• Home
  • Rajasthan News
  • Jaisalmer News
  • मिलिट्री एयरबेस से संचालित होने वाले सिविल एयरपोर्ट के लिए डीजीसीए से लेना होगा लाइसेंस
--Advertisement--

मिलिट्री एयरबेस से संचालित होने वाले सिविल एयरपोर्ट के लिए डीजीसीए से लेना होगा लाइसेंस

जोधपुर | देश भर में सभी 25 मिलिट्री एयरबेस के साथ संचालित होने वाले सिविल एयरपोर्ट से फ्लाइट्स के संचालन के लिए...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:40 AM IST
जोधपुर | देश भर में सभी 25 मिलिट्री एयरबेस के साथ संचालित होने वाले सिविल एयरपोर्ट से फ्लाइट्स के संचालन के लिए डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) से लाइसेंस लेना होगा। अब तक एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया के एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन के लिए ही यह अनिवार्यता थी। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने गत 16 फरवरी को ही इसका गजट नोटिफिकेशन जारी किया है। इसके अनुसार ऐसे सभी एयरपोर्ट को 30 जून 2019 तक का समय दिया गया है। इस दौरान ये एयरपोर्ट डीजीसीए से लाइसेंस या सर्टिफिकेट नहीं लेते हैं, तो कोई भी शिड्यूल एयरलाइंस ऐसे एयरपोर्ट से अपनी उड़ानों का संचालन नहीं कर पाएगी।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया देश में 125 एयरपोर्ट का संचालन करता है। इनमें 25 मिलिट्री एयरपोर्ट हैं। इसके अलावा डोमेस्टिक और इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं। जोधपुर से अभी रोजाना दो दर्जन से अधिक शिड्यूल और नॉन शिड्यूल फ्लाइट्स का संचालन किया जा रहा है। यह आदेश सभी उड़ानों के लिए लागू होगा। वैसे लाइसेंस मिलने के बाद इसमें किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। जोधपुर एयरपोर्ट निदेशक जीके खरे का कहना है कि दिल्ली में मुख्यालय स्तर पर यह निर्णय हुआ है, वहीं से लाइसेंस की प्रक्रिया पूरी होगी।

सभी एयरपोर्ट पर एकरूपता लाने का प्रयास: डीजीसीए सभी एयरपोर्ट पर सिविल एविएशन रिक्वायरमेंट का पालन कराता है, जिससे सभी एयरपोर्ट पर आने वाले विमानों को एक जैसी सेवाएं मिलती हैं, लेकिन डिफेंस एयरपोर्ट पर यह लागू नहीं होता था, जिससे सेवाओं में फर्क पड़ता है। इस व्यवस्था के बाद देश के सभी एयरपोर्ट पर संरक्षा और सुविधा की दृष्टि से एकरूपता आएगी। यात्रियों के साथ ही एयरलाइंस को भी बेहतर सुविधाएं मिलेंगी।

राजस्थान में तीन मिलिट्री एयरबेस : राजस्थान में जयपुर को छोड़कर तीन जगह मिलिट्री एयरबेस के साथ ही सिविल फ्लाइट्स का संचालन हो रहा है। इनमें जोधपुर, जैसलमेर व बीकानेर शामिल हैं। हाल में बाड़मेर के उत्तरलाई के पास सिविल एयरपोर्ट बनाने की तैयारी की जा रही हैं। जोधपुर में तो यात्री भार में हर साल बढ़ता जा रहा है। यहां पर सिविल एयरपोर्ट के विस्तार का काम चल रहा है।