• Home
  • Rajasthan News
  • Jhalawar News
  • कृषकों के परिजनों को संबल देती है सहकार दुर्घटना बीमा: पाटीदार
--Advertisement--

कृषकों के परिजनों को संबल देती है सहकार दुर्घटना बीमा: पाटीदार

सहकार दुर्घटना बीमा योजना के तहत मृतकों के परिजनों को क्लेम राशि वितरण समारोह सहकार भवन में हुआ। समारोह में मुख्य...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:10 AM IST
सहकार दुर्घटना बीमा योजना के तहत मृतकों के परिजनों को क्लेम राशि वितरण समारोह सहकार भवन में हुआ। समारोह में मुख्य अतिथि जन अभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष श्रीकृष्ण पाटीदार थे। अध्यक्षता भाजपा जिलाध्यक्ष संजय जैन ताऊ ने की। मंच पर संजय वर्मा, संजय शुक्ला एवं सियाराम अग्रवाल भी मौजूद थे।

समारोह में मुख्य अतिथि पाटीदार ने बताया गया कि सहकार व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा का क्रियान्वयन राज्य सरकार द्वारा कृषकों के परिवार के मुखिया की दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर परिवार के सदस्यों को ऋण चुकाने के लिए आर्थिक भार न उठाना पड़े, इसके लिए परिवार के वारिसों को आर्थिक सहायता प्रदान करती है। इस मौके पर संजय जैन ताऊ ने कहा कि यह योजना मुख्यमंत्री द्वारा कृषकों के हित में प्रारंभ की गई है।

झालावाड़. समारोह में मृतक के आश्रितों को चेक सौंपते अतिथि।

सहकार दुर्घटना बीमा योजना कृषकों के हित में

झालावाड़ केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक रविंद्र कुमार पुरोहित ने बताया कि सहकारिता विभाग ने राजस्थान में सहकार दुर्घटना बीमा योजना कृषकों के हित में लागू की गई है। जिसके तहत ऋणी सदस्य से 27 रुपए एवं 13.50 रुपए शीर्ष बैंक से एवं 13.50 रुपए बैंक से कुल 54 रुपए के प्रीमियम राशि पर 1 साल का दुर्घटना बीमा किया जाता है। पूर्व मे दुर्घटना से मृत्यु हो जाने पर बीमा कम्पनी द्वारा देय भुगतान राशि 3 लाख व 5 लाख रुपए थी। जो अब नए समझौते के तहत 6 लाख रुपए हो गई है। उक्त समारोह में मदनलाल, बद्रीलाल भंडारी एवं बैंक के अधिशाषी अधिकारी राजेश मीणा, मुख्य प्रबंधक रामनिवास मीणा ने भाग लिया गया। अन्त में प्रबंध निदेशक बैंक ने योजना के लाभ को बताते हुए आभार माना।

इनको मिली क्लेम राशि

उक्त योजना के तहत भगवान लाल पुत्र बालाराम द्वारा समिति से 43 हजार रुपए का ऋण लिया गया था, इनकी मृत्यु 6 जुलाई को सांप के काटने से हो जाने कारण 5लाख रुपए का बीमा क्लेम का भुगतान बीमा कंपनी द्वारा किया गया। साथ ही माणकचंद्र पुत्र शंकर लाल द्वारा गागरोन ग्राम सेवा सहकारी समिति से ऋण लिया गया था। इस योजना के तहत बीमित होने पर 4 सितंबर 2016 को खेत मे काम करते हुए इंजन का पहिया फटने के कारण इनकी मृत्यु हो गई। बीमा कंपनी द्वारा 3 लाख का बीमा क्लेम इनको प्राप्त हुआ। उक्त कृषकों के वारिस भूली बाई प|ी भगवान लाल को 5 लाख एवं नानू बाई प|ी माणक चन्द्र के 3 लाख रुपए के चेक मुख्य अतिथि ने प्रदान किए।