जालौर

--Advertisement--

नगरपरिषद पहुंची केंद्रीय टीम, जांचे कार्यों के दस्तावेज

जालोर. नगरपरिषद में स्वच्छता की रिपोर्ट बनाती केन्द्रीय टीम। ये खामियां, जिनसे कट सकते हैं हमारे नंबर

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:05 AM IST
जालोर. नगरपरिषद में स्वच्छता की रिपोर्ट बनाती केन्द्रीय टीम।

ये खामियां, जिनसे कट सकते हैं हमारे नंबर






दोपहर में टीम पहुंची तो आयुक्त ने शहर को घोषित कर दिया ओडीएफ

जालोर| स्वच्छ भारत मिशन के तहत सर्वेक्षण के लिए गुरुवार दोपहर केंद्रीय टीम जालोर नगरपरिषद पहुंची। भास्कर द्वारा मिशन के तहत किए गए कार्यों के बारे में जानकारी लेने पर एसबीएम विभाग के एक सदस्य ने टीम सदस्यों की मौजूदगी में जानकारी दी कि अब तक शौचालय निर्माण के लिए प्राप्त 1682 आवेदनों में से 1036 लोगों के यहां शौचालय निर्माण का कार्य पूरा हो चुका है। वहीं 301 घरों में शौचालयों का निर्माण कार्य प्रगति पर है तथा 64 लोगों के घरों पर शौचालय निर्माण के लिए टेंडर जारी किए गए हैं। वहीं 291 लोगों के आवेदन निरस्त किए गए हैं। ऐसे में सवाल यह उठता है कि टीम आने के पांच से छह घंटों के भीतर ही इन शौचालयों का निर्माण कैसे हो गया? वहीं दोपहर के समय भास्कर को दी गई जानकारी के अनुसार शहर के 30 वार्डों में से 27 वार्ड ही ओडीएफ बताए गए थे, तो फिर बाद में के छह घंटों में 3 वार्ड कैसे ओडीएफ हो गए? इस संबंध में आयुक्त सौरभ कुमार जिंदल से पूछने पर उन्होंने बताया कि जिन वार्डों में 80 प्रतिशत तक शौचालयों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका होता है, उस वार्ड को ओडीएफ घोषित किया जा सकता है।

X
Click to listen..