पाठ्यक्रम से जौहर के दृृश्य हटाने के फैसले पर अपनी ही सरकार के खिलाफ कांग्रेस नेता व मंत्री

Jhalawar News - जयपुर | कांग्रेस सरकार के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की ओर से स्कूली किताब के कवर पेज से जौहर के दृश्य को...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:46 AM IST
Dag News - rajasthan news congress leader and minister against his own government on decision to remove johar39s view from the curriculum
जयपुर | कांग्रेस सरकार के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की ओर से स्कूली किताब के कवर पेज से जौहर के दृश्य को हटाए जाने के फैसले का पार्टी के भीतर ही विरोध के स्वर उभरने लगे हैं। मंत्री से लेकर विधायक और चित्तौडगढ़ लोकसभा के कांग्रेस प्रत्याशी तक ने विरोध शुरू कर दिया है। इनका कहना है कि सरकार को अपने फैसले पर फिर से विचार करना चाहिए। जौहर का दृश्य एक किसी जाति या धर्म का नहीं बल्कि एक समाज के सम्मान और गौरव का विषय है, जिसे देखने के लिए आज दुनिया भर के लोग राजस्थान आते हैं। इसको इग्नोर करना ठीक नहीं है। पार्टी के नेता ही इसे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तक मामले को ले जाने की तैयारी में है, जिससे जौहर के दृश्य को फिर से जोड़ा जा सके।

बोले-इतिहास के पन्ने को नहीं बदला जा सकता, सरकार को अपने फैसले पर विचार करना चाहिए, सीएम तक जाएगा मामला

मंत्री के कहने से इतिहास नहीं बदल जाता : खाचरियावास

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि सबसे पहले जरूरी यह है कि जौहर और सती में फर्क किया जाए। कोई भी व्यक्ति इसे पता कर ले। जो भी यह कह रहे हैं वे अपनी जानकारी सुधार लें। मंत्री के कहने से इतिहास नहीं बदल जाता। जौहर के कारण पर्यटक चित्तौड़गढ़ देखने आते हैं। जौहर के कारण चित्तौडगढ़ के इतिहास को पूरा देश और दुनिया जानती है। इसे मिटाया नहीं जा सकता।

सीएम गहलोत के सामने रखेंगे मामले को : ईडवा

चित्तौड़गढ़ से कांग्रेस के लोकसभा उम्मीदवार गोपालसिंह ईडवा ने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा पर सवाल किया। जौहर को पाठ्यक्रम से हटाने पर पीसीसी चीफ सचिन पायलट से शिकायत की है, सीएम अशोक गहलोत से भी मिलकर पूरे मामले को प्रमुखता से रखा जाएगा। शिक्षा मंत्री को यदि कोई जानकारी कम है तो दुरुस्त कर लेनी चाहिए। जौहर शब्द यदि गलत होता तो इसके कार्यक्रम में राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, पीएम नहीं आते। जौहर के दृश्य को फिर से पाठ्यक्रम में शामिल किया जाए। इसकी मांग सीएम के सामने रखी जाएगी।

जौहर के दृश्य को पाठ्यक्रम में फिर से जोड़ा जाना चाहिए : शेखावत

पूर्व विधानसभा स्पीकर एवं कांग्रेस विधायक दीपेंद्र सिंह शेखावत का कहना है कि इतिहास के पन्ने को कोई बदल नहीं सकता। जौहर आत्म सम्मान की कहानी हैं, जो इतिहास के पन्नों में दर्ज है। इसे तोड़ फोड़ करना उचित नहीं है। इस जौहर के दृश्य को देखने के लिए पूरा विश्व राजस्थान आता हैं। उस दृश्य को अपने ही पाठ्यक्रम से हटा रहे हैं। यह सही नहीं है। इस फैसले पर प्रदेश सरकार को पुनर्विचार करना चाहिए, जिससे किसी समाज का कोई व्यक्ति आहत न होने पाए।

X
Dag News - rajasthan news congress leader and minister against his own government on decision to remove johar39s view from the curriculum
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना