• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Jhunjhunu
  • Jhunjhunu News rajasthan news the applicant was found to have hidden the facts in the application due to the strictness of the high court in the application

अभ्यर्थी को हाईकोर्ट की सख्ती के चलते मिली नियुक्ति, आवेदन में तथ्य छिपाने का लगा था आरोप

Jhunjhunu News - राजस्थान हाई कोर्ट की सख्ती के चलते, जेल महानिदेशालय ने आपराधिक प्रकरण संबंधी तथ्य छिपाने के आरोप में नियुक्ति से...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:50 AM IST
Jhunjhunu News - rajasthan news the applicant was found to have hidden the facts in the application due to the strictness of the high court in the application
राजस्थान हाई कोर्ट की सख्ती के चलते, जेल महानिदेशालय ने आपराधिक प्रकरण संबंधी तथ्य छिपाने के आरोप में नियुक्ति से वंचित अभ्यर्थी को जेल प्रहरी पद पर नियुक्ति देने के आदेश दिए हैं। मामले के अनुसार बुहाना तहसील के काजला निवासी देवेन्द्र कुमार ने एडवोकेट संजय महला के जरिये रिट याचिका दायर कर बताया था कि उसने जेल प्रहरी भर्ती-2011 में कोटा मण्डल के लिए एससी वर्ग से आवेदन किया था। उसने उच्च अंकों के साथ योग्यता प्राप्त की। नियुक्ति के दौरान पुलिस वेरिफिकेशन में एसपी झुंझुनूं ने उसके विरुद्ध एक आपराधिक प्रकरण दर्ज होने बाबत तथ्य की जानकारी दी। इस पर उसे आवेदन में तथ्य छिपाने के आरोप में नियुक्ति से वंचित कर दिया। वर्ष 2013 से लम्बित इस याचिका में कई मर्तबा सुनवाई के दौरान एडवोकेट संजय महला ने दलील दी कि देवेंद्र कुमार किसी जघन्य अपराध का आरोपी नहीं रहा है, उसके विरुद्ध तेज मोटर साइकिल चलाने पर, मोटरयान दुर्घटना का प्रकरण हरियाणा में दर्ज हुआ था, जिसमें उसे 5 नवम्बर 2012 को बरी किया जा चुका है जबकि सरकार ने तथ्य छिपा कर नियुक्ति लेने का आरोप लगाते हुए उसे अयोग्य ठहराने को जायज बताया। कोर्ट ने प्रकरण के तथ्यों को देखते हुए कड़ा रुख अपनाते हुए, 19 फरवरी व एक मार्च को आला अधिकारियों को तलब कर अभ्यर्थी को तुरंत नियुक्ति दिए जाने के आदेश दिए व 27 मार्च को सुनवाई को मामले को सूचीबद्ध करने के आदेश दिए। इस पर विभाग ने समय चाहा। मामले में सुनवाई कर रहे न्यायाधीश आलोक शर्मा ने 9 अगस्त को आगामी सुनवाई तय की। देवेंद्र के नियुक्ति आदेश जारी कर उसे राहत प्रदान कर दी।

X
Jhunjhunu News - rajasthan news the applicant was found to have hidden the facts in the application due to the strictness of the high court in the application
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना