पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jaisalmer News Rajasthan News Dispute Increased From Compounder Doctors Performed On Road Outside Troma Center Agreed After Persuasion

कंपाउंडर से बढ़ा विवाद तो ट्रोमा सेंटर के बाहर रोड पर डॉक्टरों ने किया प्रदर्शन, समझाइश के बाद माने

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले के सबसे बड़े जवाहर अस्पताल में बुधवार सुबह ट्रोमा सेंटर के बाहर डॉक्टरों ने सड़क पर बैठकर प्रदर्शन किया। डॉक्टरों व कंपाउंडर के बीच हुए विवाद के कारण मरीजों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि इमरजेंसी में डॉक्टरों ने सड़क पर ही मरीजों का उपचार किया, लेकिन कई मरीज बिना जांच करवाए ही बैरंग लौट गए। इधर, डॉक्टरों ने कंपाउंडर और पीएमओ पर आरोप लगाते हुए कहा कि कंपाउंडर व डॉक्टर हमारी नहीं सुन रहे हैं, जबकि कंपाउंडर ने कहा कि डॉक्टर ट्रोमा सेंटर में बेवजह परेशान करते हैं। कंपाउंडर ने पीएमओ से लिखित में शिकायत की। वहीं डॉक्टरों ने कंपाउंडर और पीएमओ द्वारा असहयोग करने का आरोप लगाया है।

जैसलमेर. ट्राेमा सेंटर के बाहर सड़क पर धरना देते चिकित्सक।

ऑपरेशन थियेटर में बुलाकर उलझे, जड़ा थप्पड़ | कंपाउंडर अनोपाराम ने बताया कि मंगलवार को वह ट्रोमा सेंटर में मरीजों का इलाज कर रहा था। इतने में ही ऑपरेशन थिएटर से डॉ. लोकपाल सिंह व डॉ. राजेंद्र प्रसाद गिल ने उसे बुलाया। इसके बाद वह ऑपरेशन थिएटर गया, जहां दोनों उससे उलझ गए। दोनों ने खुद को ऑपरेशन थिएटर में होते हुए उसे ट्रोमा सेंटर में नहीं बैठने की बात कही। इससे विवाद बढ़ गया। इस पर डॉक्टरों ने कंपाउंडर अनोपाराम को थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद उसने पीएमओ डाॅ. जे.आर. पंवार को लिखित में शिकायत दी। इसके बाद डॉक्टरों ने सड़क पर जाकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

कंपाउंडर और पीएमओ नहीं कर रहे सहयोग | डॉक्टरों ने कंपाउंडर अनोपाराम व पीएमओ डॉ. जे.आर. पंवार पर आरोप लगाए कि ये दोनों डॉक्टरों को सहयोग नहीं कर रहे हैं। एक तरफ अनोपाराम डॉक्टरों की बात नहीं मान रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ इस बात की शिकायत जब पीएमओ से कर रहे हaै तो पीएमओ भी उनकी सुनवाई नहीं कर रहे हैं।

सीएमएचओ की मध्यस्थता के बाद सुलझा विवाद| डॉक्टरों द्वारा प्रदर्शन करने तथा पीएमओ डॉ. जे.आर. पंवार द्वारा सुनवाई नहीं करने पर सीएमएचओ डॉ. बी.के बारूपाल ने मध्यस्थता की और कंपाउंडर को ओपीडी में लगाने के लिए पाबंद किया। इसके बाद मामले का समाधान होने पर डॉक्टर काम पर लौट आए।

खबरें और भी हैं...