अंडमान निकाेबार में भारत के समुद्री आर्थिक क्षेत्र में घुसा चीन का पाेत, नाैसेना ने खदेड़ा

Jhunjhunu News - एजेंसी | नई दिल्ली भारत के केंद्रशासित प्रदेश अंडमान निकाेबार द्वीप से लगे अंडमान समुद्र में चीन की नाैसेना का...

Dec 04, 2019, 12:41 PM IST
Tai News - rajasthan news china39s army enters india39s maritime economic zone in andaman and nicarabar nasena repulsed
एजेंसी | नई दिल्ली

भारत के केंद्रशासित प्रदेश अंडमान निकाेबार द्वीप से लगे अंडमान समुद्र में चीन की नाैसेना का पाेत काे भारतीय नाैसेना ने खदेड़ दिया। यह घटना सितंबर की है। भारतीय नाैसेना प्रमुख एडमिरल कर्मबीर सिंह ने मंगलवार काे यह जानकारी दी। एडमिरल िसंह ने कहा कि चीन को साफ शब्दों में बता दिया गया है कि उसके नौसैनिक पोत बिना अनुमति के भारत के विशेष आर्थिक क्षेत्र में नहीं आ सकते हैं। एडमिरल कर्मबीर सिंह ने नौसेना दिवस से एक दिन पहले पत्रकाराें से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हिंद महासागर में चीन के 7 से 8 नौसैनिक पोत मौजूद रहते हैं, जिनका उद्देश्य अलग-अलग होता है। इनमें से कुछ समुद्री डकैतों के खिलाफ अभियान में तैनात रहते हैं तो कुछ जल संबंधी अध्ययन और अन्य समुद्री सर्वेक्षण के लिए रहते हैं। नाैसेना प्रमुख ने कहा कि नौसेना हिंद महासागर तथा दक्षिण चीन सागर में चीन तथा पाकिस्तान की नौसेनाओं की गतिविधियों पर पूरी तरह नजर रखे हुए है।

पांच साल में नाैसेना का बजट 18% से घटकर 12% रह गया

नाैसेना प्रमुख ने नौसेना के बजट में हाे रही लगातार कटाैती पर चिंता जताई। उन्हाेंने कहा कि पिछले पांच साल में नाैसेना का सालाना बजट 18% से घटकर 12% रह गया है। 2012-13 में नाैसेना का बजट 18% था, जाे 2018-19 में 13% हाे गया। हालांकि नाैसेना प्रमुख ने कहा कि नाैसेना सीमित संसाधनों में संतुलन बनाने की पूरी कोशिश कर रही है, जिससे कि नौसेना की क्षमता तथा देश के हितों के साथ कोई समझौता नहीं हो।

---------------

तीन विमानवाहक पोतों की जरूरत:

नौसेना प्रमुख ने कहा कि नाैसेना काे लंबे समय की याेजना के तहत तीन विमानवाहक पोत की जरूरत है, जिससे दो विमानवाहक पोत हर समय अभियानों तथा तैनाती के लिए तैयार रहें। उन्हाेंने बताया कि 2022 तक पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर नाैसेना काे मिल जाएगा अाैर इस पर मिग-29के एयरक्राफ्ट काे तैनात किया जाएगा।

-----------------

50 युद्धपाेत-पनडुब्बी बन रही हैं:

एडमिरल करमबीर सिंह ने बताया कि भारतीय नाैसेना के लिए 50 युद्धपाेत अाैर पनडुब्बी बन रही हैं। इनमें से 48 युद्धपाेत-पनडुब्बी भारतीय शिपयार्ड्स में बन रही हैं। फिलहाल नाैसेना के पास 1 विमान वाहक पाेत, 1 परिवहन डॉक, 8 लैंडिंग शिप टैंक, 10 डेस्ट्रायर, 13 फ्रिगेट, 1 परमाणु पनडुब्बी, 1 बैलिस्टिक मिसाइल पनडुब्बी के अलावा 15 पनडुब्बी, 10 बड़े गश्ती जहाज हैं।

X
Tai News - rajasthan news china39s army enters india39s maritime economic zone in andaman and nicarabar nasena repulsed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना