--Advertisement--

पार्षदों को बैठक की सूचना नहीं, जताया आक्रोश

नगरपालिका में मंगलवार शाम को एसडीएम सांभर ने कुछ वार्डों में रिक्त चल रहे आशा सहयोगिनियों के पदों पर चयन करने को...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:55 AM IST
नगरपालिका में मंगलवार शाम को एसडीएम सांभर ने कुछ वार्डों में रिक्त चल रहे आशा सहयोगिनियों के पदों पर चयन करने को लेकर बैठक ली। चयन कमेटी में ईओ मनीष सोनी, सीडीपीओ नीरू सांखला, ब्लॉक सीएमएचओ डॉ.राजकुमार सोनी व एलएस नीरा मलिक थी। बैठक में पार्षदों को बुलाया गया, लेकिन 8 में से 4 पार्षद ही उपस्थित हुए। पार्षद गोपाल सिंह मीणा, मुकेश सोनी, सत्यनारायण प्रजापत, गोपाल कुमावत ने आशा सहयोगिनियों के चयन को लेकर बैठक बुलाने की सूचना नहीं देने का विरोध किया।

एसडीएम सांभर बद्रीप्रसाद ने बताया कि इस चयन प्रक्रिया में पार्षदों का कोई रोल नहीं है, उन्हें केवल प्राप्त आवेदन का वेरिफिकेशन के लिए बुलाया गया था। आशा सहयोगिनियों का चयन करने के लिए 28 दिसम्बर से पहले महिला एवं बाल विकास विभाग ने चयन प्रक्रिया को निरस्त करते हुए दुबारा से विज्ञप्ति जारी की थी। इसके तहत कुल 8 वार्डों में आशा सहयोगिनों का चयन करना था। आठ में से छह वार्डों से ही आवेदन मिले जिनका चयन कमेटी में चर्चा करते हुए फार्म की जांच कर चयन किया गया। वार्ड 12 व 15 में किसी का अावेदन नहीं मिला, वहीं वार्ड 2 व 5 में मिले आवेदन में गड़बडी़ मिलने पर निरस्त किए गए। वार्ड 1, 8, 10 व 11 की चार आशा सहयोगिनों का चयन किया गया।

वार्डों में रिक्त चल रहे आशा सहयोगिनियों के पदों पर चयन

मंत्री को बताएंगे

पालिकाध्यक्ष ज्ञानचंद जाजेरिया व पार्षदों का कहना है कि नगरपालिका के वार्डों में आशा सहयोगिनियों का चयन करने को लेकर कोई सूचना ही नहीं दी गई। पार्षदों की राय के बिना ही चयन होना था तो पार्षदों को बुलाने की कहां जरूरत थी। चयन प्रक्रिया के लिए जनप्रतिनिधियों को सूचना देकर ही करनी चाहिए ताकि सही चयन हो सके। चयन प्रक्रिया से नजप्रतिनिधियों में रोष है। इसके लिए मंत्री राजपाल सिंह को अवगत करवाया जाएगा।