• Hindi News
  • National
  • Jhunjhunu News Rajasthan News If You Are Not Allowed To Fill Out The Form To Go Out Of The House Then The Fine The Police Checks In Place The Business Stopped

घर से बाहर जाने के लिए भी फॉर्म भरकर लेनी पड़ रही इजाजत नहीं तो जुर्माना, जगह-जगह चैक करती है पुलिस, काम धंधे ठप

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पिछले 11 साल से यहां रह रहा हूं। ऐसा माहौल पहले कभी नहीं देखा। यहां एक क्लब में हॉर्स राईडिंग का काम करता हूं। हमें मैन गेट से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा। जरुरत का सामान खरीदने के लिए पुलिस को फार्म भर कर देना पड़ता है। दुकान में केवल दो व्यक्तियों को ही अंदर जाकर सामान खरीदने दिया जाता है। बाहर इंतजार कर रहे लोगों को आपस में एक फीट दूर रहना जरुरी है।

सालासर मंदिर : सेनेटाइजर से हाथ धोने होंगे, सात हजार मास्क भी मंगवाए गए

सालासर हनुमानजी का मेला छह अप्रैल से आयोजित होगा। हनुमान सेवा समिति के अध्यक्ष यशोदानंदन पुजारी ने बताया कि बुधवार से मंदिर के प्रवेश द्वार पर भक्तों के हाथ धोने के लिए सेनेटाइजर उपलब्ध होगा। हाथ धोने के बाद ही मंदिर प्रवेश होगा। 7 हजार मास्क भक्तों की सुरक्षा के लिए दिए जाएंगे।

राणी सती : मंदिर में आने वाले व धर्मशाला में ठहरने वालों की कर रहे हैं स्क्रीनिंग

झुंझुनूं के राणी सती मंदिर में प्रवेश या दर्शनो‌ं पर रोक नहीं लगाई गई है, लेकिन मंदिर परिसर में आने वालों तथा कमरों में ठहरने वाले प्रवासियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में 90 फीसदी तक गिरावट आई है।

खाटूश्यामजी : हर तीन घंटे से सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिड़काव होगा


खाटूश्यामजी मंदिर में समिति के अध्यक्ष शंभु सिंह चौहान का कहना है कि प्रत्येक 3 घंटे में मंदिर में सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिड़काव कराया जाएगा। जिससे कोरोना वायरस काे फैलने से रोका जा सके। वैसे आरती के समय ही पट खुलेंगे।


राहत : तीन संदिग्धों की निगेटिव रिपोर्ट

नवलगढ़ | कोरोना के तीन संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। बीसीएमओ डाॅ. गोपीचंद जाखड़ ने बताया कि तीनों व्यक्तियों में कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई है।

जो टैक्सी चलाते हैं उनका काम ठप, अब यहां के खर्चों की चिंता


सऊदी अरब से ज्ञान प्रकाश सैन (टांई)

सऊदी अरब के दमाम में यह समझ लीजिए कि यदि कुछ दिन और ऐसी स्थिति रही तो शेखावाटी से यहां रह रहे मध्यम वर्ग के लोगों का खर्चा निकालना मुश्किल हो जाएगा। मैं यहां गैस कंपनी में काम करता हूं, वहां के और भी कई लोग इस शहर में रहते हैं। कोरोना को लेकर यहां भय है। स्कूल, मॉल, पार्क सब बंद हैं। सहुलियत के लिए कुछ होटल खुले हैं। जहां खाना ला सकते हैं। शेखावाटी के करीब 80-90 लाेग कंपनी से 100 रियाल प्रतिदिन किराए में टैक्सी लेकर चलाते हैं। सड़कों पर टैक्सी पूरी तरह से बंद है। ऐसे में उनका धंधा ठप है। उन्हें चिंता इस बात की है कि वे कैसे इसका किराया चुकाएंगे। इसी तरह के अन्य लोगों को भी अपनी राेजी-रोटी की चिंता हो रही है।

इटली से भारत लौटना चाहते हैं, लेकिन नो कोरोना सर्टीफिकेट नहीं मिल रहा है


इटली से अजय चावला (नवलगढ़)

पूरा परिवार यहां पर है। यहां कोरोना के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। इससे निपटने के लिए सरकार उतनी ही सख्ती से नियम लागू कर रही है और मेडिकल चैकअप हो रहे हैं। बिना कारण घर से बाहर नहीं निकल सकते। केवल खाने पीने की वस्तुओं के लिए या मेडिकल इमरजेंसी में आप बाहर जा सकते हैं। उसके लिए भी फॉर्म भरकर देना पड़ रहा है। सबसे अधिक परेशानी इस बात की हो रही है कि कई लोग भारत लौटना चाहते हैं, लेकिन हाल ही में भारत सरकार ने नो कोरोना सर्टिफिकेट जरुरी कर दिया है। यह सर्टीफिकेट यहां के अस्पतालों में चैकअप व जांच के बाद ही मिलता है, लेकिन इटली में कोरोना वायरस के इतने केस अस्पतालों में आ रहे हैं कि एक टेस्ट करवाना संभव नहीं हो पा रहा है। यहां फंसे लोग अब वहां पर इंडियन एंबेसी से मदद मांग रहे है, ताकि वह घर जा सकें। यहां कई मजदूर वर्ग के भी लोग हैं। उनकी मजबूरी है कि उनके आसपास स्थित अस्पतालों में जांच नहीं हो रही।

बिसाऊ : नीलकंठ मंदिर 31 तक बंद

बिसाऊ में 132 फीट ऊंचे नीलकंठ महादेव मंदिर में 31 मार्च तक प्रवेश बंद कर दिया गया है। केयर टेकर नंदलाल सैनी ने बताया कि शिव प्रतिमा व उसके पास बने ग्यारह ज्योतिर्लिंग, अष्ट विनायक, नवग्रह मंदिर तथा शिवलिंग के दर्शन 31 मार्च तक प्रवेश बंद रखने का निर्णय लिया है।

शाकंभरी : नवरात्र मेले को स्थगित करने का फैसला प्रशासन को ही लेना होगा

नवरात्र में शाकंभरी माता मंदिर के मेले को लेकर निर्णय प्रशासन को ही तय करना है। महंत दयानाथ महाराज ने बताया कि मेले को स्थगित करने का फैसला कमेटी स्तर पर नहीं हो सकता।

एहतियात : मंदिरों में रोक श्रद्धालुओं को कर रहे सतर्क

मस्जिदों में सामूहिक नमाज नहीं पढ़ी जा रही, जरुरत की वस्तुओं पर सरकार की नजर, ज्यादा पैसे लिए तो जुर्माना

खाने पीने की दुकानें ही खुली, उनमें भी दो लोग ही एकसाथ जा सकते हैं, इंतजार करने वालों को एक फीट दूर रहना जरुरी


भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

विदेशों में रह रहे शेखावाटी के लोगों को लेकर यहां चिंताएं बढ़ गई हैं, क्योंकि परिजनों के पास लगातार ऐसी खबरें आ रही हैं कि कई देशों में अनेक तरह के प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। जिससे वहां आम जन जीवन प्रभावित है और कुछ भी निश्चित नहीं है कि आगे क्या होगा। हालांकि परिजनों से फोन पर बात हो जाती है, लेकिन चिंता इस बात को लेकर है कि विदेशों से प्रवासी कब तक भारत लौट सकेंगे।

इटली में कोरोना का बड़ा असर देखा जा रहा है। जिले के हजारों लोग वहां रह रहे हैं। इन लोगों के अनुसार इटली में घरों से बाहर निकलने पर ही पाबंदी लगा दी गई है। यदि आपको बहुत जरुरी काम है तो बाहर निकलने के लिए एक फॉर्म भरकर देना होगा। यदि इसके बिना सड़कों पर मिले तो जुर्माना व जेल तक हो सकती है। इटली से कई लोग भारत लौटना चाहते हैं, लेकिन भारत सरकार ने उसके लिए मेडिकल सर्टिफिकेट जरूरी कर दिया है और यह सर्टीफिकेट इटली में मिल ही नहीं रहा। इसी प्रकार ओमान, सऊदी अरब, कुवैत आदि देशों में स्कूल, मॉल, बाजार, पार्क आदि सब बंद हैं। हवाई सेवाएं बंद हो जाने से लोग वहां से कहीं नहीं आ जा पा रहे हैं। जो लोग विदेशों में पहंंुच गए है उन्हें भी 14 दिन के लिए क्वारिंटन होने पड़ रहा है।

इस तरह की खबरों के बाद भास्कर ने वहां झुंझुनूं के लोगों से बात की। भास्कर के लिए इन्हीं लोगों ने की लाइव रिपोर्ट...

संचालित किये जा रहे हैं। खाने पीने के सामान की कीमत ज्यादा लेने पर जुर्माना व दुकान सील कर दी जाती है।

जाकर सामान खरीदने दिया जाता है। बाहर इंतजार कर रहे लोगों को आपस में एक फीट दूर रहना जरुरी है।

कुवैत से साजिद (चिड़ावा)

यहां शोपिंग मॉल, बड़े सैलून, शोरूम सील बंद हैं। मस्जिदों में सामूहिक नमाज नहीं पढ़ी जा रही। फैक्ट्रियां बंद पड़ी हैं। खरीददारी के लिए भी दो से अधिक व्यक्ति एक साथ नहीं जा सकते। भोजन व जरूरत के अन्य सामान के लिए शेख शासन (सरकार) के भी बिक्री केंद्र संचालित किये जा रहे हैं। खाने पीने के सामान की कीमत ज्यादा लेने पर जुर्माना व दुकान सील कर दी जाती है।

अजय चावला परिवार के सदस्यों के साथ। (फाइल फोटो)

इटली के पादवा शहर में सुनी पड़ी सड़कें।

कुवैत के मंगफ शहर में सुनसान पड़ा इंडस्ट्रीयल एरिया।
खबरें और भी हैं...