हादसों में घायल 15 लोगों को अस्पताल लाए, एक युवक की मौत डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाकर परिजनों ने किया हंगामा

Jalore News - बांगड़ अस्पताल अब मेडिकल कॉलेज से संबद्ध है, लेकिन इसके बावजूद अस्पताल की अव्यवस्थाओं में सुधार नहीं हाे रहा है।...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:51 AM IST
Khara News - rajasthan news 15 people injured in accidents brought to hospital death of a young man accusing the doctors of negligence
बांगड़ अस्पताल अब मेडिकल कॉलेज से संबद्ध है, लेकिन इसके बावजूद अस्पताल की अव्यवस्थाओं में सुधार नहीं हाे रहा है। खासतौर पर अस्पताल के ट्रोमा वार्ड के तो हालात यह है कि घटना-दुर्घटना में घायलों की मरहम पट्टी कर उनको सीधा हाई सेंटर के लिए रेफर कर दिया जाता है। ट्रोमा वार्ड में प्रभावितों को समय पर उपचार नहीं मिलने से मरीजों के परिजन आए दिन हंगामा मचा रहे हैं। गुरुवार को भी ऐसे ही हंगामा के एक घंटे में दो बार मामले सामने आए। घटनाक्रम के अनुसार गुरुवार दाेपहर साढ़े तीन से साढ़े चार बजे के बीच मारपीट व सड़क हादसे में एक साथ 15 घायलों को बांगड़ अस्पताल के ट्रोमा वार्ड में भर्ती कराया गया। इनमें रामासिया के पास सड़क हादसे में घायल युवक को जोधपुर रेफर किया गया, जबकि उसके बहनोई ने दम तोड़ दिया। भांवरी के निकट जीप सड़क हादसे में घायल महिला व युवक को भी जोधपुर रेफर किया। इसी दौरान सरदारपुरा गांव में मारपीट में घायल 16 में से 11 लोगों को भी अस्पताल पहुंचाया गया। रामासिया व भांवरी हादसे में घायलों व मृतक के परिजनों ने अस्पताल में जोरदार हंगामा मचाया। उनका आरोप था कि घायलों के उपचार के लिए वार्ड में डॉक्टर देरी से पहुंचे। करीब आधे घंटे तक ट्रोमा वार्ड में हंगामे की स्थिति रही, जिसे पुलिस ने मौके पर पहुंच किसी तरह समझाइश कर शांत किया। इस पूरे घटनाक्रम में अस्पताल प्रबंधन का पक्ष जानने के लिए पीएमओ डॉ. एडी राव को कई बार संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव ही नहीं किया।

शादी समाराेह में जा रहे थे, हादसे में बहनोई की मौत : गुरुवार दिन में हाथलाई निवासी रुघनाथराम पुत्र सांवलराम भाट अपने बहनोई घीसूलाल उर्फ गुड्डू पुत्र मोतीलाल निवासी सुभाष नगर बी हाल सोसायटी नगर पाली के साथ बाइक पर गांव में रिश्तेदार की शादी में भाग लेने हाथलाई की ओर जा रहे थे। रामासिया गांव में मेडिकल कॉलेज के निकट पीछे से आ रही जीप ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में घायल दोनों साला-बहनोई को परिवार के लोग इमरजेंसी 108 में अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने घीसूलाल को मृत घोषित कर दिया, जबकि रुघनाथ को रेफर किया। इस बीच रोहट थाना क्षेत्र के भांवरी गांव में लोडिंग जीप पलटने से घायल खुण्डावास निवासी लच्छी कंवर प|ी किशनसिंह व शेषाराम पुत्र लक्ष्मण सरगरा घायल हो गए। इन्हें भी अस्पताल लाया गया। इस दौरान रोहट के सरदारपुरा की ढाणी में दो पक्ष भिड़ गए, यहां से 11 घायलों को बांगड़ अस्पताल लाया। एक साथ 15 घायल यहां पहुंचने से वार्ड में हड़कंप मच गया। घायलों को जब चिकित्सक नहीं दिखे तो उन्होंने हंगामा कर दिया। घायल लच्छी कंवर को भी जोधपुर रेफर किया गया।

अव्यवस्था का सबसे बड़ा उदाहरण यह तस्वीर भी : अस्पताल में चार जनरेटर, सभी खराब, टॉर्च की रोशनी में करना पड़ा उपचार

भास्कर संवाददाता | पाली

बांगड़ अस्पताल अब मेडिकल कॉलेज से संबद्ध है, लेकिन इसके बावजूद अस्पताल की अव्यवस्थाओं में सुधार नहीं हाे रहा है। खासतौर पर अस्पताल के ट्रोमा वार्ड के तो हालात यह है कि घटना-दुर्घटना में घायलों की मरहम पट्टी कर उनको सीधा हाई सेंटर के लिए रेफर कर दिया जाता है। ट्रोमा वार्ड में प्रभावितों को समय पर उपचार नहीं मिलने से मरीजों के परिजन आए दिन हंगामा मचा रहे हैं। गुरुवार को भी ऐसे ही हंगामा के एक घंटे में दो बार मामले सामने आए। घटनाक्रम के अनुसार गुरुवार दाेपहर साढ़े तीन से साढ़े चार बजे के बीच मारपीट व सड़क हादसे में एक साथ 15 घायलों को बांगड़ अस्पताल के ट्रोमा वार्ड में भर्ती कराया गया। इनमें रामासिया के पास सड़क हादसे में घायल युवक को जोधपुर रेफर किया गया, जबकि उसके बहनोई ने दम तोड़ दिया। भांवरी के निकट जीप सड़क हादसे में घायल महिला व युवक को भी जोधपुर रेफर किया। इसी दौरान सरदारपुरा गांव में मारपीट में घायल 16 में से 11 लोगों को भी अस्पताल पहुंचाया गया। रामासिया व भांवरी हादसे में घायलों व मृतक के परिजनों ने अस्पताल में जोरदार हंगामा मचाया। उनका आरोप था कि घायलों के उपचार के लिए वार्ड में डॉक्टर देरी से पहुंचे। करीब आधे घंटे तक ट्रोमा वार्ड में हंगामे की स्थिति रही, जिसे पुलिस ने मौके पर पहुंच किसी तरह समझाइश कर शांत किया। इस पूरे घटनाक्रम में अस्पताल प्रबंधन का पक्ष जानने के लिए पीएमओ डॉ. एडी राव को कई बार संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव ही नहीं किया।

शादी समाराेह में जा रहे थे, हादसे में बहनोई की मौत : गुरुवार दिन में हाथलाई निवासी रुघनाथराम पुत्र सांवलराम भाट अपने बहनोई घीसूलाल उर्फ गुड्डू पुत्र मोतीलाल निवासी सुभाष नगर बी हाल सोसायटी नगर पाली के साथ बाइक पर गांव में रिश्तेदार की शादी में भाग लेने हाथलाई की ओर जा रहे थे। रामासिया गांव में मेडिकल कॉलेज के निकट पीछे से आ रही जीप ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में घायल दोनों साला-बहनोई को परिवार के लोग इमरजेंसी 108 में अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने घीसूलाल को मृत घोषित कर दिया, जबकि रुघनाथ को रेफर किया। इस बीच रोहट थाना क्षेत्र के भांवरी गांव में लोडिंग जीप पलटने से घायल खुण्डावास निवासी लच्छी कंवर प|ी किशनसिंह व शेषाराम पुत्र लक्ष्मण सरगरा घायल हो गए। इन्हें भी अस्पताल लाया गया। इस दौरान रोहट के सरदारपुरा की ढाणी में दो पक्ष भिड़ गए, यहां से 11 घायलों को बांगड़ अस्पताल लाया। एक साथ 15 घायल यहां पहुंचने से वार्ड में हड़कंप मच गया। घायलों को जब चिकित्सक नहीं दिखे तो उन्होंने हंगामा कर दिया। घायल लच्छी कंवर को भी जोधपुर रेफर किया गया।

गुरुवार रात मौसम बिगड़ने के साथ ही शहरभर में बिजली आपूर्ति भी ठप हो गई। इसके चलते बांगड़ अस्पताल में भी अंधेरा पसर गया। हैरत की बात है कि अस्पताल में चार जनरेटर है, लेकिन चोरों ही बंद पड़े हैं। रात साढ़े दस बजे बिजली की आंख मिचौली के बीच ट्रोमा सेंटर में गंभीर मरीजों का भी टॉर्च की रोशनी में उपचार करना पड़ा। ऐसे में एक घंटे से ज्यादा समय तक मरीजों के साथ स्टाफ को भी परेशानी झेलनी पड़ी।

सामान्य प्रसव में बच्ची को जन्म देने के बाद प्रसूता की मौत से भड़के परिजन

बांगड़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बुधवार रात एक प्रसूता की उपचार के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने अस्पताल में हंगामा किया। उन्होंने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जांच की मांग करते हुए गुरुवार को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में आरोप है कि सामान्य रूप से प्रसव से बच्ची को जन्म देने के बाद डॉक्टर की लापरवाही से प्रसूता को देर रात जोधपुर रेफर कर दिया गया। ज्ञापन में लापरवाह डॉक्टर व स्टाफ के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की मांग की गई है। गुरुवार को परिजनों की ओर से कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में बताया कि बुधवार रात पौने ग्यारह बजे रामदेव रोड पंचम नगर निवासी प्रसूता तारा पुत्री शिवलाल राजपुरोहित को अस्पताल में भर्ती कराया। उसने एक बच्ची को जन्म दिया। इसके बाद उसे सामान्य वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। महिला के खून की कमी होने पर चिकित्सकों को बुलाने को कहा, लेकिन कोई नहीं आया। देर रात महिला चिकित्सक आई और खून मंगवाया। उन्होंने खून भी उपलब्ध करवा दिया, लेकिन चिकित्सक ने खून चढ़ाने के बजाय उसे जोधपुर रेफर कर दिया, जिससे रास्ते में महिला का दम टूट गया। इस पर परिजनों ने अस्पताल पहुंच काफी देर तक हंगामा किया। परिजनों ने महिला डॉक्टर व स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

Khara News - rajasthan news 15 people injured in accidents brought to hospital death of a young man accusing the doctors of negligence
X
Khara News - rajasthan news 15 people injured in accidents brought to hospital death of a young man accusing the doctors of negligence
Khara News - rajasthan news 15 people injured in accidents brought to hospital death of a young man accusing the doctors of negligence
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना