• Hindi News
  • National
  • Pokran News Rajasthan News Data Collected From Transparency Is Making Government Schemes Successful

पारदर्शिता से संग्रहित डाटा सरकारी योजनाओं को बना रहा है सफल

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जैसलमेर. 13वां सांख्यिकी दिवस के अवसर पर अायाेजित कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारीगण।

भास्कर संवाददाता. जैसलमेर

सांख्यिकी के जन्मदाता प्रो. पी.सी. महालनोबिस द्वारा राष्ट्रीय सांख्यिकी प्रणाली के क्षेत्र एवं आर्थिक नियोजन एवं विकास में दिए गए योगदान के उपलक्ष्य में प्रतिवर्ष 29 जून को सांख्यिकी दिवस का आयोजन किया जाता है। इस कड़ी में इस वर्ष 13वां सांख्यिकी दिवस जिले में हर्षोल्लास के मनाया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उपखंडाधिकारी अजय ने सांख्यिकी के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सांख्यिकी का कार्यक्षेत्र काफी विस्तृत हो गया है। सांख्यिकी विभाग द्वारा विभिन्न विभागों से डाटा प्राप्त कर सरकार को प्रेषित किए जाते हैं। डाटा संग्रहण का कार्य पूर्ण पारदर्शिता के साथ किया जाता है क्योंकि संग्रहित डाटा से सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं का निर्माण तथा मूल्यांकन किया जाता है।

अजय ने बताया कि समस्त विभागों को समय पर शुद्ध डाटा तैयार कर प्रस्तुत किए जाने से सभी योजनाएं सफल हो जाती हैं। मुख्य आयोजना अधिकारी डाॅ. बृजलाल मीणा ने बताया कि प्रो. पी.सी. महालनोबिस का जन्म 29 जून, 1893 में कोलकाता में हुआ था तथा 28 जून, 1972 में मृत्यु हुई थी। प्रो. महालनोबिस के योगदान को याद करने के लिए ही यह आयोजन होता है। मीणा ने कहा के केंद्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों के तहत सांख्यिकी डाटा एकत्रण का कार्य सांख्यिकी कर्मचारी, अधिकारियों द्वारा ही किया जाता है। उन्होंने संवहनीय विकास लक्ष्य 2030 के संबंध में बताया कि वर्ष 2030 तक समस्त भारत से गरीबी को हटाया जाना है। इस दौरान तहसीलदार पोकरण रामसिंह जोधा, तहसीलदार फतेहगढ़ तुलसाराम विश्नोई, मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी पंचायत समिति जैसलमेर बलवीर तिवारी, नायब तहसीलदार चुनाव सत्यप्रकाश खत्री द्वारा भी विचार व्यक्त किए गए। कार्यक्रम में जिले में कार्यरत सांख्यिकी विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

सांख्यिकी के जन्मदाता प्रो. पी.सी. महालनोबिस की जयंती मनाई,
खबरें और भी हैं...