दिव्यांग खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता संपन्न

Jalore News - दिव्यांग दिवस पर अतिथियों ने बढ़ाया सम्बलन भास्कर न्यूज | जालोर राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद् जयपुर के...

Dec 04, 2019, 10:05 AM IST
दिव्यांग दिवस पर अतिथियों ने बढ़ाया सम्बलन

भास्कर न्यूज | जालोर

राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद् जयपुर के निर्देशानुसार समग्र शिक्षा अभियान की गतिविधि समावेशी शिक्षा कार्यक्रम के तहत राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत दिव्यांग बालक-बालिकाओं के शिक्षा की मुख्यधारा में समावेश, दिव्यांगों के प्रति सकारात्मक सोच का निर्माण करने, भेदभाव को रोकने, अन्तर्निहित योग्यताओं को बढाकर उत्साहवद्र्धन करने, सम्बलन प्रदान करने तथा इनके अधिकारों एवं क्षमताओं के बारे में जागरूकता उत्पन्न करने हेतु वातावरण का के निर्माण के उद्देश्य से दो दिवसीय जिला स्तरीय खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता के दूसरे दिन नगर परिषद् जालोर से चम्पालाल जीनगर उपखण्ड अधिकारी जालोर एवं अशोक कुमार रोईसवाल मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सशिअ जालोर एवं संतोष कुमार दवे सीबीईओ जालोर द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया, जो अस्पताल चौराहा, कलेक्ट्रेट के सामने होते हुए आहोर चौराहे पर होते हुए राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय आहोर रोड़ जालोर के प्रांगण में विसर्जित हुई। दो दिवसीय जिला स्तरीय खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता का समापन में राजेन्द्र शर्मा जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक ने थॉमस एडिसन द्वारा आविष्कार कर सबको चकित करने का उदाहरण देते हुए उपस्थित बालक-बालिकाओं एवं अभिभावकों को शिक्षा की मुख्यधारा में लाने हेतु उनको प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से सम्बलन प्रदान करते हुए दिव्यांग बालक-बालिकाओं की हीनता की भावना से नहीं देखकर एक साधारण बालक-बालिका की तरह बर्ताव करने हेतु आह्वान किया।

वही विशिष्ठ अतिथि द्वारा अपने उदबोधन में सूरदास के जन्म से अन्धे होने के बावजूद उनके अन्दर छिपी नैसर्गिंक प्रतिभा के बल पर उन्होंने सूरसागर जैसा ग्रन्थ लिखा और श्रीकृष्ण के बाल रूप का वह दर्शन किया जिसकी बराबरी आज तक कोई नहीं कर पाया। इसी प्रकार इन दिव्यांग बच्चों में छूपी प्रतिभा की बात कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मोहनलाल राठौड़ सहायक परियोजना समन्वयक द्वारा समावेशी शिक्षा के बारे में विस्तृत जानकारी से उपस्थिति बच्चों व अभिभावकों को लाभांवित किया तथा अपने उद्बोधन में विशेष योग्यजनों बालक-बालिका को उनके माता-पिता, अभिभावकों एवं शिक्षकों को पूर्ण सम्बलन देने तथा दिव्यांगों के प्रति समाज में एक सकारात्मक सोच का वातावरण करने हेतु निवेदन किया गया, ताकि इन बच्चों के सुखद भविष्य की कल्पना की जा सके। इस कार्यक्रम में गुब्बारा फोड़, चम्मच दौड़, कुर्सी दौड़, कुर्सी दौड़ एवं पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में शारीरिक शिक्षकों क्रमश: हीराराम, पोलाराम एवं रमेश कुमार द्वारा निर्णायक के रूप में अपनी भागीदार निभाई। इस अवसर पर शांतिलाल दवे प्रधानाचार्य, चंद्रकांत रामावत, कपिल चौधरी समावेशी शिक्षा प्रभारी, हीराराम रेड्डी, अमराराम चौधरी पीओ सहित संदर्भ शिक्षक दिनेश कुमार, चन्द्र शेखर, मुन्नीराम, बंशीधर, पियुष कुमार, प्रवीण कुमार, श्याम सुन्दर पंचाल आदि द्वारा अपना सक्रिय सहयोग प्रदान किया। मंच संचालन हीराराम रेड्डी द्वारा किया गया।

खेल समाचार

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना