथ सो रहा है।

रात में 11 बजे फोन पर धमकियां दी और दो बजे कर दी हत्या अचलाराम व अन्य दो लोगों ने शुक्रवार की रात 11 बजे पप्पुनाथ को फोन करके उसे जान से मारने की धमकियां दी। पप्पुनाथ ने पुलिस को बताया कि अचलाराम, उसका चाचा अमृतराम व एक अन्य व्यक्ति ने उसे फोन पर धमकियां दी थी। पुलिस ने इस मामले में अनुसंधान शुरू कर दिया है।

पिता ने सूचना देकर हत्यारे बेटे को किया पुलिस के हवाले

रुमाल नाथ की हत्या कर अचलाराम अपने घर गया और अपने पिता पूनाराम को घटना के बारे में बताया। इस पर पूनाराम उसे सुबह 4 बजे अपने साथ थाने ले गया और घटना की जानकारी पुलिस को देते हुए उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने मौका मुआयना किया तब अचलाराम को पता चला कि उसने पप्पुनाथ की जगह उसके पिता की हत्या कर दी। पुलिस ने अचलाराम को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

पोस्टमार्टम का किया विरोध

मृतक के परिजनों ने शनिवार को विरोध प्रदर्शन किया।

शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवा दिया था। मृतक के रिश्तेदारों का कहना था कि अचलाराम के साथ अन्य दो तीन लोग जिन्होंने फोन पर धमकियां दी थी और संभवतया हत्या के दौरान साथ थे उन्हें भी गिरफ्तार किया जाए। नाचना डिप्टी विजय कुमार, तहसीलदार वीरेंद्रसिंह व मोहनगढ़ थानाधिकारी महेंद्रसिंह ने परिजनों को आश्वासन दिया कि मामले की पूरी तरह से जांच की जाएगी। उसके बाद परिजन शांत हुए।

रोजाना टांके के पास पप्पुनाथ सोता था | शुक्रवार को दिन में पप्पुनाथ व अचलाराम के बीच झगड़ा हुआ था। पप्पुनाथ रोजाना 4 एमजेएम पर स्थित मुरब्बे में बने टांके पर सोता है। अचलाराम को यह बात पता थी। लेकिन शुक्रवार को वहां पप्पुनाथ की जगह उसका पिता रुमाल नाथ सो रहा था लेकिन उसे यह पता नहीं था, उसने पप्पुनाथ को मारने की नीयत से हमला किया लेकिन वहां सो रहे रुमाल नाथ की मौत हो गई।

ग्रामीणों ने की मदद

रुमाल नाथ का परिवार गरीब है और उसकी की हत्या के बाद मोहनगढ़ के ग्रामीणों ने उसके अंतिम संस्कार के लिए आर्थिक मदद भी की। विक्रमसिंह, मनोहरसिंह, अंतरे खां, साभान खां ने ग्रामीणों से करीब 10 हजार 500 रुपए एकत्रित कर रूमाल नाथ के परिवार को सौंपे।