4 साल पूर्व 5 करोड़ में बना सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, अब तक 15 करोड़ लीटर पानी बर्बाद

Jaisalmaer News - जेठवाई रोड पर आरयूआईडीपी द्वारा 7 साल में तैयार किए गए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का अभी तक पूरा उपयोग नहीं हो रहा है।...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:50 AM IST
Jaisalmer News - rajasthan news sewerage treatment plant made in 5 million years ago so far 15 million liters of wastewater wasted
जेठवाई रोड पर आरयूआईडीपी द्वारा 7 साल में तैयार किए गए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का अभी तक पूरा उपयोग नहीं हो रहा है। जिस उद्देश्य से यह प्लांट बनाया गया था उस ओर अभी तक ध्यान ही नहीं दिया जा रहा है। करीब चार साल पहले 5 करोड़ का यह प्लांट बनकर तैयार हो गया था। चार साल के दौरान इसमें शहर की सीवरेज लाइन का करीब 15 करोड़ लीटर दूषित पानी यहां पहुंचा भी, जिसे शोधित कर पुन: उपयोग के लिए तैयार किया गया, लेकिन सप्लाई की पुख्ता व्यवस्था नहीं होने से यह पानी या तो जमीन ने सोख लिया या फिर धूप में भाप बनकर उड़ गया।

अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि यदि ऐसे ही डिस्पोजल करना था तो 5 करोड़ रुपए क्यों खर्च किए गए। दूर-दराज के इलाके में पानी छोड़ देते तो खाद भी बन जाती है और पानी ऐसे ही सूख जाता। दूसरी तरफ हकीकत यह है कि इस पानी को पुन: उपयोग करना इस प्लांट का उद्देश्य था, लेकिन यह उद्देश्य पूरा नहीं हो रहा है।

जैसलमेर में पिछले कुछ सालों से पर्याप्त बरसात नहीं होने से किसानों के सामने समस्या खड़ी हो गई है। सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद सीवरेज के पानी को रि-साइकिल कर उसे खेतों में सब्जियां उगाने या खाद बनाने का काम किया जाना था, लेकिन पिछले चार साल में सीवरेज के पानी को रि-साइकिल करने के बाद ना तो किसानों को दिया गया और ना ही खाद बनाई गई।

क्षमता 1 करोड़ लीटर, रोज पहुंच रहा है 15 लाख लीटर पानी

सदुपयोग होता तो नहीं रहती पानी की किल्लत






5 करोड़ रुपए की लागत से बना था प्लांट

जेठवाई रोड पर ट्रीटमेंट प्लांट करीब 5 करोड़ रुपए की लागत से बना था। इसमें प्रतिदिन सीवरेज एक करोड़ लीटर पानी शुद्ध किया जा सकता है, लेकिन अधिकारियों की उदासीनता के चलते प्लांट तक पूरा पानी ही नहीं पहुंच रहा है और जो पानी पहुंच रहा है उसका सही उपयोग हो रहा है, जिससे प्लांट का उपयोग नहीं हो पा रहा है।


जेठवाई रोड पर बने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता 1 करोड़ लीटर प्रतिदिन की है, जबकि जैसलमेर में रोजाना 50 से 60 लाख लीटर दूषित पानी ही निकल रहा है। अभी तक सभी घरों के कनेक्शन सीवरेज में नहीं होने से अभी तक 1 करोड़ लीटर क्षमता वाले प्लांट में 10 से 15 लाख लीटर ही पानी पहुंच रहा है।


X
Jaisalmer News - rajasthan news sewerage treatment plant made in 5 million years ago so far 15 million liters of wastewater wasted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना