• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jalore
  • Jalore News rajasthan news after giving the final salute at jalore police line the body was sent to the ancestral village

जालोर पुलिस लाइन में अंतिम सलामी देने के बाद शव पैतृक गांव रवाना किया

Jalore News - चुनाव ड्यूटी में तैनात मेवाड़ भील कोर बटालियन के जवान की कार्बाइन तैयार करते गोली चलने से माैत पंचायतीराज...

Jan 24, 2020, 08:50 AM IST
Jalore News - rajasthan news after giving the final salute at jalore police line the body was sent to the ancestral village
चुनाव ड्यूटी में तैनात मेवाड़ भील कोर बटालियन के जवान की कार्बाइन तैयार करते गोली चलने से माैत

पंचायतीराज संस्थाओंं के दूसरे चरण में सरपंच तथा वार्ड पंचों के चुनाव में ड्यूटी पर पहुंचे मेवाड़ भील कोर बटालियन के हेड कांस्टेबल हिम्मतसिंह की कार्बाइन राइफल से गोली चलने से उसकी माैके पर ही मौत हो गई। जवान चुनाव में ड्यूटी पर जाने से पहले अपनी कार्बाइन को तैयार कर रहा था। इस दौरान हुए इस हादसे में गोली उसके सिर के आरपार हाे गई। जानकाराें का कहना है कि गोली की स्पीड इतनी तेज थी कि हेड कांस्टेबल की खोपड़ी से आरपार निकलने के बाद गाेली कमरे की दीवार से जा टकराई, इससे दीवार पर भी प्लास्टर उखड़ने से उसमें भी छेद हो गया। जवान का शव जालोर के सरकारी अस्पताल लाया गया। यहां से पोस्टमार्टम कराने के बाद राजकीय सम्मान के साथ उसके पैतृक गांव के लिए रवाना किया गया है।

जानकारी के अनुसार जालोर पंचायत समिति के ऊण ग्राम पंचायत के बूथ पर मेवाड़ भील कोर बटालियन टीम के पांच सदस्यों की ड्यूटी थी। बुधवार तड़के करीब 3 बजे ड्यूटी काे लेकर कार्बाइन तैयार कर रहा था, इस दौरान अचानक गोली चलने से हेड कांस्टेबल पीथमपुरा, नई हवेली कानोड़, उदयपुर निवासी हिम्मतसिंह(59) पुत्र किशनसिंह राजपूत की मौत हो गई। घटना के बाद साथियों ने उच्चाधिकारियों को इसकी सूचना दी। इस पर आहोर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव कब्जे में लेकर जालोर मोर्चरी में लाया गया। पुलिस ने मृतक के परिजनों को सूचना दी। सूचना पर उदयपुर से मृतक के परिजन जालाेर पहुंचे। यहां पोस्टमार्टम करवाने के बाद पुलिस लाइन में एसपी हिम्मत अभिलाष टांक की मौजूदगी में जवान काे अंतिम सलामी के बाद शव उदयपुर के लिए रवाना किया।

हादसा
भास्कर

विशेष

हर शुक्रवार बड़ी खबर

ऐतिहासिक सफलता के 23 वर्ष

दो साथियों के साथ 3 बजे ड्यूटी पर जाना था, इससे थोड़ी देर पहले हादसा

मृतक के साथियों ने बताया सरपंच चुनाव के बाद रात के समय बूथ पर दो-दो पारियों में ड्यूटी लगी थी। पहली पारी के दौरान हथियार के साथ भैरुलाल व लाठी के साथ रामेश्वर मीणा की ड्यूटी लगी, इनकी 3 बजे ड्यूटी पूरी हो गई थी। इसके बाद द्वितीय पारी में 3 बजे से हथियार के साथ हिम्मतसिंह व लाठी के साथ सुरेशचंद्र व सज्जनसिंह को ड्यूटी पर जाना था।

32 से 34 राउंड भर सकते हैं कार्बाइन में, 380 से 395 मीटर प्रति सैकंड की गति से चलती है गोली

जालोर. कमरे में गोली चलने के बाद मृत पड़ा हैड कांस्टेबल।

आंख के ऊपर लगी गोली, सिर के दाहिने भाग से आर-पार निकली

गोली हिम्मतसिंह के आंख के ऊपर भौंह में जाकर लगी, जो सिर के दाहिने भाग से निकलते हुए कमरे की दीवार से टकराई। साथी कांस्टेबलों ने देखा तब तक हिम्मतसिंह के सिर से खून बह रहा था। ऊण ग्राम पंचायत के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के कक्षा चौथी के कमरे में यह जवान सो रहे थे। उनमें सबसे पहला ही बिस्तर हिम्मतसिंह का था।

जानकारों का कहना है कि कार्बाइन राइफल में 34 राउंड भर सकते हैं। हालांकि अधिकतर इसमें केवल 32 राउंड ही भरा जाता है। इस राइफल से गोली निकलने के बाद 380 से 395 मीटर प्रति सैकंड की गति से चलती है।

चुनावों को देखते हुए भेजा था जालोर, ऊण में लगी थी चुनाव ड्यूटी

पंचायत चुनाव को लेकर मेवाड़ भील कोर के जवानों की जहां अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर हथियार के साथ ड्यूटी लगाई गई थी। इसमें ऊण ग्राम पंचायत में पांच सदस्यों की ड्यूटी लगाई। इसमें मृतक हिम्मतसिंह ही इनके प्रभारी थे। पंचायत चुनाव से पहले आम चुनाव के दौरान ही वे जालोर आ गए थे। गुरुवार को उप सरपंच के चुनाव के बाद उन्हें वापस जाना था।

दिसंबर में हिम्मतसिंह सेवानिवृत्त होने वाले थे, इससे पहले ही मौत आ गई

एमबीसी में कार्यरत 59 वर्षीय मृतक उदयपुर जिले के नई हवेली पीथमपुरा, कानोड़ निवासी हैं। दिसंबर में उनकी सेवा भी पूर्ण होने वाली थी। पुलिस में 60 वर्ष की उम्र पूर्ण होने पर सेवानिवृत्त कर दिया जाता है।

दो पुत्रियां व एक पुत्र, सब शादीशुदा, तीन माह पहले हादसे में बेटे का भी हाथ टूटा

मृतक हिम्मतसिंह राजपूत के दो पुत्रियां व एक पुत्र हैं, सबकी शादी हो चुकी हैं। उनका पुत्र पहले महाराष्ट्र में नौकरी करता था, जिसके बाद अब कुछ वर्षों से अपने गांव में ही इलेक्ट्रॉनिक की दुकान चलाता हैं। तीन माह पहले उनका पुत्र चंद्रभान भी सड़क हादसे में घायल हो गया था। इस हादसे में उसका एक हाथ टूट गया। गुरुवार को जब शव लेने पहुंचा तो उसके हाथों पर पट्टी भी बंधी हुई थी।

शाम 7 बजे बेटे-बहन से फोन पर की बात बोले हमने शांतिपूर्ण मतदान करवा दिया

मतदान समापन होने के बाद मृतक हिम्मतसिंह ने अपने पुत्र चंद्रभानसिंह व बहन से फोन पर बातचीत कर परिवार के समाचार लिए। शव लेने पहुंचे मृतक के पुत्र चंद्रभानसिंह ने बताया कि शाम 7 बजे पापा का फोन आया था, बोले की हमने जालोर में शांतिपूर्ण मतदान करवा दिया है। पापा ने पूरे परिवार के समाचार जाने अाैर कहा कि गुरुवार शाम को जालोर से फ्री हो जाएंगे उसके बाद उदयपुर आऊंगा। बेटे से बातचीत करने के बाद हिम्मतसिंह ने अपनी बहन से भी बात कर उसकी कुशलक्षेम जानी।

करीब से लगी गोली, ब्रेन चीरते हुए निकली


Jalore News - rajasthan news after giving the final salute at jalore police line the body was sent to the ancestral village
Jalore News - rajasthan news after giving the final salute at jalore police line the body was sent to the ancestral village
X
Jalore News - rajasthan news after giving the final salute at jalore police line the body was sent to the ancestral village
Jalore News - rajasthan news after giving the final salute at jalore police line the body was sent to the ancestral village
Jalore News - rajasthan news after giving the final salute at jalore police line the body was sent to the ancestral village
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना