• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jhunjhunu
  • Mukundgarh News 60 km between nawalgarh and salasar from lakshmangarh roadways facility problem of people in 5 dozen villages
--Advertisement--

लक्ष्मणगढ़ से नवलगढ़ व सालासर के बीच 60 किमी में नहीं है रोडवेज सुविधा, 5 दर्जन गांवों के लोगों की समस्या

Jhunjhunu News - प्रदेश की सबसे बड़ी राजस्व तहसील में पौने दो सौ से अधिक राजस्व गांव व ढाणिया शामिल हैं, लेकिन सीकर के अलावा तीन अन्य...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:20 AM IST
Mukundgarh News - 60 km between nawalgarh and salasar from lakshmangarh roadways facility problem of people in 5 dozen villages
प्रदेश की सबसे बड़ी राजस्व तहसील में पौने दो सौ से अधिक राजस्व गांव व ढाणिया शामिल हैं, लेकिन सीकर के अलावा तीन अन्य जिलों से लगता उपखंड का 90 प्रतिशत एरिया आज भी रोडवेज बस की सुविधा से महरूम है। इसका सीधा फायदा निजी बस संचालकों को हो रहा है। उपखंड के पांच दर्जन से अधिक गांवों के हजारों लोगों का सफर निजी बस ऑपरेटरों की मनमर्जी पर निर्भर करता है। विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से ये बस ऑपरेटर मनमर्जी से जब चाहे किराया बढ़ा देते हैं। यात्रियों के विरोध का इन पर कोई असर नहीं पड़ता। क्योंकि यात्रियों के पास दूसरा विकल्प भी नहीं है। सालासर से लक्ष्मणगढ़ व नवलगढ़ चलने वाली चार दर्जन बसों का किराया रोडवेज बसों से 30 प्रतिशत तक अधिक है।

कुछ अर्से पहले आरटीआई कार्यकर्ता प्यारेलाल कटारिया द्वारा क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कार्यालय से सूचना के अधिकार के तहत ली गई जानकारी के अनुसार जहां रोडवेज बसें सीकर से लक्ष्मणगढ़ के बीच 30 किलोमीटर का एक्सप्रेस बसों का 30 रुपए किराया लेती है, वहीं निजी बस संचालक लक्ष्मणगढ़ से सालासर के बीच लगभग इतनी ही दूरी के लिए 40 रुपए वसूल रहे हैं। कटारिया ने इस बाबत कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में लिखा है कि निजी बस संचालक किसी भी तरह का सरकारी नियम नहीं मानते हैं। उनके अनुचित किराए का विरोध करने पर ये लोग यात्रियों को बस से उतार देते हैं। सालासर से लक्ष्मणगढ़ होते हुए नवलगढ़ व मुकुंदगढ़ तक प्रतिदिन हजारों लोग यात्रा करते हैं। उन्हें रोज ऐसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। नवलगढ़-मुकुंदगढ़ से वाया लक्ष्मणगढ़ व सालासर के बीच एक भी रोडवेज बस नहीं चलती, जबकि इस रूट पर तीन दर्जन से अधिक निजी बसें चल रही हैं। करीब साठ किलोमीटर एरिया में रोडवेज की बसों का संचालन नहीं होने से जहां एक तरफ सरकार को प्रतिदिन लाखों रुपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है, वहीं आमजन सुविधा से वंचित है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, यूपी आदि से सिद्धपीठ सालासर को जोड़ने वाला यह सबसे महत्वपूर्ण मार्ग है।

इन क्षेत्रों से आने वाले श्रद्धालु मुकुंदगढ़ में उतरकर सालासर जाने के लिए यहां से बस पकड़ते हैं। रोडवेज बसें नहीं चलने से अन्य प्रदेशों से आने वाले श्रद्धालुओं को भी दिक्कत होती है। इसके अलावा सालासर से लक्ष्मगणगढ़ व नवलगढ़-मुकुंदगढ के बीच में स्थित लक्ष्मणगढ़ उपखंड के करीब पांच दर्जन से अधिक गांवों के 20 से 25 हजार लोग प्रतिदिन इन बसों से आवागमन करते हैं। इसके बावजूद रोडवेज बसों का संचालन नहीं किया जा रहा है।

X
Mukundgarh News - 60 km between nawalgarh and salasar from lakshmangarh roadways facility problem of people in 5 dozen villages
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..