• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Jhunjhunu
  • Jhunjhunu News rajasthan news the children of the state will read the bravery of paramveer singh and the bravery of the country39s first female fighter pilot mohna singh

प्रदेश के बच्चे पढ़ेंगे परमवीर पीरू सिंह की बहादुरी और देश की पहली महिला फाइटर पायलट मोहना सिंह की शौर्य गाथा

Jhunjhunu News - भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं अदम्य साहस एवं बहादुरी तथा बलिदान के लिए देशभर में मशहूर झुंझुनूं जिले के...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:36 AM IST
Jhunjhunu News - rajasthan news the children of the state will read the bravery of paramveer singh and the bravery of the country39s first female fighter pilot mohna singh
भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

अदम्य साहस एवं बहादुरी तथा बलिदान के लिए देशभर में मशहूर झुंझुनूं जिले के जांबाजाें के शाैर्य की गाथाअों को राज्य सरकार ने नौवीं की सामाजिक विज्ञान की पाठ्य पुस्तक में शामिल किया है। नए सत्र से जारी पुस्तक में जिले से दो जांबाजों की गाथा को शामिल किया गया है। इनमें राजस्थान के पहले परमवीर चक्र विजेता पीरू सिंह तथा देश की पहली महिला लड़ाकू विमान उड़ाने वाली मोहना सिंह की जीवनी को जोड़ा गया है।

झुंझुनूं जिले के बेरी गांव निवासी कंपनी हवलदार मेजर परमवीर पीरू सिंह जम्मू कश्मीर के टीथवाल सेक्टर में 18 जुलाई 1948 को कबायलियों से युद्ध के दौरान शहीद हो गए थ‌े। वे राजपुताना राइफल्स की छठी बटालियन में थे। उनका जन्म 20 मई, 1918 को हुआ था। वे जान की परवाह किए बगैर दुश्मन के टैंक में हैंड ग्रेनेड लेकर जा घुसे अौर उसे उड़ा दिया था। खुद शहीद हो गए थे। उनके अदम्य साहस के लिए उन्हें 1952 में मरणोपरांत परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया। उनके दत्तक पुत्र अोम सिंह शेखावत ने भास्कर से बातचीत में कहा, ‘यह अच्छी शुरुआत है, इससे भावी पीढ़ियोंं को देश के जांबाजों के बारे में जानकारी मिल सकेगी।’

पीरू सिंह की तरह ही खतेहपुरा निवासी मोहना सिंह भारतीय वायुसेना में देश की प्रथम महिला फाइटर पायलट बनीं खतेहपुरा निवासी मोहना सिंह के बारे में भी जानकारी दी गई है। राज्य सरकार ने एयर स्ट्राइक की शौर्य गाथा को सिलेबस में शामिल किया है। एयर स्ट्राइक के जवाब में भारतीय सीमा में घुसे पाक विमान को मार गिराने वाले अभिनंदन की वीरता का किस्सा बच्चों का पढ़ाया जाएगा। नौवीं में ‘राष्ट्रीय सुरक्षा और शौर्य परंपरा’ चैप्टर जोड़ते हुए राजस्थान के कई वीरों की गाथाएं पढ़ाई जाएंगी। ओलंपिक पदक जीतने वाले कर्नल राज्यवर्धन सिंह और महावीर चक्र विजेता जयपुर के ब्रिगेडियर भवानी सिंह को भी जगह दी गई है। पुस्तक में पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारतीय वायु सेना की पाक सीमा में 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमानों से बालाकोट क्षेत्र में आतंकवादी ठिकानों पर हमले अौर पाकिस्तान से लौटे अभिनंदन की कहानी भी है। भारतीय सेना द्वारा स्थापित आदर्श वाले हिस्से में शिक्षा, खेल, राजनीति, रक्षा, अंतरिक्ष और तकनीकी के क्षेत्र में सफलता के झंडे गाड़ने वाले राजस्थान के सेना के जवानों के नाम शामिल किए गए हैं। परमवीर चक्र प्राप्त जोधपुर के मेजर शैतान सिंह भाटी, बीकानेर के लेफ्टिनेंट कर्नल किशन सिंह की कहानी शामिल की गई है। सीकर के राजपूताना राइफल्स के दिगेंद्र कुमार का भी जिक्र है, जिन्होंने अदम्य साहस का परिचय देते हुए पाकिस्तानी मेजर का सिर काट कर तिरंगा फहराया था।

सरकार बदली ताे नए पाठयक्रम में किया शामिल : राज्य में सरकार बदलने के साथ ही स्कूली शिक्षा में पाठ्यक्रम बदलाव की सुगबुगाहट शुरू हाे गई थी। 12 फरवरी से 10 मार्च के बीच महज एक महीने में ही लाेकसभा चुनाव की अाचार संहिता लगने से पहले किया गया। शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने पहली से 8वीं तक और 9वीं से 12वीं तक की पुस्तकों की समीक्षा के लिए कमेटी बनाई। कमेटी ने समीक्षा के दौरान कई तथ्य जोड़ने और कई तथ्य हटाने की रिपोर्ट बनाई।

परमवीर पीरू सिंह

मोहना सिंह

शिक्षा राज्यमंत्री डोटासरा ने कहा-हमने वादा निभाया


Jhunjhunu News - rajasthan news the children of the state will read the bravery of paramveer singh and the bravery of the country39s first female fighter pilot mohna singh
X
Jhunjhunu News - rajasthan news the children of the state will read the bravery of paramveer singh and the bravery of the country39s first female fighter pilot mohna singh
Jhunjhunu News - rajasthan news the children of the state will read the bravery of paramveer singh and the bravery of the country39s first female fighter pilot mohna singh
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना