दिव्यांगों के प्रति विशेष ध्यान रखने की जरूरत : सचिव तंवर

Jaisalmaer News - जैसलमेर. अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस पर सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देती बालिकाएं। जैसलमेर | जिला विधिक सेवा...

Dec 04, 2019, 10:00 AM IST
जैसलमेर. अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस पर सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देती बालिकाएं।

जैसलमेर | जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में मंगलवार को समग्र समाज विकास समिति द्वारा संचालित मानसिक विमंदित पुनर्वास गृह परिसर में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया। इसमेंं बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। शिविर में प्राधिकरण के सचिव शरद तंवर ने संबोधित करते हुए कहा कि दिव्यांग बच्चों के प्रति हमारी विशेष जिम्मेदारी बनती है कि इनके प्रति सहानुभूति पूर्वक बर्ताव हो व उन्हें अपेक्षित सहयोग दिया जाए। उन्होंने कहा कि यदि ऐसे बालकों को उचित देखभाल एवं विशेष ध्यान मिले तो ये भी आगे बढ़ सकते हैं भले ही इनके सीखने या कार्यक्षमता अन्य की तुलना में थोड़ी धीरे है। अभियान के तहत बाल विवाह निषेध अधिनियम की जानकारी देते हुए अवगत कराया गया कि इस कानून के तहत किसी बालिका की उम्र 18 वर्ष से कम एवं बालक की उम्र 21 वर्ष से कम हो तो ऐसा विवाह बाल विवाह की श्रेणी में आता है।

कम उम्र में बच्चों की शादी करने से उनके स्वास्थ्य, मानसिक विकास एवं खुशहाल जीवन पर प्रतिकूल असर पड़ता है। ऐसे में बाल विवाह जैसी कुरीति को रोकना प्रत्येक सजग नागरिक का दायित्व बनता है। शिविर में अधिवक्ता महेश माहेश्वरी एवं शैतान माली ने भी अपने विचार व्यक्त किए तथा सभी उपस्थितों से आह्वान किया कि उनके ध्यान में आने वाली ऐसी किसी भी घटना की जानकारी वे जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, पुलिस व सीधे मजिस्ट्रेट कार्यालय में दे सकते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना