12 सोने के कलशों से भगवान वेंकटेश का कुंभ अभिषेक

Jalore News - भास्कर न्यूज | सुजानगढ़ (चूरू) उत्तर भारत के एक मात्र शहर के तिरुपति बालाजी वेंकटेश्वर मंदिर के 25वें...

Nov 11, 2019, 06:51 AM IST
भास्कर न्यूज | सुजानगढ़ (चूरू)

उत्तर भारत के एक मात्र शहर के तिरुपति बालाजी वेंकटेश्वर मंदिर के 25वें वार्षिकोत्सव के उपलक्ष्य में चल रहे धार्मिक कार्यक्रमों के बीच चौथे दिन रविवार को मंदिर के गुंबदों पर लगे 12 सोने के कलशों से भगवान का कुंभ अभिषेक किया गया। इससे पहले यज्ञशाला में वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ हवन हुआ। यज्ञशाला में जलभर कर रखे पीतल के आठ कलशों की तीन दिन तक पूजा के बाद अभिषेक किया गया। गुंबदों पर चढ़ने के लिए अस्थाई सीढ़ियां लगाई गई। सोमवार को भगवान वेंकटेश की मंदिर परिसर में निकाली जाएगी।

दक्षिण भारतीय पं. एस. कृष्ण कुमार भट्टर के आचार्यत्व में 12 स्वर्ण कलशों का अभिषेक किया गया। यज्ञ शाला में स्थापित अाठ कलशों को सिर पर धारण कर दक्षिण भारतीय पंडित भगवान की सवारी के आगे चलते हुए मंदिर की छत पर से होते हुए गुंबदों पर पहुंचे और वहां पर वेद ऋचाओं के साथ स्वर्ण कलशों का अभिषेक किया। फिर भगवान की सवारी मंदिर में पहुंची, जहां पर भगवान की विशेष पूजा की गई। उसके बाद भगवान वेंकटेश की मुख्य मूर्ति के दर्शन श्रद्धालुओं के लिए खोले गए। बता दें कि मंदिर के सौंदर्यकरण के कारण पिछले दो महीने से मंदिर की मुख्य मूर्ति के श्रद्धालुओं को दर्शन नहीं हो रहे थे। इधर, रविवार शाम मंदिर में ब्रह्मोत्सव का आगाज हुआ। इसमें अनुज्ञा, मुत्तिका संग्रहण, अंकुरारोपण, विष्वसेन पूजा, वेद प्रबंध पाठ, प्रारंभ पूजा हुई। इस दौरान मंदिर की मुख्य ट्रस्टी मंजूदेवी जाजोदिया, ट्रस्टी अविनाश जाजोदिया, मालादेवी भुवालका, माधुरीदेवी हिम्मतसिंगका, मालतीदेवी मुरारका व व्यवस्थापक मोहनसिंह राठौड़ सहित सैकड़ों श्रद्धालु उपस्थित थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना