जैसलमेर में तीन से बढ़कर छह हो सकती है पंचायत समितियां, ग्राम पंचायतें भी बढ़ेंगी

Jaisalmaer News - जिले में पंचायती राज संस्थाओं के परिसीमन की तैयारी शुरू हो रही है। पंचायती राज विभाग ने प्रदेश के सभी जिला...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:40 AM IST
Jaisalmer News - rajasthan news jaisalmer can grow from three to three panchayat committees gram panchayats will also grow
जिले में पंचायती राज संस्थाओं के परिसीमन की तैयारी शुरू हो रही है। पंचायती राज विभाग ने प्रदेश के सभी जिला कलेक्टर्स को गाइडलाइन जारी कर दी है। इसके तहत आगामी दो माह में यह प्रक्रिया पूरी कर राज्य सरकार को अनुमोदन के लिए भिजवाई जानी है।

गौरतलब है कि गत बार हुए परिसीमन में जैसलमेर पिछड़ गया था। यहां के जनप्रतिनिधियों के प्रयास नाकाफी रहे और जैसलमेर में एक भी समिति की बढ़ोतरी नहीं हुई। हालांकि केवल 12 ग्राम पंचायतों की बढ़ोतरी जरूर हुई थी। जैसलमेर जिले में कई इलाकों से पंचायत समिति बनाने की मांग उठ रही है। अब नए दिशा निर्देशों के आधार पर परिसीमन किया जाना है जिसके तहत जैसलमेर को लाभ हो सकता है।

वर्तमान की तीनों समितियों के दो-दो हिस्से हाे सकते हैं

जानकारी के अनुसार जैसलमेर में तीन पंचायत समितियां और बन सकती है। वर्तमान में तीन समितियां जैसलमेर, सम व सांकड़ा है। जैसलमेर व सांकड़ा में 44-44 ग्राम पंचायतें व सम में 52 ग्राम पंचायतें है। नए दिशा निदेर्शो के अंतर्गत परिसीमन उन्हीं समितियों का होगा जहां 40 से अधिक ग्राम पंचायतें है। ऐसे में तीनों ही समितियों का पुनर्सीमांकन होना तय है। इस दिशा निर्देशों से तीनों के दो दो टुकड़े होने की संभावना है।

इन बड़ी पंचायतों का भी हो सकता है पुनर्सीमांकन

नव सृजन पंचायतों के प्रस्ताव तैयार करने के लिए न्यूनतम आबादी 4 हजार व अधिकतम आबादी 6500 तय की गई है। इसे देखते हुए जैसलमेर की बड़ी ग्राम पंचायतों के टुकड़े हो सकते हैं और करीब 15 से 20 नई ग्राम पंचायतें बन सकती है। मोहनगढ़, नाचना, भारेवाला, डाबला, चांधन, नोख, रामगढ़, सम, डांगरी, लखा, रासला, देवीकोट, झिनझिनयाली, बीदा, रामदेवरा, लाठी, फलसूंड, भणियाणा, भुजर्गगढ़, सांकड़ा, मानासर, रातडिया, डिडाणिया, बांधेवा, बारठका गांव, स्वामीजी की ढाणी, दांतल, ऊजला, जालोड़ा पोकरणा, भैंसड़ा व पदमपुरा बड़ी पंचायतें इनमें से नई ग्राम पंचायतें निकल सकती है।

यह भी हो सकता हे | गाइडलाइन के अनुसार नवसृजित पंचायत समिति में 25 ग्राम पंचायतें या फिर उससे कम भी हो सकती है। उदाहरण के तौर पर जैसलमेर पंचायत समिति में 44 ग्राम पंचायतें है। इसमें से नव सृजित समिति में 25 और पीछे रही 19 पंचायतों में सम समिति की 6 पंचायतें जोड़ी जा सकती है।

X
Jaisalmer News - rajasthan news jaisalmer can grow from three to three panchayat committees gram panchayats will also grow
COMMENT