दुष्कर्म के आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग

Jalore News - निकटवर्ती वालेरा ग्राम निवासी एक महिला द्वारा जिला पुलिस महानिरीक्षक सचिन मितल को ज्ञापन पेश कर दुष्कर्म के...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 06:00 AM IST
Sayala News - rajasthan news demand for arrest of accused of misbehavior
निकटवर्ती वालेरा ग्राम निवासी एक महिला द्वारा जिला पुलिस महानिरीक्षक सचिन मितल को ज्ञापन पेश कर दुष्कर्म के मामले की जांच में उचित कार्रवाई कर न्याय दिलाने की मांग की है। ज्ञापन में महिला ने बताया कि वह अपने परिवार के साथ वालेरा में बेरे पर निवास करती थी। सन 2008 में आरोपी देमाराम पुत्र केसाराम मेघवाल निवासी तालियाणा विद्यार्थी मित्र शिक्षक के रूप में उक्त विद्यालय में कार्यरत था। जो एकबार रविवार के दिन स्कूल आया तथा उसके पास एक कोल्डड्रिंक बोतल थी। इस दौरान किसी कारणवश स्कूल गई थी तो देमाराम ने उसे एक गिलास ठंडा दिया। जिसे पीने से बेहोश हो गई।

इसके बाद पुन: होश आया तो आरोपी मुझे निर्वस्त्र कर इच्छा के विरुद्ध दुष्कर्म कर रहा था। जिस पर मैंने उक्त घटना अपने पिता को बताने की बात कही। जिस पर आरोपी ने कहा कि उसके पास उसका अश्लील वीडियो क्लिप है। किसी को बताने पर सार्वजनिक कर देगा। इस पर वह डर गई। इससे आरोपी उसे वीडियो दिखाकर हमेशा डरा धमकाकर ब्लैकमेल करता रहता था। उसी वर्ष शादी भी हो गई। उसके बाद जब भी वह पीहर आती तो उसे ब्लैकमेल कर दुष्कर्म करता था। साथ ही करीब 90 हजार रुपए व सोने के आभूषण सोने भी पास रख लिए। वही सितंबर 2018 के पूर्व अपने पीहर ग्राम वालेरा में आई। तब आरोपी ने उसके दो साथी बावतरा निवासी गोपालसिंह पुत्र मुकनसिंह राजपूत तथा बावतरा निवासी मकनाराम पुत्र खीमाराम देवासी के साथ आए और उसे डरा धमकाकर बुलाया। आरोपियों ने कहा कि अगर वीडियो डिलीट करना है तथा सोने चांदी की जेवरात वापस लेने हैं तो आज मेरे मित्रों को खुश कर दो। उसके बाद तीनों ने दुष्कर्म किया। इससे वह पूरी तरह से प्रताडि़त हो गई। जिस पर सारी घटना उसके जीजा व भाई को बताई। बाद में 12 नवंबर 2018 को पुलिस थाना सायला को प्रस्तुत की गई, लेकिन पुलिस थाना सायला द्वारा इस रिपोर्ट पर आरोपियों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिस पर महिला ने उक्त रिपोर्ट नवंबर 2018 को पुलिस अधीक्षक जालोर के समक्ष उपस्थित होकर रिपोर्ट दी। कोई कार्रवाई नहीं होने पर न्यायालय की शरण ली, जिस पर 31 जनवरी 2019 को एफआईआर दर्ज की। जिसकी जांच उपाधीक्षक जालोर को सुपुर्द की गई, लेकिन पिछले 2 माह से उक्त मामले में किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई।



वही आरोपियों द्वारा उसे हर रोज धमकियां दी जा रही है और कहा जा रहा है कि उक्त मुकदमा वापस लेकर राजीनामा कर लो वरना जान से मार देंगे। 13 मार्च 2019 को आरोपी गोपालसिंह ने जान से मारने की धमकी दी।

इनका कहना है...


X
Sayala News - rajasthan news demand for arrest of accused of misbehavior
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना