--Advertisement--

रिफिलिंग करते हुए सिलेंडर जब्त, भरने वाला फरार

घरेलू गैस सिलेंडर से अवैध रूप से रिफिलिंग करने वालों पर अब रसद विभाग ने कार्रवाई शुरू की है। मिश्रौली थाना क्षेत्र...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:45 AM IST
घरेलू गैस सिलेंडर से अवैध रूप से रिफिलिंग करने वालों पर अब रसद विभाग ने कार्रवाई शुरू की है। मिश्रौली थाना क्षेत्र के सिलेगढ़ में हुए हादसे के बाद रसद विभाग के अधिकारी चेते हैं। यहां झालरापाटन में मुख्य मार्ग पर ही अवैध रिफिलिंग करते हुए सिलेंडर सहित अन्य सामग्री जब्त की है।

हालांकि यहां से रिफिलिंग करने वाला फरार हो गया। बाद में रसद निरीक्षक ने पुलिस में उसके खिलाफ मामला दर्ज कराया। रसद निरीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि झालरापाटन के महात्मा गांधी कॉलोनी में प्रवर्तन निरीक्षक मुकेश खींची के साथ पहुंचे तो वहां पर एक मकान में अवैध रूप से घरेलू गैस सिलेंडर से वाहन में गैस भरी जा रही थी। बाकायदा वहां पर बूस्टर लगाकर वाहन में गैस भरी जा रही थी। मौके पर मौजूद मकान मालिक ने बताया कि उन्होंने बाहर का पोर्शन किराए पर दे रखा है। जिसमें कमल जैन किराए से रहते हैं और वही वाहनों में गैस रिफिलिंग का काम करते हैं। इस पर पुलिस को सूचना दी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जिस वाहन में रिफिलिंग हो रही थी उसे, बूस्टर और रीफिलिंग करने वाले बांसुरी को जब्त किया। वाहन मालिक के भी बयान दर्ज किए गए। वाहन को पुलिस की सुपुर्दगी में रखा गया जबकि जब्त की गई अन्य सामग्री को गैस एजेंसी पर जमा करवा दिया गया।

कार्रवाई पर सवाल, मौके पर रिफिलिंग हो रही थी तो फरार कैसे हुआ

जिला मुख्यालय सहित जिलेभर में अवैध रूप से गैस सिलेंडरों से रीफिलिंग का खतरनाक काम फल फूल रहा है। वहीं रसद विभाग सिर्फ हादसा होने के बाद एक दो कार्रवाई कर इतिश्री कर लेता है। रविवार को हुई कार्रवाई में भी कई सवाल खड़े किए हैं। जब रसद विभाग की टीम मौके पर पहुंची तो वहां सिलेंडर से बाकायदा रिफिलिंग जारी थी ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही है कि मौके से रीफिलिंग करने वाला फरार कैसे हो गया। इधर रसद विभाग के प्रवर्तन निरीक्षक विनोद कुमार का कहना है कि हम रिफिलिंग करने वाले को पहचानते नहीं थे इस कारण से वह फरार होने में सफल हुआ।

झालावाड़. कार्रवाई करती रसद विभाग की टीम।