जोधपुर

--Advertisement--

यूएस के बाद फ्रांस एयरचीफ ने जोधपुर से उड़ाया तेजस, इंजन डील के लिए दोनों देशों में होड़

भारतीय वायुसेना अब तक करीब 50 हजार करोड़ रुपए लागत से 83 ‘तेजस’ का ऑर्डर जारी कर चुकी है।

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 08:13 AM IST
After US France Airchief flew from Jodhpur to Tejas

जोधपुर. भारत में विकसित 60 फीसदी स्वदेशी लड़ाकू विमान एलसीए तेजस को लेकर अमेरिका व फ्रांस में होड़ मची है। तभी तो अमेरिका के एयरचीफ डेविड एल गोल्डफिन के जोधपुर में तेजस में उड़ान भरने के महज पांच दिन बाद ही फ्रांस के एयरचीफ जनरल आंद्रे लेनाटा भी यहां पहुंचे। उन्होंने भी सुबह करीब 11 बजे तेजस में उड़ान भरी। इस होड़ के पीछे मुख्य कारण भविष्य में तेजस के इंजन की आपूर्ति को लेकर होने वाली अरबों रुपए की डील हासिल करना है। भारत ने इस विमान में देश में ही विकसित कावेरी इंजन को लगाने का निर्णय किया, लेकिन सफलता नहीं मिलने पर अमेरिका के जनरल इलेक्ट्रिक से जीई 404 इंजन खरीदा और तेजस में लगाया। अब आगे तेजस के इंजन को लेकर डील होनी है।

भारतीय वायुसेना अब तक करीब 50 हजार करोड़ रुपए लागत से 83 ‘तेजस’ का ऑर्डर जारी कर चुकी है। निकट भविष्य में यह ऑर्डर और बड़ा होगा और तेजस के लिए इंजन की आवश्यकता बढ़ेगी। ऐसे में अमेरिका और फ्रांस के बीच इसके इंजन की आपूर्ति के लिए होड़ मची हुई है। वैसे फ्रांस की कंपनी सेफरान भारत को कावेरी इंजन को नए सिरे से विकसित करने में सहयोग करेगी। इसके तहत कंपनी तकनीक उपलब्ध कराएगी और इंजन का निर्माण भारत में होगा। इसके लिए 2 मिलियन डॉलर की डील हुई है, लेकिन इससे पहले सभी तेजस विमानों के लिए इंजन आयात ही करने होंगे।

मिग-21 की जगह लेगा तेजस :
भारतीय वायुसेना में तेजस मिग-21 लड़ाकू विमान का स्थान लेगा। ऐसे में उम्मीद है कि यह ऑर्डर बढ़कर 220 से अधिक का होगा। ऐसे में इतनी बड़ी संख्या में तेजस विमानों के इंजन भी हजारों करोड़ के होंगे।

40 मिनट भरी उड़ान, कहा- तेजस बेहतरीन फ्लाइंग मशीन

फ्रेंच एयरचीफ आंद्रे लेनाटा ने बुधवार को जोधपुर एयरबेस से तेजस में करीब 40 मिनट तक उड़ान भरी। उड़ान भरने के बाद बेहद खुश नजर आ रहे जनरल आंद्रे ने कहा, कि अभी के दौर में हल्के विमानों की श्रेणी में तेजस बेहतरीन फ्लाइंग मशीन है। आंद्रे अपनी पत्नी क्रिस्टनी के साथ जोधपुर पहुंचे थे। उन्होंने एयर वाइस मार्शल एपी सिंह के साथ को-पायलट के रूप में पश्चिम सीमा पर उड़ान भरी। उन्होंने तेजस की क्षमता व खूबियों को परखा। उन्होंने कहा कि तेजस इंडियन एयरफोर्स के लिए यह एक बेहतरीन फाइटर जेट साबित होगा। इससे पहले उनकी अगवानी वायुसेना स्टेशन कमांडर ग्रुप कैप्टन राजेश जोशी ने की। उन्होंने जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन की विभिन्न ऑपरेशनल यूनिट्स का भी दौरा किया।

X
After US France Airchief flew from Jodhpur to Tejas
Click to listen..