टिडि्डयों से बचाव के लिए प्रदेश भर से 77 अधिकारियों का तबादला, सभी को जैसलमेर लगाया

Jaisalmaer News - जिले में गुरुवार को कृषि विभाग का स्थानांतरण आदेश चर्चा का विषय बना रहा। कृषि आयुक्तालाय ने दो दिन पूर्व एक आदेश...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:40 AM IST
Jaisalmer News - rajasthan news 77 officers transferred from across the state to rescue the locusts
जिले में गुरुवार को कृषि विभाग का स्थानांतरण आदेश चर्चा का विषय बना रहा। कृषि आयुक्तालाय ने दो दिन पूर्व एक आदेश निकाला, जिसमें प्रदेश भर के 77 कर्मचारियों के तबादले किए गए और इन सभी 77 कर्मचारियों को जैसलमेर में लगाया गया है। ऐसे में चर्चा यह है कि या तो कृषि विभाग जैसलमेर पर मेहरबान है या फिर इन सभी कर्मचारियों को काले पानी की सजा के लिए जैसलमेर लगाया गया है। यह इसलिए क्योंकि जयपुर में बैठे उच्चाधिकारी कई बार अपने अधीनस्थ कर्मचारियों पर नाराजगी जताते हुए उन्हें जैसलमेर लगाने की धमकियां तक दे चुके हैं। वहां यही माना जाता है कि जैसलमेर किसी की नियुक्ति करना काले पानी की सजा के बराबर है। गौरतलब है कि गत सरकार के कार्यकाल में दो मंत्री सार्वजनिक रूप से अधिकारी को जैसलमेर लगाने की धमकी तक दे चुके हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि जयपुर में आज भी जैसलमेर को पिछड़ा जिला माना जाता है और यहां किसी को भेजना सजा देने के बराबर माना जाता है।

या फिर संघ व भाजपा से जुड़े हो सकते हैं ये कर्मचारी

गौरतलब है कि वर्तमान कांग्रेस सरकार ने आते ही ऐसे अधिकारियों व कर्मचारियों के तबादले किए थे जो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े रहे। इस बार कांग्रेस सरकार का पहला वार भाजपा व संघ से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों पर था। संभावना यह भी है कि ये सभी 77 तबादले भी इसी बदले की भावना से किए गए हो।


पहली बार भरे गए हैं सारे पद

कृषि अधिकारियों के अनुसार जैसलमेर में कृषि पर्यवेक्षक के 75 पद सृजित है। जिसमें से केवल 11 ही कार्यरत थे और 64 पद खाली थे। इस बार सभी 75 पद भर दिए गए हैं। वहीं 13 सहायक कृषि अधिकारियों के पद भी भर दिए गए हैं। ऐसे में पहली बार ऐसा हुआ है कि कृषि विभाग में कृषि पर्यवेक्षक व सहायक कृषि अधिकारियों के सभी पद भरे गए हैं। जबकि पूर्व में 70 से 80 प्रतिशत पद खाली ही रहे हैं।

कृषि आयुक्त से

भास्कर : एक साथ 77 अधिकारियों काे जैसलमेर लगाने के पीछे क्या वजह है ?

आयुक्त : जैसलमेर में टिड्डी का प्रकोप है। इस पर कंट्रोल करने के लिए ऐसा किया गया है।

भास्कर : वर्तमान में क्या स्थिति है।

आयुक्त : वर्तमान में स्थिति कंट्रोल में है। लेकिन यहां प्रजनन का अनुकूल वातावरण होने तथा पाकिस्तान व अफगानिस्तान में टिड्डी का प्रकोप होने तथा वहां से जैसलमेर आने की संभावना को देखते हुए इन अधिकारियों को जैसलमेर लगाया गया है।

भास्कर : कहीं इन अधिकारियों को सजा देने की नीयत से तो ऐसा नहीं किया गया है।

आयुक्त : ऐसी कोई बात नहीं है। यह तबादले पूर्ण रूप से टिड्डी प्रकोप को देखते हुए किए गए हैं।

भास्कर सवाल जवाब

X
Jaisalmer News - rajasthan news 77 officers transferred from across the state to rescue the locusts
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना