पात्र महिला से ली ‌5 हजार की घूस, वीडियो सीईओ के पास पहुंचा, ग्राम विकास अधिकारी एपीओ

Jhalawar News - प्रधानमंत्री आवास योजना में ग्राम विकास अधिकारी द्वारा रिश्वत लेकर नाम जोड़ने की शिकायत सामने आई है। इस मामले में...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:08 AM IST
Dag News - rajasthan news a bribe of rs5000 from an eligible woman video reached the ceo village development officer apo
प्रधानमंत्री आवास योजना में ग्राम विकास अधिकारी द्वारा रिश्वत लेकर नाम जोड़ने की शिकायत सामने आई है। इस मामले में रिश्वत लेने का वीडियो भी जिला परिषद सदस्य भूपेंद्रसिंह परिहार सीईओ के पास लेकर पहुंच गए। इसके बाद सीईओ ने तुरंत ही ग्राम विकास अधिकारी को एपीओ कर दिया।

डग पंचायत समिति की मंदिरपुर ग्राम पंचायत के गांव पतलाई निवासी कैलाशबाई मेहतर ने सीईओ से शिकायत की, जिसमें बताया कि 2011 की सूची में वह प्रधानमंत्री आवास योजना की पात्र है। उसने आरोप लगाया कि इसके लिए ग्राम विकास अधिकारी ने 5 हजार रुपए रिश्वत की मांग की। इस पर 3 हजार रुपए दे दिए हैं, जबकि पहली किश्त आने के बाद 2 हजार रुपए देने के लिए बार-बार ग्राम विकास अधिकारी परेशान कर रहा है। ग्राम विकास अधिकारी का रिश्वत लेते हुए वीडियो भी बताया गया। इस पर सीईओ ने तुरंत ही ग्राम विकास अधिकारी भंवरसिंह को एपीओ कर दिया और इसकी जांच एसीईओ को सौंप दी। अब जांच के बाद दोषी पाए जाने पर आगे की कार्रवाई होगी।

दरअसल, प्रधानमंत्री आवास योजना में इससे पहले भी इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं। मनोहरथाना क्षेत्र में करीब ढाई साल पहले पूर्व विधायक कंवरलाल मीणा के सामने भी रिश्वत लेकर लेकर प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम जोड़ने, जिओ टैगिंग करने की शिकायत सामने आई थी। उस समय भी जांच में कई मामले सही पाए गए थे। अब फिर से यह मामले सामने आ रहे हैं।

वीडियो में पैसे लेते हुए दिख रहे हैं ग्राम विकास अधिकारी, रजिस्टर में की है इंट्री

वायरल हुए वीडियो में पैसे लेते और उनको गिनते हुए ग्राम विकास अधिकारी दिख रहे हैं। इसकी बाकायदा उन्होंने एक रजिस्टर में इंट्री भी की है।

नाम आते ही जिओ टैगिंग के लिए चलता है कई जगह भ्रष्टाचार का खेल

प्रधानमंत्री आवास योजना में लाभार्थियों का नाम आते ही जिओ टैगिंग के लिए भ्रष्टाचार का खेल कई जगह चलता है। इसी का नतीजा है कि लाभार्थी काम शुरू करने में देरी कर देते हैं। उनको प्रथम किश्त की राशि ही देरी से मिल पाती है। वर्तमान में यह हालात हैं कि प्रधानमंत्री आवास योजना में बड़ी संख्या में लाभार्थी मकान ही नहीं बना पा रहे हैं।

इस साल 11 हजार 102 को देने हैं आवास, 8 हजार को मिली स्वीकृति

प्रधानमंत्री आवास योजना में शुरुआती दौर से ही ढिलाई दिखाई देती है। इसका सबसे बड़ा कारण समय पर जिओ टैगिंग नहीं हो पाना है। इस साल 11 हजार 102 लोगों के प्रधानमंत्री आवास योजना के आवास मिलने हैं, इसमें से केवल 8 हजार लोगों के ही आवास स्वीकृति हो पाई है। प्रथम किश्त तो सात हजार लोगों को ही मिल पाई है।

जांच एसीईओ को सौंप दी है :सीईओ


मुझे ब्लैकमेल कर रहे हैं:ग्राम विकास अधिकारी


X
Dag News - rajasthan news a bribe of rs5000 from an eligible woman video reached the ceo village development officer apo
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना