तातीजा में 108 कुण्डीय रुद्र महायज्ञ शुरू

Jhunjhunu News - तातीजा के देवनारायण धाम में श्रीराम सेवा समिति, जयबाबा भैया सेवा समिति तातीजा के तत्वावधान में ग्रामीणों के...

Dec 04, 2019, 10:10 AM IST
तातीजा के देवनारायण धाम में श्रीराम सेवा समिति, जयबाबा भैया सेवा समिति तातीजा के तत्वावधान में ग्रामीणों के सहयोग चल रहे 108 कुण्डीय रुद्र महायज्ञ एवं श्रीराम कथा का यज्ञाध्यक्ष महंत रामदास के सानिध्य में मंगलवार को तीसरे दिन यज्ञ का शुभारंभ हुआ। सुभाष कसाणा व संतोष देवी की यजमानी में यज्ञाचार्य वीरेंद्र शास्त्री ने यज्ञ का शुभारंभ किया। यज्ञ में 108 जोड़ों ने आहुतियां दी। यज्ञाध्यक्ष महंत रामदास ने रुद्र महायज्ञ की महिमा व विश्व कल्याण में इस महायज्ञ की महत्ता पर प्रकाश डाला। इस दौरान आचार्या धर्ममूर्ति ने कथावाचन के दौरान कहा कि रामकथा कल्याण करने वाली और कलयुग के पापों को हरने वाली है। आचार्या धर्ममूर्ति ने राम विवाह का कथा के दौरान वर्णन किया। इस मौके पर पूर्व सरपंच रामेश्वरलाल, नेतराम, जितेन्द्र जांगिड़, प्रीतम शर्मा, पूरणमल, सीताराम, मक्खनलाल खटाणा, जगदीश धेधड़ मौजूद थे।

यज्ञाचार्य वीरेंद्र शास्त्री के सानिध्य में 108 जोड़ों ने दी यज्ञ में आहुतियां

खेतड़ी नगर. 108 कुण्डीय रुद्र महायज्ञ में आहुति देते।

भागवत कथा में रामस्वरूपदास ने धर्म की रक्षा के लिए हुए अवतारों की कथा सुनाई

बाघोली. माधोगढ़ केशव दास जी के आश्रम पर चल रही सात दिवसीय संगीतमय श्रीमद भागवत कथा में चौथे दिन मंगलवार को कथावाचक रामस्वरूप दास महाराज ने भगवान वामन, नरसिंह के साथ समुद्र मंथन व राजा बलि के 100वें यज्ञ की कथा का श्रवण कराया। उन्होंने कलयुग के लक्षण बताते हुए कहा कि गोमाता घर के बाहर सड़क पर भ्रमण कर रही हैं और कुत्ते घर में रह रहे हैं। माता-पिता घर में ही रहेंगे और बच्चे तीर्थ यात्रा पर जाएंगे। भगवान शुकदेव ने राजा परीक्षित से कहा था कि धर्म के नाम पर पशु का वध पाप है। बली प्रथा भी कतई उचित नहीं है। वेदों में कहा गया है कि किसी का अपमान करना भी पाप है। इस दौरान बनवारी लाल मिश्रा, बंशीराम महाराज, दाताराम, रामदेव सैन, रतननाथ पुजारी, जीवन राम भार्गव, केशर देव योगी, मदन लाल कुमावत, शंकर कुमावत, पूर्व सरपंच रामनिवास, दाताराम मणकस आदि मौजूद थे।

कथा के श्रवण होता है पापों का नाश : इंद्रपुरा. ग्राम पंचायत इंद्रपुरा के निकट जेतपुरा में चल रही सात दिवसीय संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा में मंगलवार को कथावाचक चैतन्य कृष्ण शास्त्री महाराज ने कहा कि कथा का श्रवण करने से ही सारे पापों का नाश हो जाता है। समाजसेवी रामदेव सामोता ने बताया कि कथा प्रतिदिन दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक की जाती है। समस्त गांव के लोगों की ओर से गांव की बसावट के बाद पहली बार करवाई जा रही है। संगीतमय कथा 8 दिसंबर तक की जाएगी। इस दौरान राजेंद्र सामोता, बेगाराम सहारण, रामकिशन शर्मा, महेश शर्मा, विद्याधर सिगड, कुंज बिहारी शर्मा, बनवारी लाल सेन सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

मंड्रेला. कृष्णलीला का मंचन करते कलाकार।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना