--Advertisement--

जिले की खस्ताहाल 78 सड़कों की 46 करोड़ से सुधरेगी दशा

जिले में नॉनपेचेबल सड़कों की दशा अब सुधरेगी। ऐसी 78 सड़कों का निर्माण होगा। 236.95 किलोमीटर की यह सड़कें 46 करोड़ 41 लाख रुपए की...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:40 AM IST
जिले में नॉनपेचेबल सड़कों की दशा अब सुधरेगी। ऐसी 78 सड़कों का निर्माण होगा। 236.95 किलोमीटर की यह सड़कें 46 करोड़ 41 लाख रुपए की लागत से बनाई जाएंगी। सरकार ने इसके लिए स्वीकृति जारी कर दी है। दरअसल जिले में बड़ी संख्या में ऐसी सड़कें हैं जिन पर वर्षों से पैचवर्क कर काम चलाया जा रहा था, लेकिन अब इनकी हालात ऐसी हो गई कि पैचवर्क भी नहीं हो सकता है। इसीलिए इन सड़कों को नॉनपेचेबल सड़कों की सूची में डाला गया है। लंबे समय से इन सड़कों के निर्माण की मांग चल रही थी। स्वीकृति मिलने के बाद अब पीडब्ल्यूडी ने इन सड़कों के टेंडर निकालने की तैयारी कर ली है। जल्द ही इनके टेंडर करवाकर काम शुरू हो जाएंगे। पीडब्ल्यूडी अधिकारियों का कहना है कि बारिश से पहले इन सड़कों के डामरीकरण का काम होगा। ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों में अब तक बजट कम आता था, लेकिन इस साल बजट आने से बारिश से पहले इन सड़कों का काम पूरा करवाए जाने की तैयारी की जा रही है। शेष |पेज 14

राहत का डामर

पैचवर्क के लायक भी नहीं रही 236 किलोमीटर सड़कों का होगा निर्माण, बारिश से पहले ही होगा डामरीकरण

सबसे अधिक झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र की 26 सड़कों का निर्माण होगा

जिले में सबसे अधिक झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र की सड़कों की दशा सुधरेगी। झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र में 26 सड़कों का निर्माण होगा। 80.60 किमी सड़कों पर 1779.50 लाख रुपए खर्च होंगे। इसके अलावा मनोहरथाना विधानसभा क्षेत्र में 23 सड़कों का निर्माण होगा। 59.08 किमी सड़कों पर 886.20 लाख रुपए खर्च होंगे। खानपुर विधानसभा क्षेत्र की 17 सड़कें बनेंगी। 52.65 किमी की सड़कों पर 1306.25 लाख रुपए खर्च होंगे। डग विधानसभा क्षेत्र में 12 सड़कों का निर्माण होगा। 44.60 किमी की सड़कों पर 669 लाख रुपए खर्च होंगे।