एक साल से आधे शहर में हो रही दूषित पानी की सप्लाई, शहरवासियों को बीमारियों का खतरा

Jaisalmaer News - स्वर्णनगरी में अब गर्मी का मौसम शुरू हो गया है। इसके साथ ही अब पानी को लेकर हाहाकार भी शुरू हो जाएगा। लेकिन गर्मी...

Feb 15, 2020, 09:06 AM IST
Jaisalmer News - rajasthan news supply of contaminated water in half of the city for one year residents risk of diseases

स्वर्णनगरी में अब गर्मी का मौसम शुरू हो गया है। इसके साथ ही अब पानी को लेकर हाहाकार भी शुरू हो जाएगा। लेकिन गर्मी का मौसम शुरू होने को लेकर नगर परिषद व जलदाय विभाग के अफसर गंभीर नहीं है।

आधे शहर को सूलीडूंगर से पानी की सप्लाई की जाती है लेकिन सूलीडूंगर पर बनी पानी की टंकियों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पानी की एक टंकी की तो छत पूरी तरह से टूटकर गिर गई है। वहीं वह टंकी पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है। इसके लिए नगर परिषद द्वारा पास में ही में एक नई टंकी का निर्माण करवाया गया है लेकिन अभी तक उसका उपयोग शुरू नहीं किया गया है। इससे बिना छत की जर्जर टंकी का गंदा पानी पूरे शहर में सप्लाई किया जा रहा है। हालांकि अधिकारियों के दावे के अनुसार शहर में गजरूप सागर फिल्टर प्लांट से नहरी पानी को साफ करने के बाद ही सप्लाई किया जा रहा है लेकिन इन जर्जर टंकियों की सफाई व ऊपर से खुला होने को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ऐसे में शहरवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

कभी भी गिर सकती है जर्जर टंकी, पानी को लेकर मचेगा हाहाकार

सूलीडूंगर स्थित जर्जर टंकी कभी भी भरभराकर गिर सकती है। जिससे कभी भी हादसा हो सकता है। इसके साथ ही टंकी के गिरने से जहां हादसा घटित हो सकता है वहीं दूसरी तरफ इस टंकी से आधे शहर को होने वाली सप्लाई भी पूरी तरह से बाधित हो जाएगी। जिससे इस गर्मी के मौसम में आमजन को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।


-विजय कुमार, स्थानीय निवासी


खुली टंकी में कई जीव जंतु मरे, स्वच्छ पानी का दावा खोखला

सूलीडूंगर स्थित जर्जर पानी की टंकी की छत पहले ही गिर चुकी है। जिससे टंकी में कई प्रकार के कचरे व जीव जंतुओं का विचरण हो रहा है। वहीं कई जीव जंतु टंकी की खुली छत के कारण गिरकर मर गए है। जिससे शहर वासियों को नगर परिषद द्वारा गंदे व विषैले पानी की सप्लाई की जा रही है। नगर परिषद के कर्मचारियों द्वारा शहवासियों के स्वास्थ्य के साथ खुलेआम खिलवाड़ किया जा रहा है। लेकिन इसे रोकने वाला कोई नहीं है।

{नई टंकी बनकर तैयार, आखिर कब लेंगे उपयोग | नगर परिषद द्वारा लाखों रुपए खर्च कर सूलीडूंगर पर नई टंकी का निर्माण करवाया गया है, लेकिन अधिकारियों द्वारा अब तक उस टंकी का उपयोग शुरू नहीं किया गया है। नगर परिषद के अधिकारी टंकी के गिरने का इंतजार कर रहे हंै। **

सूलीडूंगर स्थित एक टंकी की छत को गिरे करीब एक साल से ज्यादा का समय हो गया है। लेकिन इसके बावजूद उस टंकी से शहर में पेयजल सप्लाई की जा रही है। जबकि उस टंकी की यह स्थिति है कि उसमें काई जमने के साथ ही कई प्रकार के जीव जंतु भी पड़े है। अधिकारियों द्वारा आम आदमी की सेहत के साथ सीधा खिलवाड़ किया जा रहा है लेकिन उन पर कार्रवाई करने वाला कोई नहीं है।

एक साल पहले गिरी थी टंकी की छत, जिम्मेदार लापरवाह, गंदा पानी पीने को मजबुर लोग

जैसलमेर. सूली डूंगर स्थित जर्जर पानी की टंकी।

X
Jaisalmer News - rajasthan news supply of contaminated water in half of the city for one year residents risk of diseases
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना