--Advertisement--

35 साल से पहले पशु चराते सीमा पार चला गया था भगुसिंह, परिजनों को नहीं पता जिंदा है भी या नहीं

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 06:23 AM IST

गजानंद की रिहाई की खबर से बाड़मेर की लक्ष्मी कंवर की बूढ़ी आंखों में जगी आस

भगु सिंह के 3 बेटे हैं। भगु सिंह भगु सिंह के 3 बेटे हैं। भगु सिंह

  • पाक से रिहा होकर आए लोगों ने बताया- भगु पाक जेल में बंद
  • रिहाई के लिए कई बार गुहार लगाई, कोई खबर तक नहीं मिली

बाड़मेर. 50 साल से पति भगुसिंह की राह देख रही लक्ष्मी कंवर(65) को पाक जेल में बंद जयपुर निवासी गजानंद की रिहाई से उम्मीद जगी है। लक्ष्मी के अनुसार 1983 में भगुसिंह पड़ोसी गांव गोहड़ का तला में पशु चराने गए थे।

गलती से उन्होंने सीमा पार की तो पाक रेंजर्स ने भारतीय जासूस समझकर उन्हें पकड़ लिया। इसके बाद वे लौटे नहीं। छोटे बेटे अर्जुनसिंह ने बताया कि पाक से रिहा होकर आए लोगों ने बताया कि वे कोटलखपत जेल में बंद हैं। पिता की रिहाई के लिए कई बार गुहार लगाई लेकिन आज तक उनकी खबर नहीं मिली। लक्ष्मी कहती हैं कि 35 साल बाद अब सरकार ये तो बताए कि वे जिंदा है या नहीं। आंखें बंद होने से पहले उनके दर्शन हो जाए तो आखिरी ख्वाहिश भी पूरी हो जाए। अभी केवल उनकी तस्वीर देखकर ही दिल को बहला रहे हैं।

X
भगु सिंह के 3 बेटे हैं। भगु सिंहभगु सिंह के 3 बेटे हैं। भगु सिंह
Astrology

Recommended

Click to listen..