100 रेजीडेंट डॉक्टर हड़ताल पर, सीनियर डाॅक्टरों ने संभाली कमान, आज टालने पड़ेंगे 10 ऑपरेशन

Jhalawar News - झालावाड़ मेडिकल कॉलेज के करीब 100 रेजीडेंट डॉक्टर के मंगलवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाने से जिला एसआरजी व...

Dec 04, 2019, 10:06 AM IST
Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
झालावाड़ मेडिकल कॉलेज के करीब 100 रेजीडेंट डॉक्टर के मंगलवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाने से जिला एसआरजी व जिला जनाना अस्पताल की चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई। सीनियर डॉक्टरों ने ओपीडी व इनडोर वार्डों में व्यवस्था संभाली, लेकिन इनकी संख्या कम होने से मरीजों को इलाज के लिए खासा इंतजार करना पड़ा।

पहला दिन होने के कारण अस्पताल प्रशासन ने जैसे-तैसे सीनियर डॉक्टरों की ड्यूटी लगाकर व्यवस्था संभाली, लेकिन बुधवार से हालात बिगड़ जाएंगे। आर्थोपेडिक विशेषज्ञों की मानें तो बुधवार को 8 से 10 ऑपरेशन टालने पड़ेंगे। केवल इमरजेंसी वाले दो या तीन ही ऑपरेशन हो पाएंगे।

मंगलवार को ऑपरेशन डे नहीं होने से ऑपरेशन के मामले में ज्यादा फर्क नहीं पड़ा, लेकिन ओपीडी में मरीजों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। स्ट्रेचर पर आने वाले गंभीर मरीजों को भी डॉक्टर कक्ष के बाहर काफी देर तक इंतजार करना पड़ा, क्योंकि मरीजों की संख्या अधिक होने से डॉक्टर भी उनका इलाज करने में व्यस्त रहे।


झालावाड़. एसअारजी अस्पताल में रेजीडेंट डाॅक्टर की हड़ताल की वजह से मरीजों की लगी लाइन।

डाॅक्टर को दिखाने के लिए मरीजों को घंटों इंतजार करना पड़ा

ओपीडी में डाॅक्टर कम होने के कारण मरीजों को घंटों लाइनों में खड़ा रहना पड़ा। इससे दोपहर 2 बजे तक ओपीडी में डॉक्टर कक्ष के बाहर मरीजों की लंबी लाइनें लगी रही। सबसे ज्यादा परेशानी लाइनों में खड़े बुजुर्ग महिला-पुरुषों को हुई। एक तो उम्र और घंटों इंतजार के कारण उनका खड़ा रहना मुश्किल हो रहा था, ऐसे में कई बुजुर्ग तो जिस जगह खड़े थे, वहीं जमीन पर बैठ गए।

हर विभाग में मरीजों की लाइनें

जिला एसआरजी अस्पताल में अन्य दिनों में तो एक सीनियर डॉक्टर के साथ तीन से चार पीजी रेजीडेंट रहते हैं, ऐसे में मरीजों को इलाज का क्रम भी बना रहता है, लेकिन मंगलवार को रेजीडेंट की हड़ताल के कारण केवल सीनियर डॉक्टर ही ओपीडी संभाल रहे थे। एक कक्ष में दो ही डॉक्टर मौजूद थे और मरीज अधिक थे। ऐसे में व्यवस्था प्रभावित हुई। सबसे ज्यादा परेशानी मेडिसिन विभाग में आई। वायरल का प्रकोप होने के कारण इस विभाग का ओपीडी 400 से अधिक है। यही हालात आर्थोपेडिक, सर्जरी, गायनिक, शिशु रोग विभाग, आई, स्किन आदि में देखने को मिला।

झालावाड़. डाॅक्टरों की हड़ताल के कारण बाहर बैठे हुए मरीज।

ये है रेजीडेंट की मांगें





रेजीडेंट डॉक्टरों ने किया प्रदर्शन

रेजीडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के बैनर तले बड़ी संख्या में रेजीडेंट डॉक्टर न्यू पीजी रेजीडेंट हॉस्टल के बाहर एकत्र हुए। यहां अपनी मांगों को लेकर रेजीडेंट ने कॉलेज प्रशासन व सरकार के खिलाफ नोरबाजी कर विरोध जताया। रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. नरेंद्र शर्मा ने बताया कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जाती, उनकी हड़ताल जारी रहेगी।

Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
X
Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
Jhalawar News - rajasthan news 100 resident doctors on strike senior doctors commanded 10 operations to be postponed today
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना