सरकारीकर्मी से लेकर पेंशनर ने जुड़वा लिए खाद्य सुरक्षा योजना में नाम

Jhalawar News - खाद्य सुरक्षा योजना में सरकारी कर्मचारियों से लेकर पेंशनर और आयकरदाताओं ने भी नाम जुड़वा लिए। यह खुलासा रसद...

Dec 04, 2019, 10:06 AM IST
Jhalawar News - rajasthan news government workers to pensioners get twins named in food security scheme
खाद्य सुरक्षा योजना में सरकारी कर्मचारियों से लेकर पेंशनर और आयकरदाताओं ने भी नाम जुड़वा लिए। यह खुलासा रसद विभाग की ओर से राशन डीलरों से करवाए गए सत्यापन के आधार पर हुआ है।

अब रसद विभाग ने अपात्रों की सूची को सभी एसडीएम को पहुंचाया है। एसडीएम स्तर से पटवारियों से इनका भौतिक सत्यापन करवाया जाएगा, ताकि केवल पात्र व्यक्ति ही इसमें शामिल हो सकें। और अपात्रों के नाम हटाए जाएं। अब एसडीएम स्तर से अपात्रों की श्रेणी में आए राशन कार्डधारियों को नोटिस भी जारी किए जाएंगे। जब राशन डीलरों के माध्यम से जांच हुई तो पता चला कि ढाई हजार परिवार ऐसे हैं, जो इस योजना के पात्र नहीं होते हुए भी लाभ के दायरे में आ रहे हैं। इसकी पूरी सूची डीलरों ने रसद विभाग में सौंपी है। 30 नवंबर के बाद सबसे पहले भास्कर के पास अपात्रों की श्रेणी में आए लोगों का डाटा आया। दरअसल खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के रेंडम सर्वे में सामने आया था कि प्रदेश में 4.83 करोड़ व्यक्ति खाद्य सुरक्षा योजना में शामिल हैं जो निर्धारित संख्या 4.46 करोड़ से अधिक हैं। इसके बावजूद भी बड़ी संख्या में लोग खाद्य सुरक्षा में शामिल होने के लिए लगातार आवेदन कर रहे हैं। इसके बाद तय किया गया कि अपात्र व्यक्तियों के नाम हटाकर पात्र व्यक्तियों को जोड़ा जाए। इसको लेकर 27 सितंबर को खाद्य सुरक्षा में अपात्र व्यक्तियों के निष्कासन के संबंध में अधिसूचना जारी की। राशन डीलरों को इसके लिए प्रपत्र दिए गए, जिसके आधार पर अपात्रों के नाम सामने आए हैं।

कार से लेकर बंगला, फिर भी योजना में नाम: खाद्य सुरक्षा योजना में अपात्रों की सूची में सामने आया कि जिन लोगों के पास कार से लेकर बंगला सहित अन्य सुख सुविधाएं हैं। वह भी इस योजना में शामिल हो गए हैं। योजना के मापदंड में बताया गया कि परिवार का कोई सदस्य आयकरदाता हो, सरकारी सेवा में हो या एक लाख रुपए से अधिक की आय, चारपहिया वाहन हो तो वह अपात्र है। ऐसे में इन राशन कार्ड धारियों के नाम हटाए जाएंगे।

यह मामले आ चुके हैं सामने

खाद्य सुरक्षा योजना में फर्जी तरीके से नाम जुड़वाने और अपात्रों के कई मामले सामने आ चुके हैं। यहां असनावर में बड़ी संख्या में फर्जी तरीके से नाम जुड़ चुके थे। इसको लेकर असनावर के तत्कालीन एसडीएम ने थाने में रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। भवानीमंडी में जिनके बेटे सरकारी सर्विस में रहे उनके नाम भी खाद्य सुरक्षा की सूची में जुड़े हुए मिले थे।


X
Jhalawar News - rajasthan news government workers to pensioners get twins named in food security scheme
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना