--Advertisement--

फर्जी दस्तावेज से आसाराम की जमानत की कोशिश करने का आरोपी रिमांड पर

सुप्रीम कोर्ट में कूटरचित दस्तावेज पेश करने के संदेह पर रातानाडा थाने में दर्ज था केस

Danik Bhaskar | Jan 03, 2018, 05:03 AM IST

जोधपुर. नाबालिग से ज्यादती के मामले में यहां सेंट्रल जेल में बंद आसाराम की जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट में कूटरचित दस्तावेज पेश करने के मामले में पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार कर पांच दिन के रिमांड पर लिया है।

- रातानाडा पुलिस ने बताया कि गत वर्ष आसाराम की ओर से सुप्रीम कोर्ट में खराब स्वास्थ्य को आधार बनाते हुए जमानत के लिए विशेष याचिका पेश की गई थी। इस याचिका की सुनवाई के दौरान संदेह होने पर सुप्रीम कोर्ट ने जोधपुर पुलिस को इन दस्तावेज की जांच कर संबंधित के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए थे।

- इस पर रातानाडा थानाधिकारी रमेश कुमार की ओर से गत वर्ष 10 फरवरी को आसाराम व उसके अन्य सहयोगियों के खिलाफ धोखाधड़ी व कूटरचित दस्तावेज बनाकर उनके दुरुपयोग की कोशिश का मामला दर्ज किया गया था।

- इस प्रकरण की जांच प्रशिक्षु आईपीएस पूजा यादव ने की और पड़ताल के बाद सोमवार को पुलिस टीम ने नई दिल्ली निवासी रवि रॉय मारवाहा पुत्र नियामत रॉय को गिरफ्तार कर लिया।

- मंगलवार को उसे मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट आशीष दाधीच के समक्ष पेश किया गया। वहां से उसे पांच दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया।

- पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया कि आरोपी रवि राॅय खुद को उच्च पद पर होना बताता है, लेकिन जांच में पता चला कि पेशे से वह एकाउंटेंट है और उसी ने कूटरचित दस्तावेज पेश किए थे।