भाजपा का सरकार बनाने से इनकार, राज्यपाल ने शिवसेना काे दिया न्याेता

Jalore News - महाराष्ट्र में चुनाव नतीजाें के 16वें दिन रविवार काे भाजपा ने सरकार बनाने से इनकार कर दिया। भाजपा ने राज्यपाल भगत...

Nov 11, 2019, 06:51 AM IST
महाराष्ट्र में चुनाव नतीजाें के 16वें दिन रविवार काे भाजपा ने सरकार बनाने से इनकार कर दिया। भाजपा ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से कहा कि बहुमत के लिए जरूरी संख्या नहीं हाेने से वह सरकार नहीं बनाएगी। इसके बाद राज्यपाल ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना काे सरकार बनाने के लिए न्याेता दिया है। राजभवन के अधिकारी ने कहा, ‘राज्यपाल ने शिवसेना काे अपने रुख के बारे में जानकारी देने के लिए साेमवार शाम 7:30 बजे का समय दिया है।’ सूत्राें के हवाले से खबर है कि राकांपा ने उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने की शर्त पर शिवसेना काे समर्थन देने की बात कही है। राकांपा नेता नवाब मलिक ने कहा है कि हम शिवसेना काे समर्थन दे सकते हैं, लेकिन इसके लिए हमारी शर्त यह है िक पहले वह एनडीए से बाहर अाए। उन्हाेंने कहा कि राकांपा-कांग्रेस वैकल्पिक सरकार बनाने की काेशिश करेंगी। राकांपा नेता शरद पवार पार्टी विधायकाें के साथ साेमवार काे बैठक करेंगे। कांग्रेस ने कहा है िक वह राज्य में राष्ट्रपति शासन नहीं चाहती है।

इससे पहले राज्यपाल के अामंत्रण के मुद्दे पर भाजपा काेर समिति की रविवार दाेपहर काे दाे बार बैठक हुई। इसमें फैसला किया गया कि पार्टी सरकार नहीं बनाएगी। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने सरकार नहीं बना पाने के लिए अपनी गठबंधन सहयाेगी शिवसेना पर अाराेप लगाया अाैर कहा कि विधानसभा चुनावों में जनता ने महागठबंधन को जनादेश देकर सरकार चलाने की जिम्मेदारी दी, लेकिन शिवसेना ने जनादेश का अनादर किया है।



राज्य में 21 अक्टूबर काे हुए चुनाव के नतीजे 24 अक्टूबर काे अाए थे। भाजपा काे 105, शिवसेना काे 56 सीटें मिली थीं। शिवसेना ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की मांग कर रही थी, जिसे भाजपा ने मंजूर नहीं किया। राकांपा काे 54 अाैर कांग्रेस काे 44 सीटें मिली हैं।

जयपुर में ठहराए गए 40 विधायकाें ने विधायक दल का नेता चुनने और किसी दल को समर्थन देने या नहीं देने का फैसला अालाकमान पर छाेड़ा

जयपुर में महाराष्ट्र के विधायकों के बीच मुख्यमंत्री अशाेक गहलोत भी पहुंचे। बाद में विधायक आमेर व अन्य जगह पर घूमने पहुंचे।

खड़गे बोले- शिवसेना को समर्थन देने की बातों में सचाई नहीं

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने कहा कि पार्टी राज्य की जनता पर राष्ट्रपति शासन थाेपे जाने के पक्ष में नहीं है। उन्हाेंने कहा कि नव-निर्वाचित पार्टी विधायक हाईकमान से सलाह लेंगे अाैर उसके अाधार पर फैसला करेंगे। दूसरी ओर, कांग्रेस महासचिव मल्लिकार्जुन खड़गे ने जयपुर में कहा कि जनता ने हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया है। यही फैसला हमारा भह है। शिवसेना को समर्थन देने की बातों में सचाई नहीं है।

किसी भी कीमत पर मुख्यमंत्री शिवसेना का हाेगा : राउत

भाजपा के सरकार बनाने से इनकार करने के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि राज्य में किसी भी कीमत पर मुख्यमंत्री उनकी पार्टी का हाेगा। उद्धव ठाकरे ने पार्टी विधायकों काे इसकी जानकारी दी है। राउत ने सवाल किया कि जब भाजपा सरकार बनाने का दावा ही नहीं कर रही है, ताे उनका मुख्यमंत्री कैसे बनेगा। उन्हाेंने यह भी कहा कि कांग्रेस राज्य (महाराष्ट्र) की दुश्मन नहीं है। सभी पार्टियों के बीच कुछ मुद्दों पर मतभेद रहते हैं। राउत ने फडणवीस पर तंज कसा अाैर उन पर डर की राजनीति करने का अाराेप लगाया।



राउत ने कहा, ‘जब राजनीतिक समर्थन की धमकी देने अाैर मांगने के तरीके काम नहीं करते हैं, ताे यह स्वीकार करने का समय है िक हिटलर मर चुका है अाैर गुलामी के बादल गायब हाे गए हैं।’

आधा दर्जन विधायक ब्रह्मा मंदिर व अजमेर में ख्वाजा के दर पर पहुंचे

अजमेर |
जयपुर में डेरा डाले महाराष्ट्र के विधायकों में से आधा दर्जन विधायक रविवार को महान सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह जियारत को पहुंचे। ये सभी विधायक राजनीतिक सवालों से बचते रहे। इनकी सुरक्षा में दरगाह पुलिस थाना प्रभारी हेमराज की अगुवाई में पुलिस जाप्ता लगा था। विधायकों ने आस्ताना शरीफ पहुंच कर गरीब नवाज की मजार पर मखमल की चादर और अकीदत के फूल पेश किए। जियारत के बाद विधायकों का यह दल पुष्कर पहुंचा। यहां ब्रह्मा मंदिर के दर्शन किए और पूजा अर्चना की। यहां भी मीडिया से ये विधायक बचते रहे।

जयपुर | खरीद-फराेख्त से बचाने के लिए जयपुर लाए गए महाराष्ट्र के करीब 40 विधायकाें की रविवार दाेपहर रिसाेर्ट में बैठक हुई। इसमें विधायक दल के नेता अाैर महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए समर्थन देने या नहीं देने का फैसला कांग्रेस आलाकमान पर छोड़ दिया गया। हालांकि, इस दाैरान शिवसेना काे समर्थन देने पर विधायकाें में मतभेद रहा। कुछ विधायकाें ने शिवसेना काे समर्थन देने काे सिरे से खारिज कर दिया, जबकि कुछ विधायक इसके पक्ष में थे। बैठक के बाद विधायक अलग-अलग ग्रुप में जयपुर व अजमेर सहित अासपास के इलाकाें में सैरसपाटे के लिए निकल गए।



विधायक दल का नेता चुनने के लिए हुई बैठक में महाराष्ट्र कांग्रेस प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे, प्रदेशाध्यक्ष बाला साहब थोराट और वरिष्ठ कांग्रेस नेता विजय वडेट्टिवार के साथ ही राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे भी शामिल रहे। बैठक के बाद मल्लिकार्जुन खड़गे ने मीडिया से कहा कि वे आलाकमान के निर्णय की पालना करेंगे। महाराष्ट्र कांग्रेस प्रभारी खड़गे, प्रदेशाध्यक्ष थोराट के अलावा पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण, अशाेक चव्हाण, नितिन राउत और वरिष्ठ कांग्रेस नेता विजय वडेट्टिवार भी जयपुर में माैजूद हैं। विधायकाें ने जयपुर में आमेर महल देखा, पर्यटन स्थल अाैर मंदिरों में दर्शन किए। जाैहरी बाजार के एक हाेटल में खाना खाया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना