जवानाें के भांगड़ा व खुखरी डांस के साथ रूसी बैंड ने जमाया रंग

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहली बार भारत में हो रहा आयोजन, मेजबानी के साथ हमारे सैनिक भी दिखाएंगे देशभक्ति और जांबाजी का जज्बा
  • मद्रास रेजीमेंट द्वारा मार्शल आर्ट कलारिपयट्टू व सिख लाइट इन्फेंट्री रेजिमेंट के सैनिकों ने दी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां

जैसलमेर (डीडी वैष्णव). देश का सबसे बड़ा मिलिट्री स्टेशन जैसलमेर सोमवार को आर्मी के इंटरनेशनल गेम्स की मेजबानी का साक्षी बन गया। यहां पर 5वीं आर्मी इंटरनेशनल स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता का शौर्य पूर्ण आगाज हुआ। इसके साथ ही रूस की राजधानी मास्को में भी ये प्रतियोगिता शुरू हो गई।
 
जैसलमेर में शुरू हुई इस प्रतियोगिता में भारत, रूस व चीन जैसी बड़ी सैन्य शक्तियां शिरकत कर रही हैं। इसके अलावा कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, जिम्बाबे, आर्मेनिया, बेलारूस की सेनाएं भाग ले रही हैं। ये गेम्स में एकदूसरे देशों से रण कौशल सीखेंगे तो भारत से जमीनी लड़ाई की महारत भी हासिल करेंगे। प्रतियोगिता का उद्घाटन मुख्य अतिथि दक्षिणी कमान के चीफ ऑफ स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल डीएस आहूजा ने किया।
 
रूसी संघ के उप रक्षा मंत्री युनूस बेक इवकुरोवए ने ट्रॉफी प्रदान कर शुरुआत की। वहीं कोणार्क कोर के लेफ्टिनेंट जनरल वीएस श्रीनिवास सहित सभी देशों के रक्षा अटैची मौजूद थे। जैसलमेर व इसके पड़ोसी क्षेत्रों में 6 से 14 अगस्त तक 9 दिन तक आयोजित की जाएगी। लेफ्टिनेंट जनरल आहूजा ने कहा कि भारत के लिए इस तरह की प्रतिष्ठित प्रतियोगिता की मेजबानी करना बहुत गर्व और सम्मान की बात है।
 

हर दिन साहसिक मुकाबलों के साथ एकदूसरे से युद्ध कौशल सीखेंगे जवान

  • 6 अगस्त : स्टेज 1, घुसपैठ और एंबुश एक्सरसाइज, हेलिकॉप्टर माउंटिंग ड्रिल, नाइट नेविगेशन और एंबुश एक्सरसाइज
  • 7 अगस्त : स्टेज 2, स्काउट स्पेशलिस्ट कोर्स, बीएमपी (टैंक जैसा छोटा वाहन) में दुश्मन के इलाके में घुसना
  • 8 अगस्त : स्काउट स्पेशलिस्ट कोर्स, पानी में तैरते हुए दुश्मन के इलाके में पहुंच कर आक्रमण करना
  • 9 अगस्त : स्टेज 3, बाधाएं पार करते हुए दुश्मन के घर में घुसना
  • 10 अगस्त : स्टेज 3, छोटे हथियारों से दुश्मन पर फायरिंग कर बढ़ लेना

 

16 अगस्त तक चलेंगी प्रतियोगिताएं
सोमवार से शुरू हुई प्रतियोगिता का समापन 16 अगस्त को किया जाएगा। यह 5वां इंटरनेशनल आर्मी स्काउट मास्टर्स कॉम्पिटिशन है। इससे पहले सभी चार प्रतियोगिताओं का आयोजन रूस में किया गया था। पिछली बार रूस के नोवोसिबिर्स्क में प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था, जिसमें रूस की टीम ने जीत हासिल का विजेता का खिताब अपने नाम किया था।
 

भारत व चीन के बीच समन्वय बढ़ेगा
चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के पहली बार राजस्थान में आर्मी इंटरनेशनल स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता में शिरकत करने को लेकर सामरिक व रणनीतिक तौर पर खतरे के सवाल पर सेना की दक्षिणी कमान के चीफ ऑफ स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल आहूजा ने कहा कि यह बहुत बड़ा आयोजन है। यह एक प्लेटफार्म एक दूसरे से ट्रेनिंग, सांस्कृतिक आदान प्रदान व कौशल सीखने का है। साथ ही प्रोफेशनल ट्रेनिंग भी होगी। वह हमारी ट्रेनिंग का सम्मान है। इसलिए चीन भी भाग ले रहा है। यह मौका है दोनों देशों को जानने का। इससे भारत व चीन में समन्वय भी बढ़ेगा।

खबरें और भी हैं...