पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jhunjhunu News Rajasthan News Children Are Not Machines Understand Their Feelings First Then Develop Them Properly

बच्चे मशीन नहीं होते हैं, उनकी भावनाअों को पहले समझें, फिर करें उनका सही ढंग से विकास

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पिछले आठ महीने से हम दोनों जिले की 18 ग्राम पंचायतों की 20 प्राइमरी स्कूलों में काम कर रही हैं। जिले का प्राइमरी एज्यूकेशन सिस्टम कैसे बदले, बच्चों को पढ़ाने का तरीका आनंदमय कैसे हो, ताकि वे मन से स्कूल आएं। पीरामल फाउंडेशन की सोच यह है कि बच्चे मशीन नहीं हैं, उनमें भावनाएं हैं, सामाजिकता है, वे स्कूल आते समय डरें नहीं, खुशी से स्कूल आएं। हमने इन स्कूलों में क्लासेज को भी घर का एक खेलने का कमरा बनाने की कोशिश की है। वहां बच्चे खेल-खेल में कई चीजें सीख रहे हैं। छोटी-छोटी कहानियों से जीवन सीख रहे हैं। सही बात भी यही है, बच्चे मशीन नहीं हैं कि उन्हें एक बंधी-बंधाई व्यवस्था के तहत चलाया जाए, उनकी भावनाअों को समझ कर उनकी जरूरत के मुताबिक उनका विकास करने की जरूरत है। अभी तक हमने करीब चार सौ बच्चों के बीच काम किया है अौर अब वे बच्चे खुशी-खुशी स्कूल आ रहे हैं, उनके अभिभावक भी खुश हैं कि उन्हें अपने बच्चों को जबरन स्कूल नहीं भेजना पड़ रहा है। यह पूरी कवायद इसलिए की जा रही है ताकि यह समझा जा सके कि पढ़ाने से पहले यह समझें कि आखिर बच्चा चाहता क्या है।

खबरें और भी हैं...