नृसिंह अवतार में पहुंचे भगवान ने भक्त प्रहलाद को बचाया, हिरण्यकश्यप का वध

Jaisalmaer News - शहर में नृसिंह चतुर्दशी का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर नृसिंह भगवान की शोभा यात्रा का आयोजन किया...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:46 AM IST
Pokran News - rajasthan news lord nirshing reached avtar saved the devotee prahalad the execution of hiranyakashipu
शहर में नृसिंह चतुर्दशी का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर नृसिंह भगवान की शोभा यात्रा का आयोजन किया गया। शोभा यात्रा में शहर के सैकड़ों श्रद्घालु स्त्री पुरूषों ने भाग लेकर नृसिंह अवतार से आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर नृसिंह भगवान के रूप में रामा किशन शर्मा व हिरण्यकश्यप के वेश में जगदीश शर्मा ने लोगों के सामने हिरण्यकश्यप व नृसिंह भगवान के कहानी को जीवंत कर दिया। इस अवसर पर प्रहलाद के रूप में स्वरूप शर्मा ने दृश्य को जीवंत कर दिया। द्वापर युग में भक्त प्रहलाद की भक्ति से खुश होकर भगवान ने हिरण्यकश्यप को मारने के लिए नर सिंह का सामूहिक रूप धारण कर उसका वध किया। हिरण्यकश्यप के द्वारा की गई घोर तपस्या से खुश होकर भगवान ने उसे वरदान दिया था कि उसे न तो नर न जानवर, न आगे से न पीछे से न ऊपर से न नीचे से तथा न तलवार से न धार से उसकी मृत्यु होगी। इसके चलते उसे अभिमान हो गया तथा उसने उत्पात मचाना प्रारंभ कर दिया एवं अपने पुत्र भक्त प्रहलाद द्वारा की जा रही भगवान की भक्ति के कारण उसे मारने की कई योजनाएं बनाई लेकिन प्रहलाद की भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान ने नृसिंह भगवान का रूप धारण कर हिरण्यकश्यप को अपने नाखूनों से नोच कर मृत्यु लोक को पहुंचाया। उसी दिन से वैशाख माह की शुक्ल चतुर्दशी को नृसिंह चतुर्दशी पर्व मनाया जा रहा है।

गाजों बाजों के साथ निकली शोभा यात्रा : मुख्य आयोजक के निवास स्थान से प्रारंभ हुई शोभा यात्रा मुख्य बाजार से होती हुई चार भुजा मंदिर पहुंची। लगभग एक घंटे तक चली इस यात्रा के दौरान साथ चल रहे सैकड़ों श्रद्घालुओं ने धार्मिक नारों से पूरे क्षेत्र को गुंजायमान कर दिया। बीच रास्ते में जगह जगह पर लोगों ने अपने बच्चों को चरण स्पर्श करवाकर नृसिंह भगवान के स्वरूप से आशीर्वाद प्राप्त किया।

धर्म . समाज

पोकरण. नृसिंह चतुर्दशी के अवसर पर निकाली शोभा यात्रा।

शास्त्रोक्त विधि विधान से की पूजा अर्चना

सायंकाल लगभग 6.30 बजे स्थानीय निवासी भूरालाल सोनी के निवास से नृसिंह भगवान की शोभा यात्रा का शुभारंभ किया गया। यात्रा के आयोजक कालूराम सोनी द्वारा शोभा यात्रा के शुभारंभ से पूर्व नृसिंह भगवान की पूर्ण शास्त्रोक्त विधि विधान एवं वेदमंत्रों की ध्वनि के साथ पूजा अर्चना की गई। इस अवसर पर पंडित अजय व्यास के सानिध्य में वेद पाठी ब्राह्मणों द्वारा शतरुद्री का पाठ किया गया। तत्पश्चात सैकड़ों भक्तों की उपस्थिति में भगवान नृसिंह की आरती उतार कर शोभा यात्रा प्रारंभ की।

हिरण्याकश्यप ने मचाया काल्पनिक उत्पात

शोभा यात्रा से लगभग एक घंटे पूर्व हिरण्यकश्यप का रूप बनाकर निकले एक युवक ने पूरे बाजार में काल्पनिक उत्पात मचाया। इस दौरान जो भी व्यक्ति उसके सामने आया उसको प्रतीक स्वरूप कोड़े की चोट मारी। जैसे ही नृसिंह भगवान की सवारी बाजार में पहुंची तो हिरण्यकश्यप ने उन्हें ललकारते हुए चेतावनी दी। कई देर तक चले इस मूक युद्घ के बाद पूर्ण सूर्यास्त से पूर्व नृसिंह भगवान ने हिरण्यकश्यप को चार भुजामंदिर की चौखट पर मार गिराया।

X
Pokran News - rajasthan news lord nirshing reached avtar saved the devotee prahalad the execution of hiranyakashipu
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना