शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को शुद्ध पानी पीने को मिले, कोताही हुई तो कार्रवाई : जैन

Jhunjhunu News - भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं कलेक्टर रवि जैन ने अधिकारियों से कहा कि गर्मी आ गई है, जिले के शहरी व ग्रामीण...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 09:01 AM IST
Malsisar News - rajasthan news people in the urban and rural areas get drinking water if done then action jain
भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

कलेक्टर रवि जैन ने अधिकारियों से कहा कि गर्मी आ गई है, जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को शुद्ध पानी पीने के मिले, इसकी पुख्ता व्यवस्था की जाए। पाइप लाइनों के लीकेज की सूचना मिलते ही उसे तत्काल ठीक करवाएं। इस काम में किसी स्तर पर कोताही बरती गई तो संबंधित के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। कोई बहाना नहीं चलेगा। जैन मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जलदाय विभाग के कार्यों की प्रगति समीक्षा बैठक को सं‍बोधित कर रहे थे।

जैन ने कहा कि शहर के जिन वार्डों में पानी कम प्रेशर से आ रहा है, उन क्षेत्रों को चिन्हित कर स्थिति को सुधारें। पानी के अवैध कनेक्शन तत्काल हटाए जाएं। ग्रामीण क्षेत्रों में आंधी, वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त हुई बिजली लाइनें समय पर ठीक करवाई जाएं। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी मतदान केन्द्रों पर पानी की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। यहां पानी की टंकियों की सफाई का ध्यान रखा जाए। उन्होंने पीएचईडी, आरयूआईडीपी, आरएसआरडीसी विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे समन्वय से कार्य करें। सड़कों के निर्माण के समय टूटी पाइप लाइनें तत्काल ठीक करवाएं। टैंकरों से पानी सप्लाई करवाई जाए।

झुंझुनूं. पेयजल संबंधी समीक्षा बैठक को संबोधित करते कलेक्टर जैन।

डेम टूटने की रिपोर्ट इसी माह के अंत तक आने की उम्मीद

पीएचईडी के झुंझुनूं परियोजना वृत्त के अधीक्षण अभियंता महेश जांगिड़ ने बताया कि पिछले साल मलसीसर में कुंभाराम परियोजना का एक डेम टूटने के कारण प्रभावित क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति की वैकल्पिक व्यवस्था के तहत कॉफर डेम बना कर 28 अप्रैल 2018 से औसतन 20-22 एमएल प्रतिदिन जल वितरण किया जा रहा है। वर्तमान में नहरबंदी के दौरान 15 एमएल प्रतिदिन जल वितरण किया जा रहा है। डेम टूटने के कारणों की जांच कर रही आईआईटी मुंबई की टीम से रिपोर्ट इस माह के अंत तक मिलनी प्रस्तावित है। इस अवसर पर आरयूआईडीपी के एसई मोहन मीना, पीएचईडी के अभियंता रोहिताश्व कुमार व ईश्वर लाल सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

शहरी जल योजना में चालू हैं 130 नलकूप : बैठक में पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता सीएल जाटव ने बताया कि शहर में वर्तमान में 130 नलकूप चालू हैं। यहां 15 आरसीसी उच्च जलाशयों के माध्यम से घरेलू कनेक्शनों द्वारा जलापूर्ति की जा रही है। शहर में स्थायी रूप से संतोषजनक पेयजल सप्लाई के लिए आरयूआईडीपी द्वारा जल योजना का पुनर्गठन किया जा रहा है, जिसमें 38 डीएमए बनाए गए हैं। इनमें से 6 डीएमए में सप्लाई शुरू कर दी गई है। तीन डीएमए में पाइप लाइन का कार्य पूर्ण कर, टेस्टिंग का कार्य प्रगति पर है। बैठक में बताया गया कि सूर्य विहार कॉलोनी में पेयजल संकट के संबंध में मिली शिकायत पर एलएंडटी कम्पनी द्वारा पाइप लाइन की मरम्मत कर पेयजल सप्लाई सुचारू कर दी गई है। वार्ड 32 व 33 में पेयजल समस्या के संबंध में बताया गया कि यहां टंकी में ओवर फ्लो कर सप्लाई दी गई है, जिससे स्थिति में सुधार हुआ है।

X
Malsisar News - rajasthan news people in the urban and rural areas get drinking water if done then action jain
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना