--Advertisement--

विधायक ने विधानसभा में कृषि, पशुपालन के मुद्दे उठाए

जैसलमेर | स्थानीय विधायक छोटू सिंह भाटी ने विधानसभा बजट सत्र की चर्चा में भाग लेते हुए सहकारिता, कृषि, पशुपालन में...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:35 AM IST
जैसलमेर | स्थानीय विधायक छोटू सिंह भाटी ने विधानसभा बजट सत्र की चर्चा में भाग लेते हुए सहकारिता, कृषि, पशुपालन में जैसलमेर की स्थिति का वर्णन करते हुए जनहित के कार्यों की मांग की। विधायक भाटी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों एवं पशुपालकों के लिए संभाग स्तर पर मेले लगाकर किसानों को खेती करने की नई तकनीक व देशी उर्वरक के माध्यम आय बढ़ाने व भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ाने तथा पशुपालकों को मजबूत करने के लिए पशुओं से आय बढ़ाने की जानकारी प्रदान की है। राज्य सरकार द्वारा वर्ष 18-19 बजट में प्रत्येक जिला स्तर पर नंदी गौशाला, राजस्थान राज्य कृषक ऋण राहत आयोग का गठन, लघु एवं सीमांत कृषकों को ऋण माफी, किसानों की उपज का वाजिब दाम के लिए समर्थन मूल्य के लिए राजफेड को अधिकृत कर आर्थिक स्थिति मजबूत की, डिग्गी निर्माण के लिए अनुदान बढ़ाने, गौशालाओं को चारा पशु आहर की अवधि बढ़ाने की घोषणा जैसे अनेक कार्य किए है, जिसके लिए राज्य सरकार को धन्यवाद दिया । विधायक भाटी ने राज्य सरकार से मांग करते हुए बताया कि राजस्थान में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा डार्क जोन बताते हुए जैसलमेर जिले को शामिल किया है जबकि जैसलमेर में सरस्वती नदी का बहाव एवं भूजल के अथाह भंडारन है। इसलिए जैसलमेर जिले को डार्कजोन से मुक्त रखा जाकर किसानों से कृषि कनेक्शनों के लिए आवेदन प्राप्त कर कृषि कनेक्शन प्रदान किए जाए।