पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jalore News Rajasthan News People Of Same Family Of Rangala Were Going To Shaik Sabha 3 Women Died Due To Pressing Under Trolley

शाेकसभा में जा रहे थे रंगाला के एक ही परिवार के लोग, ट्रॉली के नीचे दबने से 3 महिलाओं की मौत

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज| बागोड़ा (जालाेर)/ बाड़मेर

सिणधरी-जालोर हाइवे पर खारा फांटा के पास शोक सभा में जा रहे लोगों से भरा ट्रैक्टर ट्राॅली समेत पलट गया। ट्रॉली के नीचे दबने से 3 महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि करीब 18 लोग घायल हो गए जिसमें गंभीर रूप से घायल 6 लोगों को जोधपुर रेफर किया गया है। जालाेर जिले के रंगाला गांव से एक ही परिवार के यह लोग ट्रैक्टर ट्रॉली में बैठ गेनाणी गोदारों की ढाणी, सिणधरी में बुद्धाराम के वहां शोक सभा में बैठने जा रहे थे। इधर, हादसे की खबर के बाद रंगाला गांव में शोक की लहर छा गई। शोक में गुरुवार को शोक में रंगाला गांव बंद रहेगा।

खारा फांटा के पास ढलान में ट्रैक्टर न्यूटल हो जाने से संतुलन खो दिया, चालक ने संभालने की कोशिश भी की, लेकिन ट्रैक्टर पलट गया। करीब आधे घंटे तक महिलाएं-पुरुष ट्रैक्टर ट्रॉली के नीचे दबे हुए चिल्लाते रहे। इस दौरान एक निजी बस भी सवारियों से भरी हुई निकली, लेकिन मदद के लिए रोकी तक नहीं। इस बीच एक कार चालक आरटीआई कार्यकर्ता राणीदान ने हादसे को देख कार रोकी और एंबुलेंस को फोन कर ट्रैक्टर के नीचे दबे लोगों को निकाला और इलाज के लिए सिणधरी भिजवाया गया। खारा फांटा के पास हुए इस हादसे में गंगादेवी प|ी लालाराम, सारोदेवी प|ी जगुराम निवासी रंगाला व फूलीदेवी प|ी धीराराम निवासी लूणा कलां, सिणधरी की ट्रैक्टर ट्रॉली के नीचे दबने से मौत हो गई। हादसा इतना दर्दनाक था कि ढलान के कारण संतुलन खोने के बाद ट्रैक्टर को नियंत्रित करने के लिए चालक ने ब्रेक भी लगाए, लेकिन ट्रैक्टर काबू में नहीं आया अाैर ट्राॅली समेत पलट गया। हादसे के समय ट्रॉली में करीब 25 लोग सवार थे। इससे कई लोग ट्रॉली के नीचे आधे बाहर और आधे अंदर दब गए। इस हादसे में कई लोगों के हाथ-पैर फ्रैक्चर हो गए, जबकि 4 महिलाओं समेत 6 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जिन्हें सिणधरी में उपचार के बाद जोधपुर रेफर कर दिया है। इनमें दो की हालत गंभीर बनी हुई है। हादसे में चीमू देवी, कानू देवी, हीरो देवी, बाली देवी, रतु देवी, लाली देवी, वीरो देवी, मगी देवी, पैम्पों देवी, धापू देवी, लालाराम, व हनुमानराम, रुपाराम, देवाराम, हरखाराम, भगाराम सभी निवासी रंगाला घायल हो गए। घटना की सूचना पर सिणधरी पुलिस मौके पर पहुंची और घटना स्थल का निरीक्षण कर घायलों को इलाज के लिए रवाना किया। बाद में बाड़मेर कलेक्टर हिमांशु गुप्ता, सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल भी अस्पताल पहुंचे और घायलों से कुशलक्षेम पूछी।

क्या संवेदना भी मर गई : आधा घंटा महिलाएं-पुरुष ट्रॉली के नीचे दबे रहे, पास से निजी बस भी निकली, लेकिन रोकी नहीं

सिणधरी. खारा फांटा के पास ट्रैक्टर टॉली पलटने से हुए हादसे के बाद तड़पते घायल।

भास्कर अपील : हादसों के फोटो-वीडियो बनाने की बजाय मदद करें

अक्सर सामने अा रहा है कि सोशल मीडिया के बढ़ते क्रेज के चलते आज के युवा भी मानवता को भूल रहे है। कई बार युवा हादसों की स्थिति में मदद की बजाय घायलाें का वीडियो बनाते नजर आते हैं, लेकिन वे भूल जाते हैं कि उस वक्त उनकाे अापकी मदद की जरूरत ज्यादा हाेती है। काेई भी हादसा हो, हमेशा मुसीबत में फंसे लोगों की मदद पहले करें अाैर मानवता का परिचय दें।

हम रंगाला से ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार होकर शोक सभा सिणधरी जा रहे थे। खारा फांटा के पास ढलान में ट्रैक्टर संतुलन खो गया और ट्रॉली समेत पलट गया। हादसा इतना भीषण था, कि हमें लगा कोई जिंदा बचेगा ही नहीं। करीब 10-12 लोग ट्रॉली के नीचे दब गए तो 7-8 लोग दूर जा गिरे। हर तरफ चीख-पुकार थी। हमारे लिए चुनौती थी कि ट्रॉली के नीचे दबे लोगों को कैसे निकाला जाए। इस दौरान एक निजी बस भी सवारियों से भरी हुई निकली, लेकिन रोकी तक नहीं। आसपास के लोग और हादसे में सुरक्षित रहे हम लोगों ने बचाव कर ट्रॉली के नीचे से लोगों को निकाल सिणधरी ले गए। इसके बाद पुलिस भी आ गई।

(जैसा कि इस हादसे में घायल हनुमानराम ने भास्कर काे बताया।)

खबरें और भी हैं...