• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jalore
  • Raniwara News rajasthan news 355 checks of gargi awardees were not received by the education department carelessness of the daughters did not get 17 lakh rupees
विज्ञापन

गार्गी पुरस्कार के 355 चैक हुए अवधिपार, शिक्षा विभाग की लापरवाही से बेटियों को नहीं मिले 17 लाख रुपए

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 05:45 AM IST

Jalore News - भास्कर न्यूज | जालोर/रानीवाड़ा बालिका शिक्षा फाउंडेशन की ओर से बोर्ड की परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक अंक आने पर...

Raniwara News - rajasthan news 355 checks of gargi awardees were not received by the education department carelessness of the daughters did not get 17 lakh rupees
  • comment
भास्कर न्यूज | जालोर/रानीवाड़ा

बालिका शिक्षा फाउंडेशन की ओर से बोर्ड की परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक अंक आने पर बेटियों को दिए जाने वाले गार्गी पुरस्कार में शिक्षा विभाग के अधिकारियों समेत जिम्मेदारों की भारी लापरवाही सामने आई है। बेटियों को प्रोत्साहन राशि के रूप में मिलने वाले चेक जिम्मेदारों के पास ही पड़े रहे। ऐसे में जिले के 355 चेक अवधिपार हो गए। जिनकी राशि 17 लाख रुपए होती है। चेक के लिए बेटियों ने भी जिम्मेदारों के पास चक्कर लगाए। लेकिन जिम्मेदारों ने चेक को बेटियों को नहीं दिए। अब चेक अवधि पार हो गए तो शिक्षा विभाग के आलाधिकारियों ने बालिका शिक्षा फाउंडेशन को चेक भेजे। दरअसल, जिले के रानीवाड़ा ब्लॉक में 52 बेटियों को गार्गी पुरस्कार में मिलने वाली राशि का चेक नहीं मिला है।

जान बुझकर जानकारी नहीं दी


समय पर बेटियों तक नहीं पहुंचाए चेक, अब असमंजस में शिक्षा विभाग

होनहार बेटी की प्रोत्साहन राशि के उम्मीदों पर फिरा पानी

रानीवाड़ा के डूंगरी गांव की होनहार बेटी निरमा पुत्री चुन्नीलाल ने 12वीं बोर्ड में सत्र 2017-18 में 77 प्रतिशत अंक हासिल किया। ऐसे में गार्गी पुरस्कार के लिए के लिए बेटी पात्र हो गई। लेकिन उनको अब तक गार्गी पुरस्कार के मिलने वाली राशि का चेक नहीं मिला।निरमा ने बाकायदा नोडल केन्द्र राउमावि रानीवाड़ा कलां पर आवेदन मय जरूरी दस्तावेज जमा करवाए। बाद में दूसरों को चौक मिलने पर निरमा ने नोडल केन्द्र पर चेक के लिए संपर्क करने पर बताया कि निरमा के नाम से कोई चेक नहीं आया है। नोडल अधिकारी ने जालोर डीईओं कार्यालय से संपर्क करने का कहा। जालोर संपर्क करने पर बताया गया कि चेक जयपुर से सीधे नोडल केन्द्र आएगा। इसमें जालोर कार्यालय का कोई रोल नहीं है। ऐसे में 31 दिसम्बर 2018 को राजस्थान सरकार के संपर्क पोर्टल पर परिवाद दाखिल किया गया। बाद में परिवाद के निस्तारण के संदर्भ में कहा गया कि जिला शिक्षा कार्यालय के माध्यम से चेक के लिए आवेदन करे। इस तरह 1 फरवरी को जिला शिक्षा कार्यालय में आवेदन प्रस्तुत किया गया। जिसका कोई असर नहीं हुआ है। नोडल केन्द्र के प्रभारी की शिथिलता मानी जाए या कुछ ओर निरमा का चेक रानीवाड़ा नोडल केन्द्र पर धूल छांटता रहा। निरमा ने कई बार चेक के बारे में जानकारी चाही पर जवाब नहीं मिला। अब वो चेक अवधिपार हो गए है। परिवाद दाखिल होने के बाद महकमे की आंखें खुली है और अवधि बढ़ाने के लिए अब जयपुर चेक लौटाए। लेकिन वहां से वापस भेज दिया गया है।

शिक्षा विभाग के अधिकारियों की लापरवाही की हकीकत

शिक्षा विभाग कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक अवधि पार चेक को बालिका शिक्षा फाउंडेशन जयपुर भिजवा दिए थे। लेकिन वहां से चेक को वापस कर दिए है। हालांकि कार्यालय की ओर से कहा गया है कि अब वे वापस एक्सल सीट बनाकर भेज रहे है। ताकि बालिकाओं की प्रोत्साहन राशि मिल सके। 25 दिसंबर को चेक वितरण करने की सूचना मिली। छात्राओं को चेक की वैद्यता 4 जनवरी तक ही थी। ऐसे में कम समय के कारण कई बालिकाओं के खाते भी नहीं खुल पाए थे। जिससे चेक अवधि पार हो गए।

अधिकारियों ने सारा जिम्मा परिजनों पर डाला


चेक अवधि पार हो गए थे, कोई लेने नहीं आया


X
Raniwara News - rajasthan news 355 checks of gargi awardees were not received by the education department carelessness of the daughters did not get 17 lakh rupees
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें