• Hindi News
  • National
  • Jhalrapatan News Rajasthan News Hail Falls In Hemra Strong Rains In Jhalrapatan Khanpur

हेमड़ा में ओले गिरे, झालरापाटन-खानपुर में तेज बारिश

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में शनिवार शाम को अचानक मौसम बदल गया। दोपहर में जहां तेज धूप निकल रही थी, वहीं देखते ही देखते आसमान में काली घटा छा गई और हवा चलने लगी। शाम करीब साढे 5 बजे झालरापाटन में 15 मिनट तेज बारिश हुई। इसके बाद शाम साढ़े 7 बजे खानपुर में भी तेज बारिश हुई। पिड़ावा क्षेत्र के हेमड़ा कस्बे में भी तेज बारिश के साथ 2 मिनट ओलावृष्टि हुई, इससे क्षेत्र में फसलों में नुकसान की किसानों ने आशंका जताई है। कृषि विभाग द्वारा धनिया की क्वालिटी व रंग पर असर होना बताया जा रहा है। उत्पादन पर इसका कोई असर नहीं होगा। अचानक बदले मौसम से तापमान में भी गिरावट आ गई। अधिकतम तापमान 1 व न्यूनतम तापमान 3 डिग्री तक गिर गया। मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम तापमान 30 व न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जिले में सुबह से लेकर शाम 4 बजे तक मौसम खुला रहा। तेज धूप के कारण लोगों को अधिक गर्मी का अहसास हुआ, लेकिन शाम 5 बजे करीब अचानक मौसम बदल गया और देखते ही देखते ही आसमान में काली घटा छा गई। सबसे पहले झालरापाटन में 15 मिनट तेज बारिश हुई। इसके बाद रायपुर व पनवाड़ बूंदाबांदी हुई। शाम साढ़े 7 बजे खानपुर में भी तेज बारिश शुरू हो गई और कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि भी हुई। झालावाड़ में शाम 6 बजे बूंदाबांदी हुई। वहीं पाैने आठ बजे 5 मिनट रिमझिम बारिश हुई।

क्षेत्रीय किसान बोले-सुबह खेतों में जाकर देखेंगे, तब पता चलेगा कितना हुआ नुकसान

ओलावृष्टि से किसानों के चेहरे मुरझा गए

पिडा़वा. क्षेत्र के हेमड़ा कस्बे में शनिवार को अचानक मौसम बदले के बाद तेज गर्जना के साथ बारिश शुरू हो गई। इस दाैरान 2 मिनट मोती के आकार के ओले गिरे। ओलावृष्टि होने से क्षेत्र के किसानों के चेहरे मुरझा गए। किसानों का कहना है कि ओलावृष्टि व बारिश से कितना नुकसान हुआ है, यह तो सुबह खेत देखने पर ही मालूम पड़ेगा, लेकिन धनिया में अधिक नुकसान होगा। ओलावृष्टि से अन्य फसलों में भी नुकसान होगा।

वर्जन

धनिया की क्वालिटी पर असर-कृषि विभाग

कृषि विभाग के उपनिदेशक कैलाश मीणा ने बताया कि ज्यादा बारिश नहीं हुई है और ओलावृष्टि भी कुछ खास नहीं है। ऐसे में फसलों में कोई विशेष नुकसान नहीं होगा। जहां पर ओलावृष्टि ज्यादा हुई है, वहां नुकसान हो सकता है। जहां तक बारिश की बात है तो गेहूं, चना, सरसों में कोई असर नहीं होगा। धनिया की फसल की क्वालिटी कमजोर हो सकती है। रंग खराब हो सकता है। उत्पादन पर कोई असर नहीं पडे़गा।

झालरापाटन में बह निकला पानी: झालरापाटन. शहर में शनिवार शाम को अचानक मौसम बदला और बादलों की तेज गर्जना के साथ बारिश शुरू हो गई। करीब 15 मिनट तेज बारिश हुई। इससे सड़कों पर पानी बह निकला। लोगों को दिनभर की गर्मी से भी राहत मिली। बारिश होने पर किसानों ने फसलों में नुकसान की आंशका जताई है। किसानों का कहना है कि धनिया की फसल में अधिक नुकसान होगा, अन्य फसलों पर ज्यादा असर नहीं होगा।

सारोला, रायपुर, पनवाड़ में बूंदाबांदी: सारोलाकलां. कस्बे मे देर शाम अचानक मौसम पलटा और बिन मौसम तेज गर्जना के साथ बूंदाबांदी शुरू हो गई। बारिश होने से किसानों के चेहरे मुरझा गए। किसानों का कहना है कि बारिश होने पर सरसों, धनिया में अधिक नुकसान होगा। वहीं पनवाड़ व रायपुर कस्बे में भी शाम को मौसम बदलने के बाद बूंदाबांदी हुई। इससे मौसम में ठंडक घुल गई। वहीं किसानों को फसलों में अब नुकसान की आशंका है।

झालरापाटन. शहर में शनिवार शाम काे बरसात से गीली सड़कें।

हेमड़ा. शाम को ओले गिरने से आड़ी पड़ी गेहूं की फसल।

पिड़ावा. हेमड़ा क्षेत्र के गिरे ओलों को हाथ में रखकर दिखाते हुए।

खबरें और भी हैं...